Posts

Showing posts from March, 2020

देवरिया में लॉकडाउन के चौथे दिन पैदा हुआ बेटा, नाम रख दिया- 'लॉकडाउन'

Image
देवरिया। कोरोना को लेकर देशव्यापी लॉकडाउन के चौथे दिन उत्तर प्रदेश के देवरिया में पैदा हुए एक बच्चे का नाम उसके मां बाप ने 'लॉकडाउन' ही रख दिया। तर्क यह कि कोरोना वायरस के खात्मे के लिए पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने को पूरी तरह समर्पित कर दिया है। इस जंग में सहयोग करने के लिए हमने अपने नवजात बेटे का नाम लॉकडाउन रख दिया है ताकि लोग इससे प्रेरणा लेकर राष्ट्र की सुरक्षा के लिए पीएम नरेंद्र मोदी के अभियान को सफल बनाएं। देवरिया के खुखुंदू गांव निवासी पवन कुमार की पत्नी नीरजा गर्भवती थीं। 28 मार्च को गांव के ही सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर नीरजा ने बच्चे को जन्म दिया। कोरोना वायरस को लेकर देशभर में लॉकडाउन चल रहा है। लोग इस अभियान का पालन भी कर रहे हैं। ऐसे में इस दंपती ने अपने नवजात बेटे का नाम ही लॉकडाउन रख दिया। नवजात लॉकडाउन की मां नीरजा ने बताया, 'पहले तो लोगों ने हमारे इस फैसले का मजाक उड़ाया लेकिन बाद में लोगों ने वाहवाही शुरू कर दी।' लॉकडाउन के पिता पवन कुमार ने कहा कि पीएम मोदी ने इस महामारी से जंग मैं अपने को पूरी तरह समर्पित कर दिया है। ऐसे में यह हमारा बच्चा मोदी अ

गौतम बुद्ध नगर के नए जिलाधिकारी ने संभाला कार्यभार

Image
नोएडा। गौतम बुद्ध नगर के नवनियुक्त जिलाधिकारी सुहास एल वाई ने मंगलवार सुबह 5 बजे लखनऊ से यहां पहुंचकर अपना कार्यभार संभाल लिया। जिला सूचना अधिकारी राकेश चौहान ने बताया कि कार्यभार संभालने के बाद सुबह 8 बजे उन्होंने जिले के सभी प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक की। जिलाधिकारी ने अधिकारियों को चेताया कि कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए उठाए गए कदमों में कोई कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि जिले में कोरोना वायरस से संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है। यहां पर बहुराष्ट्रीय कंपनियां होने की वजह से काफी लोग विदेश से आते हैं। जिलाधिकारी ने अधिकारियों को आदेश दिया कि वे कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए उठाए गए कदमों पर डट कर काम करें। उन्होंने बताया कि मीटिंग के बाद जिलाधिकारी सेक्टर 39 स्थित जिला अस्पताल, ग्रेटर नोएडा स्थित जिम्स अस्पताल सहित उन विभिन्न जगहों पर पहुंचे जहां पर कोरोना से संक्रमित लोगों को भर्ती किया गया है। तथा कोरोना के संदिग्ध मरीजों को रखने के लिए आइसोलेशन वार्ड बनाए गए हैं। इसके बाद जिलाधिकारी नोएडा, ग्रेटर नोएडा, और यमुना प्राधिकरण तथा स्वास्थ्

गाड़ी में शराब की बोतल मिलने पर उद्यान निरीक्षक गिरफ्तार

Image
गाजियाबाद। गांधी नगर मार्केट में किराना स्टोर संचालक के साथ नगर निगम के उद्यान निरीक्षक की मारपीट हो गई। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच की तो उनकी गाड़ी एक शराब की बोतल रखी हुई थी। इसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। उद्यान निरीक्षक का कहना है कि मूल्य से अधिक दाम पर सामान बेचने का विरोध करने पर लोगों ने उनके साथ बदसलूकी व मारपीट की है। अजय कुमार नगर निगम में उद्यान निरीक्षक हैं। रविवार सुबह वह गाड़ी लेकर किराना स्टोर से सामान खरीदने गए थे। उनकी गाड़ी पर नगर निगम का स्टीकर लगा हुआ है। इस दौरान स्टोर संचालक से उनकी मारपीट हो गई। लोगों ने उनकी गाड़ी पर लगे स्टीकर की फोटो खींचकर पुलिस को भेज दी। गाड़ी में शराब की बोतल मिलने पर पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया है। पूछताछ में अजय ने पुलिस को बताया कि स्टोर पर अधिक मूल्य पर खाद्य पदार्थों को बेचा रहा था। उन्होंने इसका विरोध किया तो उल्टे उन्हें फंसा दिया गया है। थाना सिहानीगेट के एसएचओ गजेंद्रपाल सिंह ने बताया कि आरोपित को मुचलके पर छोड़ दिया गया है। आरोपित की गाड़ी में शराब की एक बोतल मिली थी। 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संतोष मेडिकल कॉलेज गाजियाबाद का किया स्थल निरीक्षण

Image
सूर्य प्रकाश,(गाजियाबाद)। उत्तर प्रदेश सरकार के माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा कोविड-19 महामारी को दृष्टिगत रखते हुए आज गाजियाबाद में सुबह 10ः00 बजे पहुंचकर संतोष मेडिकल कॉलेज में बनाए गए क्वॉरेंटाइन एवं आइसोलेशन वार्डो का स्थल निरीक्षण किया गया। जहां पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा जिलाधिकारी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एवं मुख्य चिकित्सा अधिकारी को कोविड-19 महामारी के संबंध में निर्देशित करते हुए कहा कि कोरोनावायरस की दृष्टि से जनपद गाजियाबाद अति संवेदनशील जनपद है। अतः सभी अधिकारियों के द्वारा टीम भावना के साथ कार्य करते हुए इसमें आगे बढ़ना होगा। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस से बचाव एवं इसके नियंत्रण को लेकर सर्विलेंस का कार्य सबसे महत्वपूर्ण है। अतः सभी अधिकारियों के द्वारा संयुक्त कार्रवाई सुनिश्चित करते हुए इस कार्य को प्रमुखता के साथ किया जाए और जहां पर कोरोना वायरस के पॉजिटिव व्यक्ति मिल रहे हैं मानकों के अनुसार सैनिटाइजेशन एवं अन्य कार्रवाई अधिकारियों के द्वारा सुनिश्चित की जाए ताकि कोरोना वायरस से जनसामान्य का बचाव संभव हो सके।   उन्होंने यह भी कहा कि स्वास्थ्य

गरीबों की मदद के लिए महाराष्ट्र के इस किसान ने बाँट दी अपनी सारी गेहूं की फसल

Image
नासिक। संत कबीर के इस दोहे का अर्थ है कि मुझे बस इतना चाहिए जिसमें मेरा और मेरे परिवार का निर्वाह हो जाए। साथ ही, अगर कोई मेरे दर पर आए तो मैं उसे भी खाना खिला सकूँ। नासिक के एक किसान ने भी कुछ ऐसा ही कहा जिससे हमें कबीर का यह दोहा याद आ गया। उन्होंने कहा कि मेरे पास एक रोटी है और मैं किसी ज़रूरतमंद को अगर आधी रोटी दे दूँ तो क्या हर्ज है। थोड़ी ही सही उसकी कुछ मदद तो हो जाएगी। यह किसान है 41 वर्षीय दत्ता राम राव पाटिल, जिन्होंने कुछ दिन पहले अपने गाँव के पास रहने वाली गरीब महिलाओं को अनाज बांटा है। नासिक में निफाड तालुका स्थित सुकेणा कस्बे के निवासी दत्ता राम के परिवार में उनके माता-पिता, पत्नी और दो बच्चे हैं। भाई नासिक में रहकर नौकरी करते हैं। उन्होंने बताया कि उनकी तीन एकड़ ज़मीन है, जिस पर वह खेती करते हैं। दत्ता राम ने बताया कि मैंने ग्रैजुएशन तक पढ़ाई की है। लेकिन मेरे पिताजी की तबीयत ठीक नहीं रहती थी और उनकी बाईपास सर्जरी हुई थी। इसलिए मैंने खेती करना शुरू किया और अपनी इस तीन एकड़ ज़मीन पर मैं अब गेहूं और सोयाबीन जैसी फसलें उगाता हूँ। इस बार भी उन्होंने गेहूं की अच्छी फसल अपने खेतों

अप्रवासी मजदूरों के लिए गाज़ियाबाद नगर निगम ने तैयार किए 13 शेल्टर होम

Image
गाज़ियाबाद ब्यूरो। कोरोना वायरस को लेकर अब सरकार ने मजदूरों के पलायन पर पूरी तरह से रोक लगा दी है। पलायन कर आने वाले मजदूरों को शेल्टर होम में रखा जाएगा। इसके लिए नगर निगम ने 13 और जीडीए ने दो शेल्टर होम बनाने का कार्य किया है। जो भी मजदूर पलायन कर गाजियाबाद में आएंगे उन सभी को शेल्टर होम में रखा जाएगा। अपर नगर आयुक्त प्रमोद कुमार ने बताया कि नगर निगम के अधिकार क्षेत्र में स्थाई तौर पर 13 शेटर होम बने हुए है। इन सब शेल्टर होम को खाली कर सभी की सफाई आदि का कार्य पूरा कर लिया गया है। साथ ही नगर निगम में इनमें लोगों को ठहरने में किसी तरह की समस्या न हो इसके लिए इन सब को सेनिटाइज कराया गया है। नगर निगम प्रशासन का दावा है कि गाजियाबाद में मौजूद सभी शेल्टर होम को सेनिटाइज कराया है। यह सभी शेल्टर होम स्थाई है। अपर नगर आयुक्त ने बताया कि अब गाजियाबाद में जो भी बेघर होगा उन्हें इसमें ही रखा जाएगा। इन शेल्टर होम में गरीब लोगों को खाने के पेकिट, पानी आदि सभी जरूरी सुविधा दी जाएगी। इनमें प्रकाश और पंखे आदि और टीवी की भी सुविधा होगी। साथ ही यहां सुरक्षा के लिए गार्ड भी नगर निगम प्रशासन ने तैनात कर

