गाजियाबाद में डकैती, विरोध पर महिला के मुंह में पेचकस डाला, घरवालों को सरिया से पीटा


गाजियाबाद ब्यूरो। कविनगर थाना क्षेत्र की अवंतिका कॉलोनी में मंगलवार देर रात आधा दर्जन बदमाशों ने एक डिपार्टमेंटल स्टोर कारोबारी के यहां लाखों की डकैती डाली। ड्राइंगरूम की खिड़की की ग्रिल काटकर रात करीब ढाई बजे घर में घुसे बदमाशों ने कारोबारी, उनकी पत्नी और बेटी को बंधक बनाकर डेढ़ घंटे तक जमकर उत्पात मचाया। कारोबारी की पत्नी ने विरोध करना चाहा तो हैवानों ने उनके मुंह में पेचकस डाल दिया। बुधवार सुबह करीब चार बजे बदमाशों के जाने के बाद पीड़ित परिवार ने किसी तरह पुलिस को सूचना दी। डकैती की सूचना पर डीएम अजय शंकर पांडेय और एसएसपी कलानिधि नैथानी सहित तमाम अधिकारी पीड़ित के घर पहुंच गए। पुलिस को शक है कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश में सक्रिय बाबरिया गिरोह ने वारदात को अंजाम दिया है। एसएसपी ने बदमाशों की धरपकड़ के लिए आठ टीमें लगाई हैं। अवंतिका कॉलोनी में कारोबारी सुरेश मित्तल पत्नी ऊषा के साथ रहते हैं। बेटी राशि मुंबई की एक कंपनी में मानव संसाधन अधिकारी (एचआर) और बेटा मोहित अग्रवाल सीए है। राशि जुलाई से घर पर ही हैं, जबकि मोहित कोलकाता वापस गए हैं। हैं। सुरेश मित्तल ने बताया कि रात ढाई बजे के करीब ऊषा टॉयलेट गई थीं। इस दौरान बदमाशों ने बाथरूम में ही हाथ-पैर बांधकर डाल दिया। ऊषा की चीख सुन वह और बेटी बाहर आए तो बदमाशों ने उन्हें भी बंधक बना लिया। सभी के हाथ में चाकू और हथियार थे।
सुरेश ने बताया कि पांच बदमाश दीवार फांदकर कुर्सी के सहारे घर में उतरे। ड्राइंग रूम की खिड़की तोड़ी और फिर लोहे की ग्रिल काटी। इसके बाद जाली उखाड़कर अंदर से खिड़की का लॉक खोलकर कमरे में दाखिल हुए। सुरेश की बेटी राशि ने बताया कि विरोध करने पर बदमाशों ने सभी को सरिया से पीटा। मां ने शोर मचाया तो एक बदमाश ने पेचकस उनके मुंह में गले तक उतार दिया। बदमाशों ने सुरेश व उनकी पत्नी को एक कमरे में बंद कर दिया, जबकि राशि को ड्राइंग रूम में रखा और फिर घर का कोना-कोना खंगाला। करीब चार बजे बदमाशों के जाने के बाद परिवार के सदस्य मदद के लिए चिल्लाए, लेकिन कमरों में बंद होने के चलते पड़ोसी आवाज नहीं सुन पाए। राशि ने किसी तरह खुद को बंधनमुक्त कर माता-पिता को भी निकाला और छत पर जाकर मदद के लिए आवाज लगाई। पीछे वाली गली में रहने वाले अमन दोस्तों के साथ घर से ही नाइट शिफ्ट का काम कर रहे थे। 
पीड़ित परिवार ने तहरीर में चार लोगों के नाम लिखे हैं। बाहर भी कुछ बदमाश होंगे। घटना डकैती की ही है। सुरेश की तहरीर पर दर्ज लूट के मुकदमे को डकैती में तरमीम करेंगे। क्राइम ब्रांच के अलावा कविनगर, सिहानी गेट, सर्विलांस और एसपी सिटी की दो टीम छानबीन में लगी हैं। बदमाशों के बारे में कुछ अहम सुराग मिले हैं। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के हापुड़ और मेरठ जिले में पूर्व में सक्रिय रहे गैंग पर शक है। जल्द ही घटना का पर्दाफाश करेंगे।- कलानिधि नैथानी, एसएसपी।