जासूसी मामले में कोर्ट ने पत्रकार राजीव शर्मा को न्यायिक हिरासत में भेजा


नयी दिल्ली। दिल्ली की एक अदालत ने सरकारी गोपनीयता कानून के तहत जासूसी मामले में गिरफ्तार स्वतंत्र पत्रकार राजीव शर्मा को रविवार को न्यायिक हिरासत में भेज दिया। पत्रकार के वकील आदिश अग्रवाल ने बताया कि न्यायाधीश ने मामले में दो सह आरोपियों -- चीनी महिला एवं नेपाली व्यक्ति -- को भी न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। वकील ने बताया कि रविवार रात उन्हें अदालत में पेश करते हुए जांच अधिकारी ने कहा कि अब आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ करने की जरूरत नहीं है। दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ ने बताया था कि 14 सितंबर को गिरफ्तार शर्मा के पास से रक्षा संबंधित कुछ गुप्त दस्तावेज मिले थे। पुलिस ने बताया था कि अन्य दो आरोपी मुखौटा कंपनियों के जरिए शर्मा को बड़ी रकम का भुगतान कर रहे थे।