मकान खाली कराया तो हो सकती है एफ़आईआर : डीएम गाज़ियाबाद

Image
गाज़ियाबाद ब्यूरो। लॉकडाउन की स्थिति में बड़े पैमाने पर कामकाज ठप होने से लोगों को अर्थिक संकट भी खड़ा हो गया है। ऐसे में डीएम ने मकान मालिकों को सख्त हिदायत दी है कि कोई भी किराएदार पर किराया देने के लिए दबाव नहीं बनाएगा। इतना ही नहीं अगर किसी ने किराया न देने के लिए मकान खाली कराया तो उसके खिलाफ प्रशासन एफआईआर दर्ज कराने की कार्रवाई करेगा। डीएम अजय शंकर पाण्डेय ने इसके लिए सभी नगर पालिकाओं, नगर पंचायतों के अधिशासी अभियंताओं को निर्देश दिए हैं कि वह अपने-अपने क्षेत्रों में सुनिश्चित करें कि जिन मकान मलिकों के आवास में कोई व्यक्ति किराए पर रह रहा है वह किराएदार पर किराए के लिए दबाव नहीं बनाएगा। न ही मकान खाली कराने का प्रयास करेगा। मकान मलिक अपने किराए सम्बंधी सूचना अधिशासी अधिकारी को देगा। आपदा अवधि में अगर किसी ने मकान खाली कराया जो उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश डीएम ने जारी किए हैं। जारी आदेश में मकान मालिकों को किसी तरह का दबाव नहीं डालने को कहा गया।

रोहिणी जेल में कैदियों ने की बगावत, विडियो बनाया

Image
नई दिल्ली। लूट, हत्या, डकैती और रेप जैसे मामलों में रोहिणी जेल में बंद कैदियों ने बगावत कर दी है। कैदियों ने जेल में इकट्ठा होकर जेल प्रशासन को भूख हड़ताल की धमकी दी है। मोबाइल फोन पर तीन-चार विडियो भी बनाए हैं। विडियो में साफ देखा जा सकता है कि किस तरह से करीब 100 कैदी एक जगह इकट्ठा होकर जेल प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं। कैदियों की मांग है कि जब सात साल तक के जुर्म वाले कैदियों को रिहा किया जा रहा है तो फिर उन्हें क्यों नहीं? कोरोना से वह भी तो मर सकते हैं। साथ ही कैदियों ने एक और विडियो जेल के अंदर टॉइलट, बाथरूम और दूसरी जगहों का बनाया है। तिहाड़ जेल के डीजी संदीप गोयल से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि विडियो रोहिणी जेल के अंदर की है। कुछ कैदियों ने जेल की छवि बिगाड़ने के लिए ऐसा किया है। उन्होंने बताया कि जेल के अंदर टॉइलट साफ हैं।

बाबरपुर मोहल्ला क्लीनिक का डॉक्टर भी कोरोना पॉजिटिव, मरीजों को सेल्फ क्वारंटीन का नोटिस

Image
दिल्ली के बाबरपुर क्लीनिक में एक डॉक्टर कोरोना वायरस पॉजिटिव पाया गया जिन मरीजों ने 12 से 20 मार्च के बीच उस डॉक्टर से मुलाकात की थी, उन्हें सेल्फ क्वारंटीन के लिए कहा गया है इससे पहले भी एक मोहल्ला क्लीनिक का डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव पाया गया था उससे संपर्क करने वाले करीब 800 लोगों को क्वारंटीन में रखा गया था नई दिल्ली। दिल्ली के बाबरपुर क्लीनिक में एक डॉक्टर कोरोना वायरस पॉजिटिव पाया गया। जिन मरीजों ने 12 से 20 मार्च के बीच उस डॉक्टर से मुलाकात की थी या डॉक्टरी परामर्श लिया था, उनके लिए एक नोटिस जारी किया गया है कि वह अपने आप को अगले 15 दिनों के लिए क्वारंटीन में रखें। बता दें कि इससे पहले भी मोहल्ला क्लीनिक का एक डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव पाया गया था, जिसे सऊदी से लौटी महिला ने संक्रमित किया था, जो दिल्ली का केस नंबर-10 था।  पहले भी एक मोहल्ला क्लीनिक डॉक्टर हो चुका है संक्रमित इस केस के तहत दिल्ली के दिलशाद गार्डन की एक महिला सऊदी अरब से वापस लौटी थी। उसने अपने परिवार को संक्रमित किया और साथ ही मोहल्ला क्लीनिक के एक डॉक्टर को भी संक्रमित कर दिया। डॉक्टर से ये संक्रमण उसके परिवार म

पराज्यपाल अनिल बैजल ने कहा- दिल्ली के करीब 20,000 घर होंगे 'होम क्वारंटीन'

Image
कोरोना पर लगाम के लिए करीब 20,000 घरों को 'होम क्वारंटीन' के तौर पर चिन्हित दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने कोविड-19 से निपटने के उपायों पर की उच्चस्तरीय बैठक अनिल बैजल ने कहा- खाद्य वितरण केंद्रों की संख्या वर्तमान 500 से बढ़ाकर 2500 की जाएगी 20,000 से ज्यादा घरों की पहचान कर उनको क्वारंटीन रखने के लिए चिह्नित किया गया नई दिल्ली। दिल्ली में कोरोना का वायरस संक्रमण थमता नहीं दिख रहा है। इस खतरनाक वायरस के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। दिल्ली सरकार ने कोरोना वायरस पर लगाम के लिए करीब 20,000 घरों को 'होम क्वारंटीन' के तौर पर चिन्हित किया है। उपराज्यपाल अनिल बैजल ने मंगलवार को यह जानकारी दी। अनिल बैजल ने ट्विटर पर कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में सामाजिक दूरी सुनिश्चित करने के लिए खाद्य वितरण केंद्रों की संख्या बढ़ाई जाएगी। दिल्ली एक उपराज्यपाल अनिल बैजल ने कोविड-19 से निपटने के उपायों पर चर्चा के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, मुख्य सचिव विजय कुमार देव और पुलिस आयुक्त के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए बैठक की। उपराज्यपाल ने ट्वीट में बताया, 'यह तय किया गया है क

कोरोना से जंग में पीएम नरेंद्र मोदी को अनोखा आशीर्वाद,मां हीराबेन ने भी दान किए 25 हजार रुपये

Image
पीेएम नरेंद्र मोदी की मां ने पीएम केयर्स फंड में दान किए 25 हजार रुपये कोरोना से लड़ने के लिए बने फंड में बेटे की अपील के बाद दान की राशि जमापूंजी से 25 हजार रुपये की राशि को पीएम केयर्स फंड में भेजा, सोशल मीडिया पर लोगों ने सराहा पीएम की अपील के बाद दुनिया भर से लोगों ने भेजी मदद, उद्योगपति और फिल्मी हस्तियां भी साथ अहमदाबाद। कोरोना के खिलाफ जारी जंग में पीएम नरेंद्र मोदी की मुहिम पीएम केयर्स को उनकी मां हीराबेन का भी साथ मिला है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पीएम केयर्स फंड में उनकी मां हीराबेन ने 25 हजार रुपये दान किए हैं। हीराबेन ने ये राशि अपनी सेविंग्स से निकालकर पीएम केयर फंड में दी है। हीराबेन फिलहाल गुजरात में परिवार के साथ रहती हैं और वह लगातार टीवी पर बेटे नरेंद्र मोदी के प्रयासों को देखकर इसका समर्थन करते दिखाई देती हैं। पीएम नरेंद्र मोदी की मां हीराबेन ने सोमवार को यह राशि पीएम केयर्स फंड में दान की है। इस फंड को पीएम नरेंद्र मोदी ने कोरोना पीड़ितों की सहायता के उद्देश्य से बनाया है, जिसमें दुनिया भर से लोगों ने अपनी मदद भेजी है। तमाम उद्योगपतियों और विशिष्टजनों के

खतरे की घंटी: एक ही राज्य से 1000 लोग आए थे मरकज में

Image
दिल्ली में तबलीगी जमात के निजामुद्दीन मरकज से लौटे 8 लोगों की कोरोना वायरस से मौत के बाद हड़कंप राज्यों ने अपने-अपने यहां से मार्च में निजामुद्दीन मरकज का दौरा करने वाले लोगों की पहचान का काम तेज किया केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कहां कि देशभर में अभी तक ऐसे 2137 लोगों की पहचान की गई, उनकी जांच की जा रही है मंत्रालय के मुताबिक 21 नवंबर तक मरकज में कुल 1746 लोग थे जिनमें 216 विदेशी भी शामिल हैं नई दिल्ली। निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के मरकज में हिस्सा लेने वाले 8 लोगों की कोरोना वायरस से मौत के बाद से ही देश के उन तमाम राज्यों में हड़कंप मचा हुआ है, जहां से लोग जमात के लिए मध्य मार्च में दिल्ली पहुंचे थे। अब तक 2100 से ज्यादा ऐसे लोगों की पहचान की जा चुकी है, जो मरकज में आए थे। तेलंगाना सरकार का अनुमान है कि सूबे से करीब 1000 लोगों ने निजामुद्दीन में जमात में हिस्सा लिया था। इसी तरह हिमाचल प्रदेश सरकार ने ऐसे 17 लोगों को चिह्नित किया है। यूपी में भी कम से कम 19 जिलों से लोग जमात में हिस्सा लेने आए थे। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने मंगलवार को बताया कि 21 मार्च तक निजामुद्दीन मरकज में कुल

भारत में कोरोना: तबलीग-ए-जमात पहला केस नहीं, पटना में भी जुटे थे 10 विदेशी धार्मिक उपदेशक

