घंटों निर्जन टापू पर फंसे रहे बच्चे, ग्रामीणों की मदद से पुलिस ने सुरक्षित बचाया



  • एमपी के सिंगरौली में बाल-बाल बचे 4 बच्चे

  • नदी में मछली मारने गए बच्चे टापू पर फंस गए

  • ग्रामीणों की मदद से पुलिसकर्मियों ने सुरक्षित बचाया

  • करीब डेढ़ घंटे के रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद बची बच्चों की जान


सिंगरौली। सिंगरौली जिले में बीते कई दिनों से लगातार हो रही बारिश के चलते नदी-नाले उफान पर हैं। जिले के जरहा गांव में स्थित मयार नदी में अचानक पानी आ जाने के कारण मछली मारने गए 4 बच्चे नदी के बीच बने टापू पर फंस गए। सभी बच्चों की उम्र 10 साल से कम थी। जब काफी देर तक बच्चे घर नहीं पहुंचे, तो परिजनों ने खोजबीन शुरू की। तब उन्हें बच्चों के टापू पर फंसे होने का पता चला। टापू पर फंसे बच्चों में अशोक और प्रिंस की उम्र 10 वर्ष, नवनीत की 9 और यीशु की 7 वर्ष थी। घबराए परिजनों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। हरकत में आए प्रशासन ने एनडीआरएफ एवं गोताखोरों की टीम मौके पर भेजी, लेकिन टीम के पहुंचने से पहले ही ग्रामीणों ने पुलिस की मदद से डेढ़ घंटे चले रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद चारों बच्चों को सकुशल बाहर निकाल लिया है। घंटों निर्जन टापू पर फंसे रहे बच्चे काफी डरे हुए थे। डर के मारे वे कुछ बोल नहीं पा रहे थे। मौके पर उपस्थित डॉक्टरों की टीम ने उनका मेडिकल परीक्षण किया। बच्चे पूरी तरह से स्वस्थ हैं और बाहर आने के बाद अब काफी खुश हैं।