कौशल भारत अभियान देश के युवाओं की आंतरिक क्षमता को बढ़ाकर उन्हें कर रहा सशक्त: अमित शाह


नयी दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बुधवार को कहा कि कौशल भारत अभियान ने पिछले पांच वर्षों में युवाओं के बीच उद्यमिता की भावना बढ़ाने में एक बड़ी भूमिका निभाई है। शाह ने यह भी कहा कि कौशल भारत अभियान सही कौशल उपलब्ध करा कर, देश के युवाओं की आंतरिक क्षमता को बढ़ा कर उन्हें सशक्त कर रहा है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘पिछले पांच वर्षों में, कौशल भारत अभियान ने युवाओं के बीच उद्यमिता की भावना को बढ़ाने में एक बड़ी भूमिका निभाई है। इसने नौकरी चाहने वालों को नौकरी देने वाला बनने के लिये प्रोत्साहित किया है। मैं इस बात को लेकर आश्वस्त हूं कि यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत के दृष्टिकोण को साकार करने में काफी मददगार साबित होगा।’’ गृह मंत्री ने विश्व युवा कौशल दिवस पर सभी को अपनी शुभकामनाएं भी दीं। इससे पहले, कौशल भारत अभियान के पांच वर्ष पूरे होने के अवसर पर प्रधानमंत्री ने एक डिजिटल कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना वायरस के समय में प्रासंगिक बने रहने का मंत्र है, ‘‘कौशल प्रदान करें, पुनर्कौशल प्रदान करें और कौशल बढ़ाएं। ’’ मोदी ने कहा कि कौशल शाश्वत है और यह समय के साथ-साथ बेहतर होता चला जाता है और आपको दूसरों से बेहतर बनाता है। प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि आज की तेजी से बदलती दुनिया में लाखों की संख्या में कौशल प्राप्त लोगों की जरूरत है और विशेष रूप से स्वास्थ्य सेवाओं में इसकी काफी संभावना है।