Image
देश में कोरोना वायरस के अब तक 1,251 मरीजों की पुष्टि इस जानलेवा वायरस के कारण अब तक 32 लोगों की हुई है मौत दिल्ली में तबलीगी जमात के एक कार्यक्रम में शामिल 10 लोगों की कोरोना से मौत एक सप्ताह पहले पटना में भी एक ऐसे ही कार्यक्रम ने हड़कंप मचा दिया था नई दिल्ली। दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में तबलीगी जामत के एक धार्मिक कार्यक्रम में शामिल लोगों की कोरोना से मौत के बाद अब बिहार में भी एक ऐसे ही कार्यक्रम ने कोहराम मचा दिया है। करीब एक सप्ताह पहले पटना के कुर्जी इलाके में धार्मिक उपदेश देने पहुंचे 10 विदेशी उपदेशकों को पुलिस ने हिरासत में लिया था और उनकी जांच कराई थी। पटना के दीघा थाना क्षेत्र में कुर्जी मोहल्ला स्थित एक मस्जिद से पुलिस ने पिछले हफ्ते सोमवार को 10 विदेशी धार्मिक उपदेशकों को हिरासत में लिया था। इसके अलावा अन्य दो भारतीयों को भी हिरासत में लेकर कोरोना जांच के लिए पटना के एम्स ले गई थी। हालांकि रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद उन्हें छोड़ दिया गया था। इनमें किर्गिस्तान से आए 10 धार्मिक उपदेशक और उत्तर प्रदेश निवासी दो लोग शामिल थे। ये सभी पटना के दीघा थाना क्षेत्र के कुर्जी

मस्जिदों के बाहर लगाए गए नोटिस, घर पर ही अदा करें नमाज

Image
प्रयागराज। कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए प्रयागराज में मुस्लिम समाज से घर में ही नमाज अदा करने की अपील की जा रही है। कई मस्जिदों के बाहर नोटिस भी लगाई गई है जिसमें कहा गया है कि लोग मस्जिद न आएं और घर में रहकर ही दुआ करें। इसी तरह सोशल मीडिया व अन्य माध्यमों से भी लोगों को संदेश भेजे जा रहे हैं। जिसमें कोरोना महामारी का जिक्र करते हुए लोगों से अपील की जा रही है कि वह घर में रहकर ही दुआ करें, जब तक कि देश इस महामारी के खतरे से बाहर ना आ जाए। गौरतलब है कि शहर की शिया मस्जिद के पेश इमाम ने पिछले जुमे को ही मस्जिद में सामूहिक नमाज न अदा करने का संदेश भिजवा दिया था। लेकिन दूसरी मस्जिदों में जुमे की नमाज अदा की गई थी। जिसे देखते हुए अब पुलिस ने भी लोगों को समझाने के साथ ही सख्ती शुरू कर दी है। कई जिलों में मस्जिदों में सामूहिक नमाज अदा करने पर मुकदमें भी दर्ज हुए हैं। जिसे ध्यान में रखते हुए इस तरह की पहल की गई है। शहर के काजी मुफ्ती सफीक अहमद ने भी इसे लेकर एक ऑडियो संदेश लोगों को भेजा है। जिसमें मस्जिदों में सिर्फ चार या पांच लोगों की मौजूदगी में जुमे की नमाज अदा करने की अपील की गई ह

नोएडा में कोरोना वायरस: मकान मालिक ने दिखाया बड़ा दिल, 50 किरायेदारों का 1.50 लाख रुपये माफ किया

Image
कोरोना वायरस लॉकडाउन की वजह से किरायेदारों को पैसों की दिक्कत नोएडा में मालिकों को सख्त निर्देश, किराए के लिए प्रेशर बनाया तो जेल भी संभव नोएडा के बरौला गांव के मकान मालिक ने 50 किरायेदारों का 1.50 लाख किराया माफ किया नोएडा। कोरोना वायरस लॉकडाउन के बीच जहां कुछ मकान मालिकों की वजह से प्रशासन को सख्त होना पड़ा, वहीं कुछ ऐसे भी हैं जिन्होंने अपनी मर्जी से किराया छोड़ दिया है। वह भी 10-20 हजार नहीं पूरे 1.50 लाख रुपये। ऐसा नोएडा के बरौला गांव में हुआ है। वहां रहनेवाले कुशल पाल ने अपने 50 किरायेदारों का किराया माफ कर दिया, जिन्हें कोरोना वायरस लॉकडाउन की वजह से पैसों की तंगी है। इतना ही नहीं वे उन लोगों से अपील भी कर रहे हैं कि फिलहाल अपने घर न जाकर यहीं रहें। वह उनकी खाने-पीने की चीजों से भी मदद कर रहे हैं। कुशल पाल बताते हैं कि उनके यहां करीब 50 किराएदार हैं। सबसे करीब 1.50 लाख का किराया आ जाता है, लेकिन उन्होंने इस महीने के लिए किराया माफ कर दिया। इतना ही नहीं उन्होंने सबको 5-5 किलो आटा भी दिया। उन्होंने किरायेदारों से कहा है कि फिलहाल घर छोड़कर न जाएं। पाल अपने सिक्यॉरिटी गार्ड,

रात में खुद कार चला अस्पताल शिफ्ट होना पड़ा कोरोना पीड़ित दंपती को

Image
डॉक्टरों को पता चला कि दोनों मरीज गाजियाबाद के हैं, तो अस्पताल ने उन्हें भगा दिया दंपती के पास हॉस्पिटल से रेफर होने की न पर्ची थी, न उन्हें एम्बुलेंस से शिफ्ट किया गया पति-पत्नी कार चलाकर खुद दूसरे हॉस्पिटल में भर्ती होने गए, जिला हॉस्पिटल में है अब एडमिट दोनों के संपर्क में उनकी सोसाइटी के 90 लोग आए थे, जिनमें से 21 में दिखे कोरोना के लक्षण गाजियाबाद। ग्रेटर नोएडा के सरकारी अस्पताल पर आरोप है कि उसने कोरोना पीड़ित दंपती को शनिवार रात अपने यहां से भगा दिया। इस दंपती का इलाज अब गाजियाबाद के जिला अस्पताल में चल रहा है। मामला नोएडा की एक कंपनी में एचआर मैनेजर महिला और सरकारी बीमा कंपनी में कार्यरत उनके पति का है। दोनों गाजियाबाद स्थित मोहननगर की एक सोसायटी में रहते हैं। प्राइवेट लैब से जांच में इन दोनों में कोरोना की पुष्टि हुई। पति-पत्नी ग्रेटर नोएडा के जिम्स सरकारी अस्पताल में इलाज कराने गए। वहां उन्हें भर्ती कर लिया गया। आरोप है कि शनिवार देर रात जब डॉक्टरों को पता चला कि दोनों मरीज गाजियाबाद के हैं, तो अस्पताल प्रबंधन ने उन्हें भगाना शुरू किया। एंबुलेंस नहीं मिली तो पति-पत्नी

गाजियाबाद में डासना जेल ने कैदियों को छोड़ा, 89 निकाले

Image
गाजियाबाद। कोरोना वायरस के खौफ के चलते अब गाजियाबाद की जेल से कैदियों को छोड़ा गया है। डासना जेल से 89 कैदियों को छोड़ा गया है। इससे पहले सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद दिल्ली स्थित तिहाड़ जेल ने भी करीब 400 कैदियों को छोड़ा था। गाजियाबाद की डासना जेल से 89 कैदी छोड़े गए हैं। इसमें 88 पुरुष और एक महिला कैदी शामिल है। जानकारी के मुताबिक, सभी कैदियों को 56 दिन के परोल पर छोड़ा गया है।  दिल्ली ने छोड़े 400 कैदी तिहाड़ जेल प्रशासन ने भीड़भाड़ को कम करने के लिए 400 से अधिक विचाराधीन कैदियों को पिछले हफ्ते छोड़ दिया था। अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी थी। जेल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया था कि 356 कैदियों को जमानत पर रिहा किया गया, जबकि 63 कैदियों को आपातकालीन परोल पर रिहा किया गया। अधिकारी ने कहा कि अंतरिम जमानत 45 दिनों के लिए है और आपातकालीन परोल आठ सप्ताह के लिए है। इससे पहले सोमवार को जेल अधिकारियों ने कहा था कि वे कोविड-19 खतरे को देखते हुए जेलों में भीड़ को कम करने के लिए लगभग 3,000 कैदियों को रिहा करने की योजना बना रहे थे। खतरनाक अपराधियों को रिहा नहीं किया जाएगा। सुप्रीम कोर्

कोरोना कंट्रोल रूम में पत्नियां कर रहीं पति की ‘चुगली’

Image
गाजियाबाद। लॉकडाउन की घोषणा के बाद भी लोगों का मन घर में नहीं लग रहा है। टीवी और मोबाइल से ऊबकर लोग मौका पाते ही बाहर घूमने निकल जा रहे हैं। उनकी इस आदत से परेशान पत्नियां ने मेरठ रोड पर बने कोरोना कंट्रोल रूम में फोन करके शिकायत कर रही हैं। उनका तर्क है कि पति बाहर जाते हैं और इससे किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आ जाते हैं तो वे और उनके बच्चे भी वायरस के चपेट में आ जाएंगे। इसलिए इनको घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए। महिलाओं का कहना है कि बार-बार मना करने के बाद कभी सिगरेट पीने के बहाने तो कभी कोई सामान खरदने के बहाने पुरुष घंटों गायब रहते हैं। किससे मिल रहे हैं, कहां बैठ रहे हैं, कुछ भी पता नहीं होता है। जब पीएम ने सभी को घर में बैठने की सलाह दी है तो बाहर निकलने की क्या जरूरत है। कोरोना कंट्रोल रूम में तैनात एक अधिकारी ने बताया कि महिलाओं की तरफ से आने वाली इन शिकायतों से गंभीरता से लेकर उनके पतियों को फोन करके अलर्ट किया जा रहा है, ताकि लॉकडाउन को पूरी तरह से सफल बनाया जा सके। महेंद्रा एन्क्लेव में रहने वाली एक महिला ने कंट्रोल रूम में फोन करके शिकायत की कि उनके पति सुबह, दोपहर

