मध्य प्रदेश में बेकाबू रेत माफिया,एसडीओपी की गाड़ी पर किया हमला, 2 जवान घायल



  • देवास में रेत माफिया ने बरपाया कहर, ट्रॉली रोकने पर किया हमला

  • एसडीओपी की गाड़ी पर रेत माफिया का हमला, 2 जवान जख्मी

  • घटना के बाद एडिशनल एसपी भी पहुंचे सतवास

  • सभी आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज


देवास। एमपी में रेत माफिया का कहर जारी है। प्रदेश के कई जिलों में रेत माफियाओं ने रविवार को कहर बरपाया है। देवास जिले में रेत माफिया ने एसडीओपी के गाड़ी पर हमला किया है। हमले में 2 पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं। रेत माफिया के हौसले इतने बुलंद हैं कि पुलिसकर्मियों का भी खौफ उनके अंदर नहीं है। एसडीओपी ब्रजेश सिंह कुशवाह की गाड़ी पर जहां हमला हुआ है, वहां थाने की दूरी महज 100 मीटर है। दरअसल, नर्मदा नदी के तट फतेहगढ़ घाट से रेत का अवैध कारोबार लगातार जारी है। रविवार को एसडीओपी 2 पुलिसकर्मियों के साथ कन्नौद से सतवास आ रहे थे। अवैध रेत से भरी ट्रैक्टर-ट्रॉली को उन्होंने रोकने का प्रयास किया। लेकिन ट्रॉली नहीं रोकी। उसके बाद एसडीओपी का ड्राइवर गाड़ी से उतरकर ट्रैक्टर चालक के पास पहुंचा। उसने लोहे के रॉड से एसडीओपी के चालक पर हमला कर दिया। इसे देख एसडीओपी के साथ चल रहे 2 पुलिसकर्मी ड्राइवर को बचाने पहुंचे। उसके बाद ट्रॉली चालक ने अपने दूसरे साथियों को बुला लिया। फिर सभी ने मिलकर पुलिसकर्मियों पर भी हमला कर दिया। इस दौरान एसडीओपी के ड्राइवर और पुलिसकर्मी संदीप जाट को चोट आई है। दोनों का इलाज सतवास अस्पताल में चल रहा है। कहा जा रहा है कि रेत माफिया ने एसडीओपी की गाड़ी में तोड़फोड़ की है। हालांकि एसडीओपी तोड़फोड़ की घटना से इनकार कर रहे हैं। वहीं, घटना की सूचना मिलते ही एडिशनल एसपी सूर्यकांत शर्मा भी सतवास पहुंचे। उन्होंने कहा है कि यह काफी गंभीर घटना है। अभी इमरान नाम के आरोपी की पहचान हुई है। 5-6 अन्य आरोपित चिह्नित किए गए हैं। सभी के खिलाफ एफआईआर दर्ज हो गई है। जल्द ही उनकी गिरफ्तारी की जाएगी।