भाई के मर्डर का बदला लेने के लिए युवक को गोलियों से भून दिया, मास्टरमाइंड महिला गिरफ्तार


गाजियाबाद ब्यूरो। उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले में थाना मोदीनगर पुलिस ने बीती 24 अगस्त को मोदीनगर इलाके में हुईअक्षय सांगवान की हत्या के मुख्य षड्यंत्रकर्ता और मास्टरमाइंड 15 हजार की इनामी रूबी को गिरफ्तार कर लिया है। अक्षय सांगवान ने रूबी नाम की महिला के भाई की एक साल पहले हत्या की थी, जिसका बदला लेने के लिए रूबी ने अक्षय सांगवान की हत्या की स्क्रिप्ट लिख डाली और 24 अगस्त को टिबड़ा रोड पर अक्षय सांगवान को गोलियों से भून दिया गया। 
भाई की हत्या का बदला लेने को बनाई थी योजना
24 अगस्त की रात कृष्णाकुंज में घर से बुलाकर अक्षय सांगवान की गोलियों से भूनकर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में कुल 8 लोगों को नामजद किया गया था। इनमें रूबी सहित तीन लोगों पर अपराधिक षड्यंत्र रचने का आरोप लगा था। इस हत्याकांड में रूबी के पति विकास तथा एक अन्य सप्पू गुर्जर निवासी सीकरी खुर्द इस हत्याकांड से पहले ही दिल्ली की जेल में बंद हैं। जबकि एक नामजद अश्वनी निवासी पतला कोर्ट में सरेंडर कर चुका है। अश्विनी को पुलिस रिमांड पर भी लाई और उसकी निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त कार और पिस्टल बरामद किया। इनके अलावा राहुल और जितेंद्र भी गिरफ्तार किए जा चुके हैं।
मास्टरमाइंड रूबी पर था 15 हजार का इनाम घोषित
एसपी देहात नीरज कुमार जादौन ने बताया कि अक्षय हत्यकांड की मास्टरमाइंड रूबी तभी से फरार चल रही थी। उस पर 15 हजार रुपये का इनाम घोषित था। उन्होंने बताया कि गहन जांच में पता चला कि इस हत्याकांड में मुख्य साजिशकर्ता रूबी ही थी। रूबी ने 17 अप्रैल 2019 को कृष्णाकुंज में हुई अपने भाई दीपेंद्र की हत्या का बदला लेने के लिए ही अक्षय सांगवान की हत्या करने की योजना तैयार की थी और भाड़े के हत्यारों से अक्षय की हत्या कराई। जादौन ने बताया कि 15 हजार की इनामी रूबी पत्नी विकास निवासी कृष्णाकुंज तिबड़ा रोड को मंगलवार दोपहर गिरफ्तार किया गया। इस हत्यकांड में 5 आरोपी अभी भी फरार हैं। इनमें से तीन आरोपियों पर 15 हजार का इनाम घोषित है और 2 आरोपियों ने कोर्ट में सरेंडर ऐप्लिकेशन डाली है। उन्होंने बताया कि अभी नामजद के अलावा भी कई ऐसे नाम हैं जो सामने आ रहे हैं। इस पूरे मामले में अभी विवेचना जारी है। उन्हें भी जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।