सीएम योगी ने लगाई फटकार तो नोएडा के डीएम बोले- मुझे छुट्टी दे दीजिए

Image
नोएडा। कोरोना वायरस का कहर पूरे देश में देखने मिल रहा है। उत्तर प्रदेश में भी इस खतरनाक वायरस का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। दिल्ली से सटे गौतमबुद्ध नगर जिले में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या सबसे ज्यादा है। इस बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गौतमबुद्ध नगर पहुंचे, जहां उन्होंने अधिकारियों के साथ बैठक की। इस दौरान कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए मुख्यमंत्री ने जिले के आला अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि आप काम कम करते हैं और शोर ज्यादा करते हैं। दूसरी ओर नोएडा के जिलाधिकारी बीएन सिंह ने कहा है कि मैं गौतमबुद्ध नगर का जिलाधिकारी नहीं रहना चाहता हूं, मुझे छुट्टी दे दीजिए। गौतमबुद्ध नगर जिले में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या में तेजी से हो रही वृद्धि को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग और पुलिस विभाग के आला अधिकारी मौजूद थे। मुख्यमंत्री करीब 2 बजे हेलीकॉप्टर से गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय पहुंचे। उन्होंने गौतमबुद्ध विश्वविद्यालय में ही अधिकारियों

450 किमी. पैदल चल ड्यूटी पर पहुंचा पुलिस का ये जवान

Image
राजगढ़। ड्यूटी कैसे निभाई जाती है आज एक पुलिस जवान के जज्बे ये बता दिया। इस पुलिसकर्मी की ड्यूटी के आगे 450 किलोमीटर का लंबा सफर भी छोटा पड़ गया। आज पूरा देश कोरोना संक्रमण से जूझ रहा है। इसकी भयावहता के चलते देश की सरकार ने सारे राज्यों में लॉक डाउन के आदेश दिए गए हैं, ताकि संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। राज्यों का पुलिस बल लगातार 24 घंटे जनता को इस हेतु आगाह कर रहा है और अपनी ड्यूटियों में संलग्न है। वहीं राजगढ़ जिले में पदस्थ एक पुलिसकर्मी ने अपनी ड्यूटी ज्वाइन करने के लिए जो साहस का कार्य किया है वह निश्चित रूप से एक मिसाल है। थाना पचोर में पोस्टेड आरक्षक दिग्विजय शर्मा 16 मार्च को अपनी स्नातक परीक्षा देने के लिए अपने घर इटावा गए थे। छुट्टी के दौरान लॉक डाउन होने से परीक्षायें स्थगित होने के कारण उन्हें ड्यूटी पर लौटना था। लेकिन लॉक डाउन उनके सामने एक बड़ी समस्या थी। आरक्षक दिग्विजय शर्मा ने बिना कुछ सोचे इटावा (उत्तर प्रदेश) से थाना पचोर के लिए निकल पड़े। लॉक डाउन के कारण नहीं मिला कोई साधन जहां लॉक डाउन होने से उन्हें कई किलोमीटर तक पैदल चलना पड़ा तो कई बार लिफ़्ट भी मिली। लॉक डा

आगरा में जरूरतमंदों को राशन बांट रही खुद मांगकर खाने वाली राजकुमारी

Image
आगरा। कोरोना वायरस के संकट से जूझ रहे देश में इस वक्त असहाय और जरूरतमंदों की मदद जरूरी है। ऐसी ही मिसाल पेश कर रही हैं आगरा की मंगलामुखी राजकुमारी। खुद मांग कर खाने वाली राजकुमारी आज गरीबों को मुफ्त में राशन और जरूरी सामान मुहैया करा रही हैं। वह साथ ही लोगों को लॉकडाउन में घर से बाहर न निकलने की अपील भी कर रही हैं। राजकुमारी की इस मानवीय पहल की हर तरफ तारीफ हो रही है। चंबल के बीहड़ों के बीच बसे आगरा के पिनाहट कस्बे के हिजरियन मोहल्ला की निवासी राजकुमारी यूं तो आम दिनों में खुद मांगकर खाती हैं। लेकिन सोमवार सुबह वह अपने घर के सामने आटा और तेल के पैकेट लेकर बैठ गई और दरवाजे पर आने वाले हर जरूरतमंद को उन्होंने राशन का सारा सामान बांट दिया। जरूरतमंदों की मदद के दौरान वह अपने अंदाज में कोरोना वायरस से बचने के लिए लोगों को जागरूक करना नहीं भूलीं। उन्होंने लोगों से सोशल डिस्टेंस बनाए रखने और हर घंटे पर साबुन से हाथ धोने और मास्क पहनने की अपील की। राजकुमारी ने कहा, 'पूरा देश कोरोना महामारी से लड़ रहा है। हम सब मिलकर ही कोरोना वायरस को हरा सकते हैं। इसके लिए हमें लॉकडाउन का गंभीरता से पाल

मिसाल: बीएचयू ने इजाद की एक घंटे में कोरोना जांच की तकनीक

Image
वाराणसी। भारत में घातक कोरोना वायरस (कोविड-19) के मरीजों की बढ़ती तादात और जांच में तेजी लाने के दबाव के बीच काशी हिन्‍दू विश्‍वविद्यालय (बीएचयू) की महिला विज्ञानियों ने जांच की ऐसी नई तकनीक खोजी है, जो महज घंटे भर में सटीक नतीजे देगी। इस तकनीक से जांच का खर्च भी घटकर आधा हो जाएगा। सामान्‍यतया विदेशी किट से जांच में 9 से 10 घंटे का समय लगता है। भारतीय पेटेंट कार्यालय ने अप्‍लाई करने के महज 24 घंटे के अंदर ही बीएचयू की इस तकनीक का पेटेंट करने करने की मंजूरी दे दी है। बीएचयू के चिकित्‍सा विज्ञान संस्‍थान (आईएमएस) के डिपार्टमेंट ऑफ मॉलिक्युलर एंड ह्यूमन जेनेटिक्‍स की प्रफेसर गीता राय ने कोविड-19 की सौ फीसदी सटीक जांच वाली तकनीक अपनी लैब में शोध छात्राओं की मदद से खोजी है। एक पखवारे तक लगातार दिन-रात प्रयास के बाद खोजी गई तकनीक कोरोना वायरस की प्रोटीन की परख पर आधारित है। यइ देश में पहली बार ईजाद की गई किट है। इस तकनीक से छोटी पीसीआर मशीन से भी जांच होने पर गलत रिपोर्ट आने की संभावना बिलकुल नहीं है। प्रफेसर गीता राय ने बताया कि नई तकनीक को रिवर्स ट्रांस्‍क्रीप्‍टेज पॉलीमर चेन रिएक्‍शन (आ

भारत में कोरोना संक्रमण का लोकल ट्रांसमिशन स्टेज है ना कि कम्यूनिटी स्टेज : स्वास्थ्य मंत्रालय

Image
स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने स्पष्ट किया इस वक्त भारत कोरोना संक्रमण के लोकल ट्रांसमिशन दौर में है इस वक्त आलम यह है कि हम अगर किसी भी सरकारी डॉक्यूमेंट में कम्यूनिटी शब्द लिखते हैं तो लोग उसका दूसरा अर्थ निकाल ले रहे हैं हमने लिमिटेड कॉन्टेस्ट में एक जगह कम्यूनिटी शब्द का प्रयोग किया है। मैं स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि भारत अभी भी लिमिटेड ट्रांसमिशन के स्टेज में है नई दिल्ली। भारत में कोरोना संक्रमण का कम्यूनिटी ट्रांसमिशन दौर शुरू की बात का स्वास्थ्य मंत्रालय ने खंडन किया है। स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने सोमवार को स्पष्ट किया इस वक्त भारत कोरोना संक्रमण के लोकल ट्रांसमिशन दौर में है। उन्होंने कहा कि इस वक्त आलम यह है कि हम अगर किसी भी सरकारी डॉक्यूमेंट में कम्यूनिटी शब्द लिखते हैं तो लोग उसका दूसरा अर्थ निकाल ले रहे हैं। हमने लिमिटेड कॉन्टेस्ट में एक जगह कम्यूनिटी शब्द का प्रयोग किया है। मैं स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि भारत अभी भी लिमिटेड ट्रांसमिशन के स्टेज में है। अगर हमें लगता है कि हम कम्यूनिटी ट्रांसमिशन के दौर में जा रहे हैं तो हम

दवाई लेने जा रहे युवक से झपटकर ले गए फोन

Image
नई दिल्ली। रात को घर से दवाई लेने के लिए निकले युवक से स्कूटर सवार तीन बदमाशों ने मोबाइल झपट लिया। मास्क पहने तीनों बदमाश वारदात को अंजाम देने के बाद फरार हो गए। गीता कॉलोनी पुलिस ने झपटमारी की धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज कर ली। पुलिस के मुताबिक, मोहम्मद उवेज (18) गीता कॉलोनी के आराम पार्क में परिवार समेत रहते हैं। वह शनिवार रात करीब 9:30 बजे घर से दवाई लेने के लिए परवाना रोड की तरफ चले। वह जब पार्क के पंचायती धर्मशाला के करीब पहुंचे तो किसी का कॉल आ गया। उवेज अपने मोबाइल पर कॉल सुन रहे थे तो इस दौरान एक स्कूटर पर तीन युवक सवार होकर आए। तीनों ने मास्क लगा रखा था। इनमें से एक युवक ने उनके हाथ से मोबाइल झपट लिया और फरार हो गए।

