कानपुर का शातिर जुगनू चोर डायलॉग बोलकर थाने से हुआ फरार, लापरवाही बरतने वाले पांच पुलिसकर्मियों पर केस दर्ज


कानपुर ब्यूरो। कानपुर पुलिस के लिए जुगनू चोर लंबे वक्त से सिरदर्द बना हुआ है। जुगनू चोर का एक फेमस डायलॉग है कि उसे देखते ही ताले मुस्कुराने लगते हैं। खैर, जुगनू चोर को काफी मशक्कत के बाद चमनगंज पुलिस ने अरेस्ट किया था। इसके बाद हवालात में बंद कर दिया था। जुगनू चोर को हवालात में बंद ही किया गया था कि उसने अपना पुराना डायलॉग दोहराया और हवालात से फरार हो गया। इसके बाद पुलिस खुद को ठगा सा महसूस कर रही है। लापरवाही बरतने वाले पांच पुलिसकर्मियों पर केस दर्ज किया गया है। चमनगंज थाना क्षेत्र में रहने वाला जावेद उर्फ जुगनू शातिर चोर है। जुगनू इतना शातिर चोर है कि वह पलक झपकते ही हाथ साफ कर देता है। जुगनू चोर फिल्मी अंदाज में चोरी की वारदात को अंजाम देता है। जुगनू चोर पर शहर के विभिन्न थानों में 37 मुकदमे हैं। जुगनू चोर एक बार फिर से पुलिस को चकमा देने में कामयाब हो गया और लॉकअप से फरार हो गया। इन सबके बीच हैरानी वाली बात तो यह है कि पुलिस जुगनू को मात्र तीन घंटे ही लॉकअप में रख सकी। सीओ त्रिपुरारी पांडेय के मुताबिक, चमनगंज थाना क्षेत्र का रहने वाला जावेद उर्फ जुगनू शातिर अपराधी है। इस पर लगभग 37 मुकदमे हैं। सोमवार सुबह उसे लगभग 5 बजे अरेस्ट किया गया था। सुबह लगभग 8 बजे के आसपास जुगनू टॉइलट जाने के बहाने गया और वहां से फरार हो गया। उसकी तलाश की जा रही है। थाने से शातिर चोर जावेद उर्फ जुगुनू के फरार होने के संबंध में लापरवाही बरतने पर पांच पुलिसकर्मियों और आरोपी पर धारा 221, 223, 224 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।