मशीन खराब, 29 घंटे अधजली पड़ी रही लाश


गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां के एक श्मशान घाट में लाया गया कोरोना के मरीज का शव 29 घंटे तक अधजला पड़ा रहा। शव का हिंडन नदी के किनारे स्थित विद्युत शवदाह गृह में अंतिम संस्कार किया जा रहा था। इसी दौरान कुछ तकनीकी खराबी के चलते मशीन बंद हो गई, जिसके बाद मरीज का शव अधजली अवस्था में 29 घंटे तक पड़ा रहा। हैरानी वाली बात यह है कि इस विद्युत शवदाह गृह को इसी साल जनवरी के महीने में गाजियाबाद डिवेलपमेंट अथॉरिटी ने महानगरपालिका का सौंपा था। इसकी लागत 1.20 करोड़ रुपये आई थी। तकनीकी खराबी के बाद महानगरपालिका और डिवेलपमेंट अथॉरिटी के अधिकारी एक दूसरे पर जिम्मेदारी डालते रहे। इस दौरान मृतक के परिवारवाले 29 घंटे तक भूखे-प्यासे वहीं श्मशान घाट पर बने रहे। बुधवार की दोपहर को दाह संस्कार के बाद वे लोग अपने घर गए।