रायबरेली में दो साल पहले हुई थी दरोगा की हत्‍या, दो आरोपी अरेस्‍ट


रायबरेली। उत्‍तर प्रदेश के हरचंदपुर थाना क्षेत्र में दो साल पहले हुई दरोगा की हत्‍या मामले में पुलिस ने चार आरोपियों को अरेस्‍ट करने में सफलता हासिल की है। आरोपियों ने बताया कि वायरलेस में तैनात रहे दरोगा की उन लोगों ने रास्‍ते को लेकर हुए विवाद में कुल्‍हाड़ी और गड़ासे से काट डाला था। रायबरेली पुलिस लंबे समय से इस मर्डर केस की तफ्तीश में जुटी हुई थी। हरचंदपुर थाना क्षेत्र के गंगा गंज के पास 20 अगस्त, 2018 में अमेठी में वायरलेस विभाग में तैनात दरोगा धर्मेंद्र कुमार की धारदार हथियार से हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने मामले के मुख्य आरोपी सोनू यादव को जेल भेज दिया था। लगभग दो साल बाद 15 हजार के इनामी दो आरोपियों विजय व बबलू चौरसिया को मक्षिगवां रेलवे क्रासिंग से गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपियों की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त एक कुल्हाड़ी और गड़ासे भी बरामद कर लिया गया है। फिलहाल चौथा आरोपी अभी भी पुलिस की गिरफ्त से दूर है। रायबरेली के एएसपी नित्यानंद ने बताया कि दरोगा हत्या केस में एक आरोपी को जेल भेजा जा चुका था। क्राइम ब्रांच ने दो और आरोपियों को अरेस्‍ट कर लिया है। एक आरोपी फरार है जिसकी तलाश की जा रही है। पुलिस टीम को इनाम दिया जाएगा।