आतंकी हमले के अलर्ट पर वेस्ट यूपी में चला रातभर चेकिंग अभियान, छिपे हो सकते हैं स्लीपर सेल



  • दिल्ली में आतंकी हमले की खुफिया एजेंसियों ने दी सूचना

  • आतंकवादियों के कश्मीर से दिल्ली आने की मिली खबर

  • वेस्ट यूपी में आंतकी संगठनों के स्लीपर सेल छिपे होने की आशंका

  • उत्तर प्रदेश पुलिस ने वेस्ट यूपी में चलाया तलाशी अभियान, बॉर्डर पर सख्त चेकिंग

  • आने-जाने वाले एक-एक वाहनों की हो रही चेकिंग, रातभर पुलिस रही सतर्क


मेरठ। जम्मू-कश्मीर में सेना लगातार आतंकियों के खिलाफ अभियान चला रही है। इस साल अब तक 100 से ज्यादा आतंकी ढेर किए जा चुके हैं। जम्मू-कश्मीर के अलावा अब आतंकी अन्य राज्यों को अपना निशाना बनाने में जुटे हैं। खुफिया सूत्रों से पता चला है कि दिल्ली में आतंकी हमला हो सकता है। आंतकियों के वेस्ट यूपी में छिपे होने की सूचना मिली है। ऐसे में पुलिस ने देर रात वेस्ट यूपी के जिलों में चेकिंग अभियान चलाया। यूपी दिल्ली बॉर्डर पर सख्त चेकिंग चल रही है। बताया जा रहा है कि खुफिया एजेंसियों ने कश्मीर के आंतकियों का दिल्ली में आने की आशंका जताई है। इस पर वेस्ट यूपी में अलर्ट जारी किया गया है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मेरठ, मुजफ्फरनगर, शामली में अलर्ट जारी किया गया है। यूपी बॉर्डर समेत कई जिलों में पूरी रात चेकिंग अभियान चलाया गया। सूत्रों की मानें तो जैश-ए-मोहम्मद, लश्कर-ए-तैयबा, हिज्बुल मुजाहिद्दीन और इंडियन मुजाहिद्दीन जैसे आतंकवादी संगठनों ने पश्चिम उत्तर प्रदेश में पैठ जमाई है। दिल्ली में हमले के लिए आंतकी संगठन इन जिलों में छिपे उनके स्लीपर सेलों का प्रयोग कर सकते हैं। कहा जा रहा है कि ट्रक में बैठकर कश्मीर से दिल्ली में जाने की फिराक में आतंकी वेस्ट यूपी में शरण ले सकते हैं। मेरठ में देश की दूसरी सबसे बड़ी छावनी है। इसके अलावा बागपत, सहारमपुर, हापुड़, गाजियाबाद दिल्ली से सटे होने के कारण वे यहां मौजूद उनके स्लीपर सेलों की मदद ले सकते हैं। आईजी प्रवीर कुमार ने कहा कि यूपी के दिल्ली बॉर्डर पर सख्त चेकिंग चल रही है। रात में गश्त भी बढ़ाई गई है। उन्होंने कहा कि जिले की संवेदनशीलता को देखते हुए यह कदम उठाया गया है। ट्रक ही नहीं किसी भी वाहन को बिना चेकिंग के आगे नहीं जाने दिया जा रहा है।