राजस्थान- यूपी बॉर्डर : गौतस्करों की जमकर की पिटाई, फिर पुलिस को सौंपा



  • राजस्थान और उत्तर प्रदेश बॉर्डर पर सामने आया मॉब लिंचिंग का मामला

  • उत्तर प्रदेश से भागकर गौ तस्कर घुसे थे भरतपुर सीमा में

  • ग्रामीणों ने एक गौतस्कर की पकड़कर कर दी पिटाई

  • पुलिस ने संदिग्ध गौतस्कर को गिरफ्तार करते हुए मिनी ट्रक को किया जप्त

  • उत्तर प्रदेश बॉर्डर पर गौरक्षकों ने गौतस्करों पर किया था हमला


भरतपुर। लॉकडाउन खुलने के बाद से ही प्रदेश में लगातार तस्करी के मामले सामने आ रहे हैं। ताजा मामला भरतपुर के समीप उत्तर प्रदेश सीमा का है। यहां बॉर्डर पर स्थित गांव नोनेरा के ग्रामीणों ने तस्कर और गाड़ी को भी पकड़ लिया, जिसके बाद गौरक्षकों ने गौतस्करों को जमकर पिटाई कर दी । साथ ही उन्हें पुलिस के हवाले कर दिया। मिली जानकारी के अनुसार गौतस्कर मिनी ट्रक के भरतपुर की सीमा में घुसे थे, जिन्हें ग्रामीणों से पकड़ लिया था, जिसके बाद उनकी पिटाई कर उन्हें जुरहुरा पुलिस को सौंप दिया था। पुलिस ने कार्यवाही करते हुए उसे संदिग्ध मानते हुए धारा 151 में गिरफ्तार करने के साथ उनकी गाड़ी को भी जप्त कर लिया था। इस मामले में अब लोग पुलिस से नाराजगी जता रहे हैं। लोगों का कहना है कि इस मामले में भरतपुर पुलिस की लापरबाही सामने आई है। उन्होंने एक गौतस्कर को सिर्फ शांति भंग की धारा में गिरफ्तार किया, जिसके बाद गिरफ्तार आरोपी को कामा में मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया , जहां जमानत मिलने पर उसे रिहा कर दिया गया। ग्रामीण थाना प्रभारी प्रभारी कमलेश मीणा ने बताया कि आरोपी की पहचान 30 वर्षीय खान साहब निवासी बुलंदशहर,उत्तर प्रदेश के रूप में हुई थी।