कारोबारी को नशीला पानी पिलाकर लूटा, पैंट भी ले गए


गाजियाबाद ब्यूरो। शातिर बदमाशों ने लिंक रोड स्थित कौशांबी बस अड्डा पर कारोबारी को नशीला पानी पिलाकर 42 हजार रुपये नकद, मोबाइल व अन्य सामान लूट लिया। बदमाश उनकी पैंट तक उतार ले गए। 17 घंटे तक वह बस अड्डे पर बेहोशी की हालत में पड़े रहे और पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लगी। जोगीपाड़ा डिबाई बुलंदशहर के रहने वाले विजेंद्र कुमार सिंह का केले का कारोबार है। दो सितंबर की रात करीब साढ़े 10 बजे वह अलीगढ़ से रोडवेज की बस द्वारा कौशांबी बस अड्डा पहुंचे। यहां से उन्हें विनोद नगर दिल्ली जाना था। बस अड्डे पर एक युवक घूम-घूमकर पानी की बोतल बेच रहा था। उन्होंने उससे पानी की बोतल ली। पानी पिया, उसके बाद वह बेहोश हो गए। तीन सितंबर की दोपहर में करीब साढ़े तीन बजे उन्हें होश आया, तो अपनी हालत देखकर वह दंग रह गए। वह बस अड्डे के एक कोने में पड़े थे। उनका बैग, मोबाइल गायब था। साथ ही पैंट भी गायब थी। घर पहुंचने के लिए करनी पड़ी मशक्कत: विजेंद्र ने बताया कि होश में आने पर वह बुलंदशहर की ओर जाने वाली बस पर बैठने लगे, तो शरीर पर पूरे कपड़े न होने के कारण चालक-परिचालक ने उन्हें रोक दिया। काफी मिन्नत कर वह बस में चढ़े, तो किराया न होने पर उन्हें उतारने लगे। उन्होंने गिड़गिड़ाते हुए डिबाई पहुंचते ही पैसे देने की बात की, लेकिन परिचालक तैयार नहीं हुआ। इस पर बस में बैठे एक मुसाफिर ने उनका किराया दिया, तो उन्हें बस में सफर करने को मिला। विजेंद्र ने कहा कि वह उस मुसाफिर का जीवन भी आभारी रहेंगे। अब दर्ज कराई रिपोर्ट: विजेंद्र ने बताया है कि पूरी तरह से स्वस्थ होने के बाद वह साहिबाबाद आकर पुलिस क्षेत्राधिकारी साहिबाबाद केशव कुमार से मिले और अपनी आपबीती सुनाई। उन्होंने लिंक रोड थाना में शिकायत दी। शुक्रवार देर रात करीब 11:30 बजे अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज हुई। वहीं, थाना प्रभारी निरीक्षक शैलेंद्र प्रताप सिंह का कहना है कि रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है।