शादी नहीं होने से परेशान था, नशे में की इंडिया गेट पर बम की झूठी कॉल


नई दिल्ली। मानसिक रूप से परेशान एक शख्स ने नशे में पुलिस कंट्रोल रूम में कॉल कर इंडिया गेट पर बम रखे होने की सूचना दी। उसने कहा कि 5 मिनट में यह फट जाएगा। इससे पुलिस डिपार्टमेंट में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में आस-पास के पूरे एरिया की घेराबंदी कर बम की तलाश शुरू की गई और बम स्क्वॉड को बुलाया गया। काफी तलाशी के बाद भी जब बम नहीं मिला तो कॉल करने वाले शख्स की डिटेल निकालकर पुलिस उस तक पहुंची। पता चला कि उसने नशे में गलत सूचना दी। जांच के दौरान आरोपी ने पुलिस को बताया कि वह मानसिक रूप से काफी परेशान भी था, क्योंकि 40 की उम्र होने के बावजूद अभी तक उसकी शादी नहीं हो पाई है। पुलिस ने उसके खिलाफ आईपीसी की गंभीर धाराओं में कोई केस तो दर्ज नहीं किया, लेकिन तिलक मार्ग थाने में सीआरपीसी के सेक्शन 107/51 के तहत जरूर उसके खिलाफ कार्रवाई की गई। बाद में उसे मेडिकल जांच के लिए आरएमएल हॉस्पिटल भी ले जाया गया। नई दिल्ली के डीसीपी ईश सिंघल के मुताबिक, आरोपी की पहचान फरीदाबाद के दीपाली एनक्लेव के रहने वाले राकेश मेहता (40) के रूप में हुई। मूल रूप से बिहार के मधुबनी जिले का रहने वाला राकेश पेशे से मजदूर है और फरीदाबाद में ही अपनी मां और दो अन्य भाइयों के साथ रहता है। वहीं, पर मजदूरी करके अपना काम चलाता है। सोमवार दोपहर 1:47 बजे उसने पीसीआर को कॉल करके सूचना दी कि इंडिया गेट पर एक बम रखा है, जो 5 मिनट में फट जाएगा, लेकिन कई घंटों की तलाश के बाद भी इंडिया गेट या उसके आस-पास के इलाके से कोई बम बरामद नहीं हुआ। इस बीच जब कॉल करने वाले से संपर्क नहीं हो पाया, तो पुलिस टेक्निकल सर्विलांस और कॉल डिटेल्स के जरिए उसका पता लगाने में जुट गई। कॉल करने वाले का पता गोविंदपुरी इलाके का निकला, लेकिन जब लोकल पुलिस वहां पहुंची, तो पता चला कि जिस शख्स ने कॉल की थी, वह 5-6 महीने पहले ही वहां से कहीं और शिफ्ट हो चुका था। इसके बाद पुलिस ने मोबाइल की वर्तमान लोकेशन का पता लगाना शुरू किया, जो फरीदाबाद के विनय नगर का मिला। लेकिन कॉलर वहां भी नहीं मिला। बाद में पता चला कि वह फरीदाबाद के दीपाली एनक्लेव में रहता है, जिसके बाद पुलिस वहां पहुंची और उसे अपनी कस्टडी में थाने लेकर आई, जहां पुलिस व अन्य सुरक्षा एजेंसियों की जॉइंट टीम ने उससे पूछताछ की।