दिल्ली में रेल की पटरियों के किनारे बसी झुग्गीवासियों को घर दिलाने सड़कों पर उतरी बीजेपी


नई दिल्ली ब्यूरो। रेलवे लाइनों के किनारे बसी झुग्गी बस्तियों में रहने वाले लोगों के पुनर्वास की उचित व्यवस्था करने और उन्हें दिल्ली में बनकर तैयार पड़े 50 हजार से ज्यादा पक्के फ्लैट उन्हें अलॉट करने की मांग को लेकर सोमवार को बीजेपी ने विरोध प्रदर्शन किया। दिल्ली विधानसभा के एक दिवसीय सत्र को देखते हुए विधानसभा में विपक्ष के नेता रामवीर सिंह बिधूड़ी के नेतृत्व में विधानसभा के पास ही प्रोटेस्ट किया गया। इस दौरान बीजेपी ने दिल्ली सरकार पर झुग्गियों में रहने वालों को धोखा देने और उनका वोट बैंक की तरह इस्तेमाल करने का आरोप लगाया। सोमवार को रामवीर सिंह बिधूड़ी के नेतृत्व में बीजेपी के कई नेता और कार्यकर्ता रिंग रोड पर चंदगीराम अखाड़े की रेडलाइट के पास इकट्ठा हुए और वहां से प्रोटेस्ट मार्च निकालते हुए सिविल लाइंस स्थित विधानसभा की तरफ जाने लगे, लेकिन पुलिस ने उन्हें रास्ते में ही बैरिकेड लगाकर रोक लिया। प्रोटेस्ट में प्रदेश महामंत्री कुलजीत सिंह चहल, रवींद्र गुप्ता, प्रदेश की उपाध्यक्ष योगिता सिंह, बीजेपी विधायक मोहन सिंह बिष्ट, अभय वर्मा, ओम प्रकाश शर्मा, जितेंद्र महाजन, अनिल वाजपेयी के अलावा प्रदेश के कई अन्य पदाधिकारी और कार्यकर्ता भी शामिल हुए। इसके अलावा कई झुग्गीवासियों ने भी इस प्रोटेस्ट में हिस्सा लिया। रामवीर सिंह बिधूड़ी ने कहा कि पिछले 6 साल से दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार ने एक भी झुग्गीवासी को पक्के मकान में नहीं बसाया। बिधूड़ी ने चेतावनी देते हुए कहा कि रेलवे ट्रैक के किनारे से झुग्गियों को हटाने का काम शुरू होने से पहले अगर सरकार ने झुग्गीवासियों को फ्लैट अलॉट नहीं किए, तो बीजेपी खुद उन लोगों को उनके सामान सहित खाली पड़े मकानों में सम्मानपूर्वक शिफ्ट करने का काम शुरू कर देगी।