15 साल के लड़के ने पबजी गेम के लिए दादा के बैंक खाते से निकाल लिए 2 लाख रुपये


नई दिल्ली डेस्क। पबजी गेम के प्रति अपनी दीवानगी के चलते राजधानी दिल्ली के तिमारपुर इलाके में एक 15 साल के लड़के ने अपने दादा की पेंशन के पैसे ही उड़ा लिए, वह भी उनके बैंक खाते से। दिल्ली पुलिस ने पूरे मामले का खुलासा तो कर दिया है, लेकिन दादा अब आगे की कोई कार्रवाई नहीं चाहते हैं। दरअसल, इस 15 वर्षीय लड़के ने पबजी गेम खेलने के मकसद से पैसा जुटाने के लिए अपने दादा के बैंक खाते से पैसे निकालकर उन्हें ऑनलाइन वॉलेट में ट्रांसफर कर लिया। इस दौरान ओटीपी का डीलिट कर देता था। पीड़ित दादा की शिकायत पर दिल्ली पुलिस ने पूरे मामले का सुलझाया। डिप्टी पुलिस कमिश्नर (द्वारका) के मुताबिक, 15 साल के इस लड़के ने 2 महीने के दौरान अपने दादा के बैंक खाते से कुल 2.34 लाख रुपये निकाले हैं। हैरानी की बात यह भी है कि दोनों ही बार खाते से पैसे निकाले जाने की जानकारी दादी को नहीं लग पाई, जबकि यह ऑनलाइन ट्रांजेक्शन था। पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, यह लड़का पबजी गेम खेलने के दौरान एस लेवल तक पहुंच गया, लेकिन पैसे नहीं चुका सका और खेल छोड़ दिया। उधर, आरोपित लड़के का कहना है कि वह एस लेवल तक तो पहुंच गया, लेकिन इस बीच उसका पबजी का एकाउंट ही हैक हो गया। इसके बाद वह खेल को आगे जारी नहीं रख सका। वहीं, पीड़ित दादा के मुताबिक, उनके पास 8 मई को फोन पर एक मैसेज आया था। इसमें बैंक खाते में सिर्फ 275 रुपये होने जानकारी दी गई थी। इस पर चौंके पीड़ित दादा जब बैक गए तो पता चला कि उनके खाते से एक पेटीएम एकाउंट में 2 महीने के बीच कई बार पैसे डाले गए। इसके बाद जब पूरी जानकारी हासिल की गई तो यह रकम  2.34 लाख रुपये निकली। इसके बाद पीड़ित दादा ने दिल्ली पुलिस के पास गुहार लगाई। उत्तरी दिल्ली पुलिस डिस्ट्रिक्ट की साइबर ब्रांच की जांच के दौरान आरोपित लड़के ने बताया कि उसके नाबालिग दोस्त ने उसका पेटीएम आईडी और पासवर्ड मांगा था। जांच में यह खुलासा हुआ कि आरोपित लड़का शिकायतकर्ता का पोता है।' आरोपित लड़के ने पुलिस को बताया कि वह दादा के मोबाइल पर आए ओटीपी को डिलीट कर देता था, जिससे कि उसके दादा को पैसे के बारे में पता नहीं चले।