एक मदद और बेसहारा अम्मा ने चूमा महिला कॉन्स्टेबल का हाथ, तस्वीर वायरल



  • यूपी के शाहजहांपुर में महिला कॉन्स्टेबल की तस्वीर हो रही वायरल

  • थाने पहुंची बेसहारा बुजुर्ग को कॉन्स्टेबल वैशाली ने खिलाया खाना

  • बुजुर्ग ने खाना खाने के बाद आशीर्वाद देते हुए कॉन्स्टेबल का चूमा हाथ

  • शाहजहांपुर के थाना अल्लाहगंज में तैनात हैं कॉन्स्टेबल वैशाली द्विवेदी


शाहजहांपुर। न सर छिपाने को छत मयस्सर होती है न पेट की आग बुझाने को दो जून की रोटी। ऐसे किसी बेसहारा को जब मदद मिलती है तो वह दिल खोलकर आशीर्वाद देता है। यूपी के शाहजहांपुर से ऐसी ही एक तस्वीर वायरल हो रही है। थाने में आई बुजुर्ग महिला को देखकर महिला कॉन्स्टेबल ने उसका हाल पूछा। पता चला कि बेसहारा महिला को बहुत तेज भूख लगी थी। ऐसे में महिला कॉन्स्टेबल ने तत्काल बिना कोई देर किए सबसे पहले बुजुर्ग मां को भरपेट खाना खिलाया। इस मदद पर वह भावुक हो उठीं। इसके बाद ऐसा प्रेम छलका कि बुजुर्ग ने महिला कॉन्स्टेबल का हाथ चूम लिया। दिल छू लेने वाले इन्हीं पलों को जब कॉन्स्टेबल ने सेल्फी लेकर फेसबुक पर शेयर किया तो तस्वीर जमकर वायरल होने लगी। हर कोई महिला कॉन्स्टेबल के सेवाभाव की तारीफ करता दिखा। शाहजहांपुर के थाना अल्लाहगंज में वैशाली द्विवेदी नाम की महिला कॉन्स्टेबल तैनात हैं। थाने में अकसर एक बेसहारा बुजुर्ग महिला आती रहती है। लोग इस बुजुर्ग महिला की मदद भी करते हैं। थाने में तैनात जिस पुलिसकर्मी की इस बुजुर्ग पर नजर पड़ती है, वह अपने सामर्थ्य के मुताबिक सहायता करता है। जब बुजुर्ग महिला थाने आई तब उनके ऊपर महिला कॉन्स्टेबल वैशाली द्विवेदी की नजर पड़ी। उन्होंने बुजुर्ग मां से उनकी परेशानी पूछी, तब पता चला कि उनको दो वक्त की रोटी की दरकार है। बुजुर्ग महिला को बहुत तेज भूख लगी है। ये सुनते ही महिला कॉन्स्टेबल ने भोजन का इंतजाम किया। महिला पुलिसकर्मी को खाना खिलाता देखकर बुजुर्ग मां ने कुछ देर बेहद भावुक होकर देखा। उसके बाद कॉन्स्टेबल के हाथ को बहुत प्यार से चूम लिया। सोशल मीडिया पर तस्वीर वायरल होने के बाद वैशाली द्विवेदी की जमकर सराहना की जा रही है। वहीं पुलिस विभाग के आलाधिकारी भी उनकी जमकर तारीफ कर रहे हैं। एसपी ग्रामीण अपर्णा गौतम ने फोन पर जानकारी देते हुए बताया कि महिला कॉन्स्टेबल ने काफी अच्छा कार्य किया है। सभी थानों पर इसी सोच के साथ काम करना चाहिए, जिससे पुलिस की छवि में भी सुधार आए। लाॅकडाउन में भी पुलिस ने सेवा भाव की मिसाल कायम की थी। कॉन्स्टेबल वैशाली की पहल दूसरे पुलिसकर्मियों को प्रेरित करती है।