दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष के साथ फर्जीवाड़ा


नई दिल्ली। देश-दुनिया में फैले कोरोना वायरस संक्रमण के संकट के बीच नकली किट और स्वास्थ्य संबंध सामान में गड़बड़ी के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। इस बीच दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष रामनिवास गोयल के साथ फर्जीवाड़ा करने का मामला  सामने आया है। यह फर्जीवाड़ा ब्लड डोनेशन के नाम किया गया। शिकायत के बाद दिल्ली पुलिस ने कार्रवाई करते हुए मुख्य आरोपित अब्दुल करीम उर्फ राहुल ठाकुर को गिरफ्तार कर लिया है। फिलहाल पुलिस शातिर से पूछताछ कर रही है। पुलिस की मानें तो इस संबंध में अभी कई और लोगों की गिरफ्तारी हो सकती है। बताया जा रहा है कि यह शातिर गिरोह पूरी साजिश रचकर फर्जीवाड़े का अंजाम देता था। दिल्ली पुलिस को मिली शिकायत के मुताबिक, प्लाज्मा डोनेट करने के एवज में विधानसभा के अध्यक्ष राम निवास गोयल से पैसे मांगे गए थे। इस पर उन्होंने दिल्ली पुलिस के पास मामला दर्ज करवाया था। पुलिस की मानें तो मुख्य आरोपित ने खुद को दिल्ली के नामी राम मनोहर लोहिया अस्पताल का डॉक्टर बताकर धोखाधड़ी करने की कोशिश की थी। दिल्ली पुलिस ने मामले की पड़ताल के बाद मुख्य आरोपी अब्दुल करीम उर्फ राहुल ठाकुर को धर दबोचा। आरोपित मूल रूप से उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर इलाके का रहने वाला है। वह बेहद शातिराना ढंग से लोगों से बातचीत करता था, जिसससे लोग उसके झांसे में आ जाते थे। जांच के दौरान दिल्ली पुलिस को यह भी पता चला है कि ब्लड डोनेशन के नाम पर फर्जीवाडा करने वाला आरोपित अपना नाम और धर्म बदलकर लोगों को अपने झांसे में लेता था। आरोपित पहले भी इसी तरह के शातिराना तरीकों से लोगों को ठग रहा था। यह अपनी तरह का अनोखा मामला है, जब किसी ने प्लाज्मा दान करने के नाम पर पैसे मांगे। बता दें कि किडनी डोनेट करने के एवज में पहले भी भारी-भरकम मांगने के मामले सामने आते रहे हैं।