कानपुर में मास्क लगाकर आए बदमाश, तमंचे के बल पर दिव्यांग महिला से गैंगरेप



  • कानपुर में दिव्यांग महिला से गैंगरेप का मामला सामने आया है

  • मास्क लगाकर आए बदमाशों ने तमंचे के बल पर किया गैंगरेप

  • बेटी की नींद खुलने पर बदमाश हुए फरार, दर्ज हुई एफआईआर

  • दिव्यांग महिला का पति से पिछले कई साल से चल रहा है विवाद


कानपुर ब्यूरो। कानपुर में एक दिव्यांग महिला से गैंगरेप का मामला सामने आया है। मास्क लगाकर घर में घुसे दो बदमाशों ने 45 वर्षीय दिव्यांग महिला की कनपटी पर तंमचा लगा दिया। बदमाशों ने कमरे में सो रहे बेटे को जान से मारने की धमकी देते हुए दिव्यांग के साथ गैंगरेप किया। दिव्यांग महिला के बेटे की नींद खुल गई तो उसने शोर मचाना शुरू कर दिया। दोनों बदमाश जान से मारने की धमकी देते हुए फरार हो गए। पुलिस ने महिला की तहरीर पर एफआईआर दर्ज कर ली है। आरोपियों की तलाश की जा रही है। बिधनू थाना क्षेत्र स्थित एक गांव में रहने वाली दिव्यांग महिला का पति से बीते कई वर्षों से विवाद चल रहा है। महिला बेटे के साथ रह रही है और महिला का पति हमीरपुर में रहता है। मंगलवार सुबह तीन से चार बजे के बीच मास्क लगाकर दो बदमाश छत के रास्ते घर में घुस गए। इसी दौरान बदमाशों ने महिला का मुंह दबाकर दबोच लिया और वारदात को अंजाम दिया।
मास्क लगाकर घर में घुसे बदमाश
दिव्यांग महिला अपने घर के आंगन में सो रही थी। महिला का 22 साल का बेटा कमरे में सो रहा था। छत के रास्ते आए बदमाशों ने महिला का मुंह दबाते हुए कनपटी पर तमंचा लगा दिया। बेटे को जान से मारने की धमकी देने के बाद बदमाशों ने महिला से रेप किया। चीख-पुकार सुनकर कर महिला के बेटे की नींद खुल गई। बेटे के शोर मचाने पर दोनों बदमाश भाग गए।
बदमाशों को नहीं पहचान सकी महिला
पीड़ित महिला का कहना है कि दोनों बदमाशों ने मुंह पर मास्क लगाया था। इसके साथ ही अंधेरा होने की वजह से वह बदमाशों को पहचान नहीं सकी। बेटे के शोर मचाए जाने पर घर के मेनगेट की कुंडी खोलकर बदमाश भाग गए। पुलिस को घटना की जानकारी दी गई। जिसके बाद एफआईआर दर्ज की गई है। बिधनू थाना प्रभारी पुष्पराज सिंह के मुताबिक महिला की शिकायत पर एफआईआर दर्ज कर ली गई। इसके साथ ही महिला का मेडिकल परीक्षण कराया गया है। आरोपियों की तलाश की जा रही है।