कानपुर में ठगों ने एसपी के नाम से बनाई फेक आईडी फिर दोस्‍तों से मांगे पैसे


कानपुर ब्यूरो। साइबर ठग इतने बेखौफ हो गए हैं कि पुलिस अधिकारियों के नाम से फर्जी फेसबुक अकाउंट बनाने में भी नहीं घबरा रहे। फेक अकाउंट बनाने के साथ ही उनके दोस्तों और सगे संबंधियों से रुपयों की डिमांड भी कर रहे है। कानपुर जिले में तैनात एसपी पूर्वी राजकुमार अग्रवाल के नाम से एक साइबर ठग ने फेक फेसबुक अकाउंट बना लिया, और उनके दोस्तों से रुपयों की डिमांड करने लगा। फेसबुक दोस्तों ने जब इसकी सूचना एसपी राजकुमार अग्रवाल को दी तो वह हैरान रह गए। इस पूरे घटनाक्रम की जांच साइबर सेल को सौंपी है। साइबर ठगों ने एसपी पूर्वी राजकुमार अग्रवाल का फोटो लगाकर उनके नाम से फेक फेसबुक अकाउंट बना लिया। ठग एसपी की फेसबुक से जुड़े दोस्तों को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज कर उनकी फ्रेंड लिस्ट में शामिल हो गया। इसके बाद साइबर ठग मैसेज भेजकर एसपी के परिचितों से रुपयों की डिमांड करने लगा। एसपी के दोस्तों और सगे संबधियों ने पैसे मांगने वाले मैसेज की जानकारी दी तो एसपी हैरान रह गए। एसपी राजकुमार ने फौरन अपनी वास्तविक फेसबुक आईडी से अपने दोस्तों को अलर्ट कर दिया। साइबर ठग इतने शातिर हैं कि आईआईटी निदेशक अभय करदींकर और सर्विलांस प्रभारी सतीश सिंह के नाम से फर्जी फेसबुक अकाउंट बना चुके हैं। लेकिन इसके बावजूद एक भी साइबर ठग पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ सका। एसपी राजकुमार अग्रवाल ने बताया कि साइबर ठग ने मेरा फोटो लगाकर फर्जी फेसबुक आईडी बनाई है। इस मामले की जांच साइबर सेल को दी गई है। इसके साथ ही फर्जी फेसबुक आईडी को बंद करने के लिए मेल भी किया गया है। पता लगाया जा रहा है कि किसने फर्जी फेसबुक आईडी बनाई, और वह कहां का रहने वाला है।