दिल्ली के लक्ष्मी नगर में अकेले रहने वाले 75 साल के बुजुर्ग की हत्या



  • केपी अग्रवाल ने इंजिनियरिंग की हुई थी, वह कई नामी कंपनियों में काम कर चुके थे

  • रिटायरमेंट के बाद वह लक्ष्मी नगर के घर के ग्राउंड फ्लोर पर ही एक कंपनी का सर्विस सेंटर चला रहे थ

  • घर के भीतर और ग्राउंड फ्लोर स्थित सर्विस सेंटर की अलमारियां खुली हुई थीं

  • बेड को भी खंगाला गया था और सामान बिखरा पड़ा था


नई दिल्ली। राजधानी के लक्ष्मी नगर में घर में अकेले रह रहे 75 साल के बुजुर्ग की हत्या कर दी गई। शरीर में बाहरी चोट के निशान नहीं हैं। मुंह दबाकर हत्या का शक है। घर के अंदर और नीचे चल रहे बुजुर्ग के सर्विस सेंटर में सामान बिखरा मिला। कैश-जूलरी गायब है। एक दिन पहले ही सफदरजंग एन्क्लेव में घर के गार्ड ने 90 साल की बुजुर्ग महिला की हत्या कर लूटपाट की थी। घर के भीतर और ग्राउंड फ्लोर स्थित सर्विस सेंटर की अलमारियां खुली हुई थीं। बेड को भी खंगाला गया था और घर का सामान बिखरा पड़ा था। घर से जूलरी और कैश भी गायब है। डीसीपी (ईस्ट) जसमीत सिंह ने बताया कि हत्या और लूटपाट की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। जानकारी के मुताबिक, के. पी. अग्रवाल (75) ने इंजीनियरिंग की हुई थी। वह कई नामी कंपनियों में काम कर चुके थे। रिटायरमेंट के बाद वह लक्ष्मी नगर के एफ-ब्लॉक स्थित अपने घर के ग्राउंड फ्लोर पर ही वॉशिंग मशीन की कंपनी का सर्विस सेंटर चला रहे थे। उनके बेटे तुषार अग्रवाल अपने परिवार के साथ दुबई में रहते हैं। उन्होंने संडे रात को कॉल किया था, लेकिन पिक नहीं हुआ। सोमवार सुबह फिर से पिता को फोन किया, लेकिन फिर से कोई जवाब नहीं मिला। इसके बाद उन्होंने नौकरानी को फोन किया। वह घर पहुंची तो सर्विस सेंटर का दरवाजा खुला था। भीतर गई तो वहां एक कमरे में बुजुर्ग की बॉडी पड़ी हुई थी। नौकरानी ने शोर मचा दिया, जिससे आसपास के लोग इकट्ठे हो गए। पुलिस को 10:30 बजे कॉल की गई। पुलिस और क्राइम टीम ने तत्काल मौका मुआयना किया। पुलिस के मुताबिक सर्विस सेंटर और घर की अलमारियां खुली पड़ी थीं। जूलरी और कैश गायब हैं। फिलहाल लूटपाट के इरादे से हत्या करने की आशंका है। दोनों बेटियों को वारदात की जानकारी दी गई। सूचना मिलने पर गाजियाबाद के इंदिरापुरम में रहने वाली उनकी बेटी लक्ष्मी नगर पहुंची। पुलिस उनसे घर में रखी जूलरी और कैश की जानकारी हासिल कर रही है।