आनंद विहार-कौशांबी खाली, वापस भेजने पर फूट-फूट कर रोने लगे लोग

Image
पुलिस ने खाली कराया आनंद विहार-कौशांबी का इलाका जहां से आए थे वहीं भेजा...फूट-फूट कर रोने लगे लोग पुलिस ने बसों में बैठाया, यह नहीं बताया कि बस वापस लेकर जाएगी पुलिस ने 800 बसें लगाकर उस भीड़ को वहां से हटाकर दिल्ली में ही छोड़ा नई दिल्ली। आनंद विहार बस अड्डे के आसपास रविवार को हालात शनिवार की तरह नहीं थे। बावजूद इसके सैकड़ों लोग सुबह से बसों का इंतजार करते नजर आए। पुलिस ने पहले उन्हें गाजीपुर गांव की तरफ रोक कर रखा था। बाद में जब आनंद विहार बस अड्डे की तरफ हालात थोड़े ठीक हुए, तो उन लोगों को उस तरफ भेजा गया। रविवार सुबह से दोपहर दो बजे तक बस अड्डे के गेट पर खड़े होकर लोग बसों का इंतजार करते रहे।  फूट-फूटकर रोने लगे लोग दोपहर तक अधिकारी इस बात को लेकर मंथन करते रहे कि इन लोगों को कैसे और कहां पहुंचाना है। अखिरकार तय हुआ यह कि इन लोगों को बस अड्डे के भीतर पहले से यह बताए बगैर एंट्री दी जाए कि आगे उन्हें कहां भेजा जाएगा और बाद में उन्हें बसों में बैठाकर दिल्ली-एनसीआर के ही अलग-अलग इलाकों में ले जाकर छोड़ दिया जाए। कई लोग दिल्ली के दूरदराज के इलाकों से पैदल पहुंचे थे। सैकड़ों लोग फ

निजी होटल में रहेंगे कोरोना वायरस के मरीजों का इलाज कर रहे डॉक्टर, दिल्ली सरकार ने लिया फैसला

Image
एलएनजेपी और जीबी पंत अस्पताल में ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर निजी होटल में रहेंगे डॉक्टर के होटल में रहने का पूरा खर्च दिल्ली सरकार की ओर से उठाया जाएगा ये डॉक्टर मध्य दिल्ली में स्थित ललित होटल में रहेंगे: दिल्ली स्वास्थ्य विभाग मुख्यमंत्री कार्यालय का ट्वीट- डॉक्टर कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में सबसे आगे खड़े हैं नई दिल्ली। देशभर में कोरोना वायरस का संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है। इस बीच डॉक्टर और नर्स लगातार कोविड-19 मरीजों की सेवा में लगे हुए हैं। दिल्ली के लोकनायक जयप्रकाश अस्पताल (एलएनजेपी) और जीबी पंत अस्पताल में भी डॉक्टर कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज करने जुटे हुए हैं। दिल्ली सरकार ने इन अस्पतालों में काम कर रहे डॉक्टरों को लेकर अहम फैसला लिया है। दिल्ली स्वास्थ्य विभाग की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक, एलएनजेपी अस्पताल और जीबी पंत अस्पताल में कोविड-19 मरीजों का इलाज कर रहे डॉक्टर सरकार के खर्च पर यहां एक निजी होटल में रहेंगे। दिल्ली स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, 29 मार्च को जारी किए गए आदेश में कहा गया है कि ये डॉक्टर मध्य दिल्ली में स्थित ललित होटल में रहेंगे। आदेश में क

चीन में मना कोरोना वायरस पर 'जीत' का जश्‍न, खरगोश के खून से सनी छतें, बिकने लगे चमगादड़

Image
कोरोना वायरस के कहर से दुनिया जूझ रही है लेकिन चीन में इस पर जीत का जश्‍न मनाया गया चीन के लोगों ने मारे खुशी के इतने खरगोश और बत्‍तख काट डाले की घरों की छतें लाल हो गई यही नहीं एक बार फिर से चीन के बाजारों में चमगादड़ों की बिक्री धड़ल्‍ले से शुरू हो गई है पेइचिंग। कोरोना वायरस के कहर से दुनिया जूझ रही है लेकिन चीन में इस महामारी पर जीत का जश्‍न खरगोश और बत्‍तख का मांस खाकर मनाया गया। यही नहीं एक बार फिर से चीन में चमगादड़ों की बिक्री धड़ल्‍ले से शुरू हो गई है। यह वही चीन है जिसके वुहान शहर से कोरोना वायरस दुनियाभर में फैल गया। माना जाता है कि पैंगोलिन से चमगादड़ के रास्‍ते कोरोना वायरस इंसान के शरीर में प्रवेश कर गया। डेली मेल के मुताबिक शनिवार को चीन में कोरोना वायरस पर 'जीत' का जश्‍न मनाया गया। इस दौरान कुत्‍ते, बिल्‍ली, खरगोश और बत्‍तख के खून से घरों की छतें लाल हो गईं। हर तरफ मरे हुए जानवरों के अवशेष नजर आए। इस जश्‍न के लिए चीन में बेहद गंदे मीट मार्केट को फिर से खोल दिया गया। तीन महीने पहले वुहान में इसी तरह की एक मीट मार्केट से कोरोना वायरस इंसानों में फैल गया। ची

अमानवीयता: घर लौट रहे मजदूरों को सड़क पर बैठाया, फिर केमिकल से नहलाकर किया सैनिटाइज!

Image
बरेली में दूसरे जिलों से आए मजदूरों के साथ अमानवीय व्यवहार का विडियो वायरल मजदूरों को जिले में प्रवेश से पहले प्रशासनिक अफसरों ने केमिकल से नहलाया परिवार के साथ सड़क पर बैठाकर केमिकल से नहलाने का आरोप, प्रशासन फिलहाल चुप बरेली। यूपी के बरेली जिले में प्रशासनिक अफसरों के एक अमानवीय रवैये का वीडियो सामने आया है। बरेली में दूसरे जिलों से आए कुछ वर्कर्स पर ऐंटी लार्वा केमिकल छिड़कने की बात सामने आई है। बताया जा रहा है कि इन लोगों में वह मजदूर भी शामिल हैं जो कि नोएडा से चलकर अपने घरों को जा रहे थे। इन मजदूरों में कई ऐसे लोग भी थे, जो कि परिवार के साथ घरों को लौट रहे थे और सभी को प्रशासन के इस व्यवहार का सामना करना पड़ा। हालांकि प्रशासन और बरेली पुलिस की तरफ से इसपर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई है। नोएडा में कोरोना का पॉजिटिव केस मिलने के बाद स्थानीय प्रशासन को इस बात का शक था कि यह मजदूर भी कोरोना के वायरस से संक्रमित हो सकते हैं। ऐसे में शहर की सीमा पर ही सभी को सड़क पर बैठाकर इनपर केमिकल छिड़ककर इन्हें कथित रूप से सैनिटाइज किया गया। लॉकडाउन की स्थितियों के बीच ही इस पूरी प्रक्रिया क

कोरोना से पीड़ित डॉक्टर की पूरी कॉलोनी हुई सील

Image
प्रशासन ने 24 घंटे गेट पर तैनात किए चार सिविल डिफेंस के वॉलंटियर्स कोरोना से पीड़ित डॉक्टर नई दिल्ली। करीब एक किलोमीटर के रेडियस में फैली डीडीए फ्लैट्स की कॉलोनी दिलशाद गार्डन में कोरोना को लेकर सबसे ज्यादा कोहराम मचा हैराजधानी में एक साथ सबसे ज्यादा कोरोना वायरस के पीड़ित इसी कॉलोनी में सामने आए हैं। दिल्ली की पेशंट नंबर 10 एक महिला है, जो दिलशाद गार्डन 'एल' पॉकेट में परिवार समेत रहती हैं। वह 10 मार्च को सऊदी अरब से लौटीं तो कोराना की ऐसी चेन बनने लगी। आठ मरीज पॉजिटिव पाए गए। ऐसे में कम्युनिटी स्प्रेड होने से रोकने के लिए प्रशासन ने ऐहतियात के तौर करीब दस हजार लोगों को होम क्वॉरंटीन होने का फरमान जारी कर दिया। प्रशासन की तरफ से महिला के घर के आसपास और उनके परिजनों के संपर्क में आए 'एल' पॉकेट में रहने वाले, महिला का पहली बार इलाज करने वाले दिलशाद गार्डन में रहने वाले डॉक्टर का जे एंड के पॉकेट और मौजपुर के मोहनपुरी स्थित मोहल्ला क्लिनिक में इलाज कराने वाले करीब 800 लोगों को परिवार समेत होम क्वॉरंटीन रहने को कहा गया है। महिला की मां, भाई और महिला की दो बेटियां कोरोना

कोरोना वारीयर्स को सलाम, जरूरत के समय बच्चे को गोद में लिए ड्यूटी कर रहीं हैं महिला पुलिसकर्मी

Image
लखनऊ। कोरोना को हराने में हर कोई लगा है। लॉकडाउन के बीच डाक्टर से लेकर पुलिस तक अपने-अपने स्तर पर लोगों की सहायता करने में लगे हैं। इस बीमारी में पुलिस का एक अलग ही चेहरा देखने को मिल रहा है। कोई पुलिसकर्मी लॉकडाउन में भीड़ को नियंत्रित करने में लगा है तो कोई भूखे प्यासे लोगों को खाने खिलाने में जुटा है। यही नहीं लोग पुलिस को फोन करके घर के सामान आदि भी मंगा रहे हैं। इसी बीच लखनऊ के हजरतगंज में तैनात सिपाही सीमा का एक फोटो वायरल हो रहा है। इस फोटो में सीमा अपने बच्चे को गोद में लिए ड्यूटी कर रहीं हैं। सीमा ठाकुरगंज में रहती हैं और हजरतगंज में तैनात हैं। सीमा बताती हैं घर में कोई नहीं है। लॉकडाउन के कारण परिवार वाले उनके पास नहीं आ पा रहे हैं। वह यहां अकेल हैं। ऐसे में बच्चे को साथ रखना मजबूरी है, किसी के भरोसे नहीं छोड़ सकती। सीमा कहती हैं कोरोना वायरस को हराने के लिए हम सब लगे हैं। इसलिए लॉकडाउन में ड्यूटी करना हमारी प्राथमिकता है। हम किसी को ऐसे ही नहीं छोड़ सकते हैं। सीमा बताती हैं कि वह साढ़े सात किलोमीटर पैदल आती है। बच्चे को संभालने के लिए महिला कांस्टेबिल की भी मदद ले रही हैं।

गाजियाबाद में लागू धारा 144 सी आर पी सी का उल्घंन कर बलवा करने वाले 05 अभियुक्त गिरफ्तार

