कोरोना फैलाने वाला बताकर जीटीबी अस्पताल के सिक्योरिटी गार्ड का सिर फोड़ा


उत्तर पूर्वी दिल्ली। जीटीबी अस्पताल के एक सिक्योरिटी गार्ड हर्ष विहार थाना इलाके में रहते हैं। उनके पड़ोसी को जब पता चला कि वह कोरोना वॉरियर हैं, तो उनको कोरोना फैलाने वाला बता दिया। आरोप है कि 5-6 लड़कों को लेकर उनके घर के बाहर गाली-गलौज की। विरोध करने पर ईंट से सिर फोड़ दिया। पुलिस ने मारपीट की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस के मुताबिक, विजय कुमार (35) हर्ष विहार के बी-ब्लॉक गली नंबर-10 में रहते हैं। घर में माता-पिता के अलावा भाई की फैमिली रहती है। विजय जीटीबी अस्पताल में सिक्योरिटी गार्ड हैं। पुलिस को दी शिकायत में विजय ने बताया कि 19 जून की शाम वह छत पर टहल रहे थे। उनके मकान के पिछली गली के घर में विकास रहता है। विजय को छत पर देख उसने पूछा कि कहां काम करते हो। विजय ने बता दिया कि जीटीबी अस्पताल में नौकरी करते हैं। वह कहने लगा कि कोरोना अस्पताल में काम करते हो, यहां भी कोरोना फैलाओगे। वह गाली-गलौज करने लगा, तो विजय ने विरोध जताया। वह अपने साथ 5-6 लड़कों के लेकर विजय के घर आ धमका। सभी विजय के घर के आगे हंगामा करने लगे। उन्होंने विरोध किया तो मार-पिटाई शुरू कर दी। आरोप है कि इसी दौरान विकास ने ईंट उठाकर विजय के सिर पर मार दी। पुलिस उन्हें जगप्रवेश चंद्र अस्पताल ले गई, जहां इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई। उनका दावा है कि सिर पर आठ टांके लगे हैं। हर्ष विहार थाना पुलिस ने सोमवार को बयान लेकर जमानती धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। इस वजह से आरोपी खुलेआम घूम रहे हैं। विजय ने कहा कि वह अस्पताल में काम करते हैं, इसमें उनकी क्या गलती है। वह अपनी तरफ से पूरा ऐहतियात बरतते हैं। वह अपनी छत में घूम रहे थे, इससे आरोपियों को उनसे क्या खतरा था।