Image
गाजियाबाद। कोरोना वायरस के सक्रांमण दृष्टिगत घोषित एविडेमिक डिजीज  एक्ट 1997 की धारा (2) (3) (4) एंव उत्तर प्रदेश महामारी कोविड 19 विनियमावली  2020 मे के दृष्टिगतकोरोना वायरस के सक्रामण को फैलने  से रोकने के लिए उत्तर प्रदेश मे लाँकडाउन घोषित किया गया है तथा श्रीमान जिलाधिकारी गाजियाबाद महोदय के द्वारा धारा 144 सी आर पी सी लागू की गई है । दौरान  क्षेत्र भ्रमण देखा कि कमेला वाली गली रावली रोड पर काफी भीड इकठठा थी जो आपस में लाठी डंडों,पत्थरवाजी कर रहे थे तथा आपस में भगदड मच रही थी अफरा तफरी का माहौल था धारा 144 का उलंघन्न कर बलवा कर रहे , पार्टी-I 1- वल्लू पुत्र नियाजू,2- ओरंगजेव,3- भूरा,4- आसिफ,5- गुलजार पुत्र गण वल्लू 6- वक्से पत्नी वल्लू,7- नगीना पुत्री वल्लू समस्त नि0गण कमेला वाली गली कस्वा व थाना मुरादनगर गा0बाद, पार्टी-II 1- शब्बीर पुत्र लतीफ,2- वकील पुत्र लतीफ 3- वकीला पत्नी वकील 4- रिहान पुत्र वकील 5- नन्हू पुत्र शब्बीर 6- जुवेर पुत्र अलीम, 7- आसिफ पुत्र असलम 8- कलुआ पुत्र उदरीश नि0गण कमेला वाली गली कस्बा व थाना मुरादनगर गा0 बाद अभियुक्तगणों के विरुद्ध थाना मुरादनगर पर उ0 नि0

यूपी का गांव 'कोरोना' कर रहा भेदभाव का सामना, ग्रामीणों से दूर भाग रहे लोग

Image
यूपी के सीतापुर में एक गांव है कोरोना, यहां के लोगों के लिए यह समय बहुत परेशानी में बीत रहा जब से कोरोना वायरस फैला है, बाहरी लोग इस गांव के लोगों को खुद से दूर रहने के लिए कह रहे गांव वालों का कहना है कि लोग यह नहीं समझते कि कोरोना एक गांव है न कि संक्रमित व्‍यक्ति उत्‍तर प्रदेश में कोरोना वायरस के अबतक 69 मामले सामने आ चुके हैं, अब तक एक भी मौत नहीं सीतापुर। जानलेवा कोरोना वायरस के चलते पूरे देश में दहशत का माहौल है। राज्‍यों में 14 अप्रैल तक लॉकडाउन कर दिया गया है। हर तरफ बंदी होने से जनता को कई मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। इन सबके बीच, उत्‍तर प्रदेश के सीतापुर में एक गांव अनोखी समस्‍या से परेशान है।दरअसल इस गांव का नाम है कोरोना। गांव वालों का कहना है कि जब से कोरोना वायरस का प्रकोप फैला है, उन्‍हें लगातार भेदभाव का सामना करना पड़ रहा है। कुछ लोग तो उनका मजाक उड़ाने से भी पीछे हट नहीं रहे हैं। राजधानी लखनऊ से करीब 100 किमी दूर स्थित कोरोना गांव के निवासियों के लिए यह समय काफी कठिन बीत रहा है। उन्‍होंने कभी सपने में भी नहीं सोचा होगा कि अपने गांव के नाम की वजह से कभी उ

विश्व हिन्दू परिषद् की वेबसाईट www.vhp.org नए रूप में की जारी

Image
नई दिल्ली। विश्व हिन्दू परिषद् ने आज अपनी वेब साईट www.vhp.org को अपने नए अवतार में जारी किया है। इस अवसर पर अपने वीडियो संदेश में विहिप कार्याध्यक्ष एडवोकेट श्री आलोक कुमार ने कहा है कि अपने नए रंग रूप में बनी इस वेबसाईट से विश्व भर का हिन्दू समाज ना सिर्फ नवीनतम जानकारियों से अवगत होगा बल्कि ‘JOIN VHP’ के माध्यम से हम से जुड़ भी सकेगा. इसे मोबाइल, लेपटॉप, डेस्कटॉप इत्यादि किसी भी माध्यम से आसानी से सभी फीचर्स के साथ सुविधाजनक रूप से देखा जा सकता है। विहिप के सेवा कार्यों, सोशियल मीडिया के विभिन्न आधिकारिक प्लेटफार्म व संगठन के प्रेस वक्तव्य तथा प्रेस विज्ञप्तियों के अपडेट्स भी इसमें शामिल किए गये हैं। विस्तृत जानकारी देते हुए सोशियल मीडिया प्रभारी श्री राकेश पाण्डेय ने बताया कि यूं तो हमें यह वेब साईट वर्ष-प्रतिपदा यानि 25 मार्च’20 को ही एक छोटे उत्सव के रूप में सार्वजनिक रूप से जारी करनी थी किन्तु दुर्भाग्य से कोरोना संकट ने सम्पूर्ण भारतवासियों को घरों तक सीमित कर दिया। अत: माननीय कार्याध्यक्ष जी ने आज इसे अपने घर से ही एक वीडियो संदेश के माध्यम से लोकार्पित किया है। इस संदेश को व

भिवंडी में 5 दिन से पानी पीकर और कंदमूल खाकर कर रहे थे गुजारा

Image
भिवंडी। कोरोना वायरस के चलते रोजगार उपलब्ध न होने के कारण मुंबई सटे भिवंडी के भिनार स्थित आदिवासी पाडा में रहने वाला गरीब परिवार पिछले पांच दिनों से पानी पीकर एवं जंगल का कंदमूल खाकर दिन काट रहा था। परिवार को आदिवासी सामाजिक संस्था के माध्यम से एक महीने का राशन दिया गया। कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते पूरे देश में लॉकडाउन होने के कारण पावर लूम, डाइंग एवं साइजिंग कंपनियों सहित उससे जुड़े सभी उद्योग धंधे बंद हो गए हैं, जिसके कारण सभी रोजगार ठप पड़ गए हैं। जहां अनेक गरीब परिवार दैनिक मजदूरी करके अपने परिवार का पालन-पोषण करते हैं। कोरोना वायरस के चलते रोजगार ठप होने ने दैनिक मजदूरी करने वाले उन परिवारों के सामने भुखमरी की समस्या खड़ी हो गई है। यही कारण है कि भिनार के आदिवासी पाडा के गरीब आदिवासी परिवार के पास कोई काम न होने के कारण पांच दिनों से पानी पीकर एवं कंदमूल खाकर दिन निकाल रहा था। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए यह आदिवासी परिवार अपने घर से नहीं निकल रहा है। उनका दृढ विश्वास है कि कुछ भी हो चलेगा, लेकिन कोरोना को हराना है। उन्होंने बताया कि रोजाना 100-200 रूपये कमा लेत

विदेश से पंजाब लौटे 94 हजार एनआरआई, चंडीगढ़ में कितने, नहीं है डेटा

Image
चंडीगढ़। कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है। ऐसे में यह और भी हैरान करने वाला है कि पूरे पंजाब में पिछले कुछ महीनों में 94 हजार एनआरआई विभिन्न देशों से लौटे हैं। हालांकि, इनमें से कितने लोग चंडीगढ़ पहुंचे हैं, प्रशासन के पास इसका कोई डेटा नहीं है। अधिकारी वीपी सिंह बदनौर भी इसे लेकर चिंता जाहिर कर चुके हैं। वीपी सिंह ने कहा कि शहर में कोरोना का 8वां पेशेंट भी ऐसा ही मामला है। यह जानकारी आपके होश और भी फाख्ता कर देगी कि शख्स दुबई से आ गया लेकिन चंडीगढ़ को मंत्रालय की तरफ जो सूची मिली उसमें इस शख्स का नाम ही नहीं शामिल था। अधिकारियों ने लोगों से अपील की है कि यदि उनके पड़ोस में कोई ऐसा शख्स हो तो तुरंत इसकी जानकारी पुलिस को दी जाए। अधिकारी ने बताया कि 94 हजार एनआरआई पंजाब में आए हैं। इनमें से सिर्फ 33 हजार एनआरआई को ही ट्रेस किया जा सका है और उन लोगों को आइसोलेशन में रखा गया है। जरूरत के अनुसार इनमें से कई लोगों के सैंपल लिए गए हैं और जांच की जा रही है। हालांकि, 61 हजार एनआरआई जो विभिन्न देशों से आए हैं, उनमें से कितने लोग चंडीगढ़ आए हैं, यह किसी को नहीं पता है।

गांव से फोन आया मां नहीं रहीं, अंतिम संस्कार के लिए निकला बेटा तो पुलिस ने की पिटाई

Image
अहमदाबाद। चर्चित शायर मुनव्वर राणा का एक शेर है कि...इस तरह वो मेरे गुनाहों को धो देती है, मां बहुत गुस्सा होती है तो रो देती है। ढेरों भाव के साथ इसे आसानी से यूं समझा जा सकता है कि मां के प्रेम को परिभाषित नहीं किया जा सकता। न ही मां के कर्ज से कभी मुक्ति पाई जा सकती है। ऐसे में इस बात की कल्पना करना और भी मुश्किल है कि इकलौती संतान मां के ही अंतिम संस्कार में न पहुंच पाए। कोरोना वायरस से संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूरे देश को 21 दिनों के लिए लॉकडाउन कर दिया है। इसके साथ ही उन्होंने लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की अपील भी की है। इस बीच पुलिस अधिकारी इस बात को आश्वस्त करने में जुटे हैं कि लोग अपने घरों से बाहर न निकलें। हालांकि, मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, एक ऐसा मामला भी सामने आया है जब एक बेटे को अपनी मां के अंतिम संस्कार में ही शामिल होने की इजाजत नहीं दी गई। ठाणे के रहने वाले फर्नीचर विक्रेता भैरो लाल लोहार अपनी मां के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए जा रहे थे। इस बीच गुजरात पुलिस के अफसरों ने उनकी जमकर पिटाई की। दरअसल, भैरो

ईस्ट दिल्ली होगी साफ, 4000 कर्मचारियों को मिला पास

Image
नई दिल्ली। ईस्ट दिल्ली की सफाई व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए एमसीडी के दोनों जोन में 4000 से अधिक सफाई कर्मचारियों को पास जारी किए गए हैं। अधिकारियों को उम्मीद है कि बहुत जल्द सफाई व्यवस्था में सुधार होगा। लॉकडाउन होने से उन सफाई कर्मचारियों को दिक्कत हो रही थी, जो दिल्ली के बाहर रहते हैं। इस समस्या को खत्म करने के लिए ईस्ट एमसीडी ने दोनों जोन के असिस्टेंट कमिश्नर को सफाई कर्मचारियों को पास जारी करने का अधिकार दिया। शाहदरा साउथ जोन के असिस्टेंट कमिश्नर रमेश साहू ने बताया कि पिछले चार दिन में उन्होंने 2500 के करीब कर्मचारियों को पास जारी किए। उनमें ज्यादातर सफाई कर्मचारी शामिल हैं। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन का असर ईस्ट एमसीडी के वेस्ट टू एनर्जी प्लांट पर भी पड़ा था। प्लांट चालू रहे और इसके लिए भी संबंधित कर्मचारियों को पास जारी किया गया है। शाहदरा नॉर्थ जोन के असिस्टेंट कमिश्नर सुनील त्रिपाठी ने बताया कि 1500 से अधिक कर्मचारियों को पास जारी कर दिए गए। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के शुरुआत में दिक्कत हो रही थी। इस वजह से ज्यादातर कर्मचारी अपनी ड्यूटी पर नहीं पहुंच पाए। अब कर्मचारी अपना

दिल्ली में रहें, हम देंगे घर का किराया: अरविंद केजरीवाल

Image
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अपील लॉकडाउन तक कोई दिल्ली से बाहर ना जाएं मकान मालिक किराएदारों को बाहर ना करें दिल्ली सरकार सबके रहने खाने का इंतजाम करेगी नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार शाम को कहा कि दुनिया के कई देशों में कोरोना ने हजारों लोगों को अपनी चपेट में ले लिया है। हमारे देश में सभी सरकारें मिलकर उस स्थिति को टालने की कोशिश में जुटी है। अच्छी बात यह है कि कोरोना के खिलाफ केंद्र और राज्य सरकारें मिलकर एक टीम के रूप में काम कर रही हैं। हम सभी सरकारें एक-दूसरे से सीख रहे हैं। अगर केरल सरकार कुछ अच्छा कर रही है तो यूपी और दिल्ली की सरकारें उसे अपना रही हैं। इसी तरह देश भर की राज्य सरकारें एक दूसरे का सहयोग कर रही हैं। सीएम केजरीवाल ने कहा कि सारी राज्य सरकारों को इस समय एक दूसरे से सीखना चाहिए, मदद करनी चाहिए और किसी भी हाल में इस बीमारी को रोकना है। पिछले दो-तीन दिनों से देश के अलग-अलग भागों में कई इलाकों के अंदर लोग शहर छोड़कर अपने गांवों की तरफ जा रहे हैं। पिछले दो-तीनों के भीतर दिल्ली और उत्तर प्रदेश के बॉर्डर पर भारी संख्या में ल

बिहार में बढ़ा कोरोना, 900 लोग आइसोलेशन में

Image
बिहार में कोरोना के 900 संदिग्ध व्यक्तियों को आइसोलेशन वार्ड में रखा गया पीएमसीएच के आंख और ईएनटी विभाग को आइसोलेशन वार्ड में तब्दील करने का फैसला स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा- बिहार में कोरोना जांच किट की कमी नहीं पटना के डीएम का निर्देश- संक्रमित व्यक्ति के घर के 5 किलोमीटर में सभी लोग हों होम क्वॉरेंटाइन पटना। बिहार में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। अब तक सामने आए आंकड़ों के मुताबिक, प्रदेश में कोरोना के 900 संदिग्ध व्यक्तियों को आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। रविवार को इंदिरा गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (IGIMS) में 4 मरीजों के सैंपल पॉजिटिव पाए गए हैं। इनमें खगड़िया, सहरसा, बेगूसराय और मुंगेर के रहने वाले एक-एक मरीज की टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इससे पहले पटना में 5, मुंगेर में 3, सीवान-नालंदा और लखीसराय में एक-एक मरीज भी शामिल हैं। बिहार में कोरोना के अब तक 15 मामले सामने आ चुके हैं। सरकार ने बढ़ते संदिग्धों की संख्या को देखते हुए पीएमसीएच के आंख और ईएनटी विभाग को आइसोलेशन वार्ड में तब्दील करने का फैसला किया है। बिहार के

कोरोना से इकॉनमी को नुकसान देख जर्मनी के एक मंत्री ने कर ली खुदकुशी

Image
जर्मनी के एक मंत्री ने कोरोना से अर्थव्यवस्था को हुए नुकसान पर खुदकुशी कर ली वह कुछ समय से परेशान चल रहे थे, उनका शव रेलवे ट्रैक के पास बरामद किया गया हेसे प्रांत के वित्त मंत्री थॉमस शाफर दिन रात इकॉनमी उबारने के काम में लगे हुए थे हेसे के प्रीमियर वोल्कर ने कहा कि इस संकट की घड़ी में उनकी काफी जरूरत थी फ्रैंकफर्ट। जर्मनी के हेसे राज्य के वित्त मंत्री थॉमस शाफर ने कोरोना वायरस से देश की अर्थव्यवस्था को हो रहे नुकसान से चिंतित होकर खुदकुशी कर ली। वह इस बात से अंदर ही अंदर घुट रहे थे कि कोरोना से देश की अर्थव्यवस्था को जो नुकसान हो रहा है, उससे कैसे निपटा जाएगा। राज्य के प्रीमियर वोल्कर ने रविवार को उनकी मौत की सूचना दी। शाफर (54) को शनिवार को रेलवे ट्रैक के नजदीक मृत पाया गया था। माना जा रहा है कि उन्होंने खुदकुशी कर ली। प्रीमियर वोल्कर अपने कैबिनेट सहयोगी की मौत से बेहद दुखी हैं। उन्होंने कहा, 'हम बेहद हैरान हैं, हमें यकीन नहीं हो रहा है और हम बेहद बेहद दुखी है।' हेसे में फ्रैंकफर्ट मौजूद है जहां बड़े वित्तीय बैंक ड्यूस और कॉमर्जबैंक के हेडक्वॉर्टर्स मौजूद हैं। यूरोपीय

'केवल लॉकडाउन नहीं, कोरोना पर चीन की टेक्निक भी लगाएं' : विशेषज्ञ

Image
संक्रमण के संदिग्ध लोगों के संपर्क में आये प्रत्येक व्यक्ति तक पहुंचने के लिये जीपीएस जैसी तकनीकों का सहारा लेना होगा जरूरी काम जनता की भागीदारी सुनिश्चित करना है, इसके लिये लोगों को जागरूक करना होगा परीक्षण क्षमता को मांग की तुलना में काफी अधिक रखना है, इन तीनों उपाय को अपनाकर ही रोका जा सकता है संक्रमण का तीसरा स्टेज नई दिल्ली। कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए राज्यों की जरूरत के आधार पर पहली कार्ययोजना दिल्ली के लिए बनाने वाले ‘यकृत एवं पित्त विज्ञान संस्थान’ (आईएलबीएस) के निदेशक डॉक्टर एस. के. सरीन ने अपनी रिपोर्ट में सरकार को सुझाव दिया है कि भारत को संक्रमण रोकने के लिए प्रत्येक संदिग्ध मरीज के संपर्क में आए हर एक व्यक्ति की पहचान के लिए चीन और दक्षिण कोरिया की तर्ज पर जीपीएस तकनीक का इस्तेमाल करना होगा। उनका मानना है कि वायरस का संक्रमण तीसरे चरण में जाने से रोकने के लिए सभी राज्यों को तत्काल तीसरे चरण की तैयारियों को लागू करना जरूरी है। डॉक्टर सरीन ने बताया कि वैश्विक स्तर पर कोरोना वायरस के संक्रमण की दर और कोरोना समूह के वायरस की प्रकृति को देखते हुए भारत में राज्य

छिड़काव करते वक्त कीटनाशक दवा से सफाईकर्मी की मौत, पुलिस ने दी सलामी तो वहीं एसडीएम बोले- फालतू टाइम नहीं

Image
कोरोना वायरस के खतरे के बीच कीटनाशक दवा का छिड़काव कर रहे सफाईकर्मी की मौत सिराथू के एसडीएम राजेश श्रीवास्तव का गैरजिम्मेदाराना रवैया, बोले- फालतू का टाइम नहीं संदीप के आश्रितों को एक करोड़ रुपये की आर्थित सहायता, शहर में आवास और एक आश्रित को सरकारी नौकरी की मांग कौशांबी। कोरोना वायरस के खतरे के बीच जहां 'कर्मवीर' लोगों की मदद में लगे हैं, वहीं कुछ सरकारी अधिकरियों का रवैया हैरान करने वाला है। उत्तर प्रदेश के कौशांबी जिले में कीटनाशक दवा के घोल का छिड़काव करते वक्त एक सफाईकर्मी बीमार हो गया। जिसके बाद हॉस्पिटल में उसकी मौत हो गई। एक ओर जहां पुलिसकर्मियों ने अंतिव संस्कार से पहले उसके शव को सैल्यूट किया, वहीं जिला प्रशासन के अधिकारियों का रवैया हैरान करने वाला दिखा। सूबे के फतेहपुर जिला के हथगाम ब्लॉक के आलीमऊ गांव का रहने वाले संदीप वाल्मीकि कौशाम्बी के सिराथू नगर पंचायत में ठेकेदारी में सफाई मजदूर के रूप में काम करते थे। बीते 23 मार्च को कोरोना वायरस जैसी महामारी से आम लोगों को बचाने के लिए गलब्स जैसे जरूरी संसाधनों के अभाव में भी कीटनाशक दवा के घोल का छिड़काव कर रहे थे। स

112 नंबर पर क्राइम से ज्यादा खाना मांगने के लिए आ रहीं कॉल

Image
गाजियाबाद। गाजियाबाद में शुक्रवार को पुलिस के पास 35 कॉल सिर्फ खाने के सामान को लेकर की आईं। पुलिसकर्मियों ने मौके पर पहुंचकर लोगों को सामान मुहैया कराया। वहीं, अब बिना कारण घर से बाहर निकलना भी लोगों का कम हो गया है। शुक्रवार को ऐसे मामलों में सिर्फ 5 केस ही दर्ज किए गए। एसएसपी ने बताया कि पुलिस कानून व्यवस्था संभालने के साथ लोगों की मदद भी कर रही है। अभी तक बिना कारण घर से निकलने के मामलों में 175 मुकदमे दर्ज हो चुके हैं। जिनमें 785 लोगों के नाम हैं।

कोरोना के खिलाफ जंग में पीएम मोदी ने की दान की अपील

Image
PM-CARES फंड में हर कोई स्वेच्छा से दान कर सकता है बॉलिवुड एक्टर अक्षय कुमार ने दान किया 25 करोड़ आप भी कर सकते हैं दान, पीएम ने ट्वीट कर जानकारी शेयर की विनय मिश्रा,(नई दिल्ली)। प्रधानमंत्री मोदी कोरोना के खिलाफ जारी जंग पर पल-पल नजर बनाए हुए हैं। आज उन्होंने देशवासियों से मदद की अपील की। इसके लिए पीएम केयर्स फंड बनाया गया है जिसमें हर कोई स्वेच्छा से मदद कर सकता है। अगर आप भी इस फंड में कुछ डोनेट करना चाहते हैं तो नीचे अकाउंट नंबर समेत तमाम जानकारियां दी गई हैं। डोनेशन का काम घर बैठे डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, इंटरनेट बैंकिंग, यूपीआई और RTGS/NEFT की मदद से किया जा सकता है। पीएम ने कहा कि मैं अपने देशवासियों से अनुरोध करता हूं कि वे पीएम केयर फंड में दान करें। इसकी मदद से हम इस लड़ाई को जीतेंगे। आने वाले दिनों में भी ऐसे डिजास्टर से लड़ने में सरकार की मदद होगी। जो लोग बढ़-चढ़ कर दान कर रहे हैं मैं उनकी भावनाओं का सम्मान करता हूं। आप लोगों की मदद से भारत ज्यादा हेल्दी होगा। पीएम मोदी की अपील पर IAS असोसिएशन ने पीएम केयर्स फंड में 21 लाख दान की घोषणा की है। असोसिएशन के सभी में

डीएम व एसएसपी द्वारा किया गया बॉर्डर के इलाकों का भ्रमण

Image
सूर्य प्रकाश,(गाज़ियाबाद)। लॉकडाउन के दौरान  श्रीमान जिलाधिकारी महोदय एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गाजियाबाद कलानिधि नैथानी महोदय द्वारा जनपद के बॉर्डर के स्थानों, आनंद विहार, कौशांबी बस स्टैंड, यूपी गेट एवं अन्य महत्वपूर्ण स्थानों आदि का जायजा लिया गया। ड्यूटी पर मौजूद मिले पुलिसकर्मियों को सजग रहते हुए संक्रमण से खुद के बचाव हेतु सैनिटाइजर साबुन से लगातार हाथ धोने ग्लव्स एवं मास्क आदि लगाने हेतु निर्देशित किया गया। एसएसपी ने कहा कि सभी आवश्यक वस्तुओं एवं सेवाओं के व्यक्तियों एवं वाहनों को न रोकने के संबंध में निर्देश दिए गए। एसएसपी महोदय ने जनता से अपील की कि आप जहां पर है वही रहे सभी आवश्यक सहायता एवं जरूरी सामान की आपूर्ति सुरक्षित की गई है। कोई भी व्यक्ति अनावश्यक सड़कों पर बाहर ना निकले अन्यथा उनके विरुद्ध आवश्यक वैधानिक कार्रवाई की जाएगी। कोई भी व्यक्ति किसी सहायता एवं आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति हेतु 112 पर कॉल करें या अन्य हेल्पलाइन नंबर पर भी कॉल कर सकते हैं।  ड्यूटी पर मुस्तैद मिले पुलिसकर्मियों को ऐसे अन्य जरूरतमंद लोगों को सहूलियत के अनुसार सहायता उपलब्ध कराते हुए अपने कर्तव्य

आवश्यक वस्तुओं की नहीं है कहीं गाज़ियाबाद में कमी, पुलिस प्रशासन की है कड़ी नज़र

Image
सूर्य प्रकाश,(गाज़ियाबाद)। लॉकडाउन के दौरान जिलाधिकारी अजय शंकर पाण्डेय और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गाजियाबाद कलानिधि नैथानी ने आनंद विहार, कौशांबी बस स्टैंड, यूपी गेट एवं अन्य महत्वपूर्ण स्थानों आदि का जायजा लिया गया। ड्यूटी पर मौजूद मिले पुलिसकर्मियों को सजग रहते हुए संक्रमण से खुद के बचाव हेतु सैनिटाइजर साबुन से लगातार हाथ धोने, ग्लब्स एवं मास्क आदि लगाने के निर्देश दिए। एसएसपी ने कहा कि सभी आवश्यक वस्तुओं एवं सेवाओं के व्यक्तियों एवं वाहनों को न रोका जाए। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने जनता से अपील की कि आप जहां पर है वही रहें। सभी आवश्यक सहायता एवं जरूरी सामान की आपूर्ति सुरक्षित की गई है। कोई भी व्यक्ति अनावश्यक सड़कों पर बाहर ना निकले अन्यथा उनके विरुद्ध आवश्यक वैधानिक कार्रवाई की जाएगी। कोई भी व्यक्ति किसी सहायता एवं आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति हेतु 112 पर कॉल करें या अन्य हेल्पलाइन नंबर पर भी कॉल कर सकते हैं। ड्यूटी पर मुस्तैद मिले पुलिसकर्मियों को ऐसे अन्य जरूरतमंद लोगों को सहूलियत के अनुसार सहायता उपलब्ध कराते हुए अपने कर्तव्य के साथ-साथ मानव सेवा के बारे में भी निर्देशित किया गया।

सीएम नीतीश ने दी बड़ी सौगात, बिहार के पत्रकारों को आज से हर महीने मिलेगी 6000 की पेंशन

Image
पटना। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य के पत्रकारों को बड़ी सौगात दी है। सीएम नीतीश ने शुक्रवार को पत्रकार सम्मान पेंशन योजना को शुभारंभ किया। इसके तहत पेंशन के रूप में पत्रकारों को प्रति माह छह हजार रुपए मिलेंगे। पेंशन 2019 के 14 नवंबर से प्रभावी की गयी है। पेंशन पाने वाले पत्रकारों को राशि का भुगतान एरियर के साथ होगा। मुख्यमंत्री  नीतीश कुमार के निर्देश पर शुक्रवार को 40 पत्रकारों के खाते में पेंशन की राशि अंतरित कर दी गयी। पेंशन का भुगतान बिहार पत्रकार सम्मान पेंशन योजना नियमावली 2019 के तहत किया गया है। इन 40 पत्रकारों के अतिरिक्त पांच पत्रकारों को 6 मार्च 2020 तथा तीन पत्रकारों को 16 मार्च 2020 के प्रभाव से पेंशन का लाभ मिलेगा। जिन 40 पत्रकारों को नवंबर 2019 से लाभ मिलना है उनके लिए 1.36 लाख का भुगतान किया गया। फिलहाल फरवरी तक की पेंशन राशि खाते में स्थानांतरित कर दी गई है। जिन पत्रकारों के पेंशन की स्वीकृति मार्च से दी गयी है उनके खाते में पेंशन की राशि अगले महीने स्वीकृति के एक माह पूरा होने पर जाएगी। पेंशन की राशि अंतरित किए जाने के मौके पर उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, वि

लॉकडाउन के दौरान लग रही है घर जाने वालों की भीड़, सोशल डिस्टेन्सिंग के नियम धरे ताक पर

Image
गाज़ियाबाद ब्यूरो। कोरोना के चलते पूरी तरह लॉकडाउन के कारण लोगों और खासकर बाहर काम करने वालें मजदूरों के अपने घर लौटने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में उत्तर प्रदेश सरकार के निर्देश पर यूपी परिवहन दिल्ली की सीमा से जुड़े लोगों को उनके घर पहुंचाने के लिए बसें चला रहा है। इसके लिए बसों को नोएडा और गाजियाबाद पहुंचाया जा रहा है। सुबह 8 बजे से हर 2 घंटे में लगभग 200 बसें प्रस्थान कर रही है। ये बसें 28 और 29 मार्च को चलेंगी। इन बसों को लेने के लिए दिल्ली बॉर्डर पर लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी है। इन सब के बीच सरकार द्वारा सुझाए गए सोशल डिस्टेन्सिंग के नियमों की अधिकारियों के सामने ही खुली अवहेलना हो रही है। गाज़ियाबाद में लालकुआं, कौशांबी व अन्य स्थानों पर सैंकड़ों की तादाद में लोग अपने-अपने घरों के लिए बसें पकड़ने के लिए भीड़ लगा रहे हैं। ऐसे में संक्रमण बढ़ने खतरा भी है। कुछ बसें जो पहले ही गाजियाबाद नोएडा और सीमावर्ती क्षेत्रों से निकल चुकी हैं, वे यूपी में विभिन्न गंतव्य के रास्ते पर हैं। सरकार ने अब इन सभी यात्रियों को अपने गंतव्य तक पहुंचने की अनुमति देने का निर्णय लिया है। उत्तर