किन्नर की हत्या की साजिश रचने के आरोप में पुलिस ने पांच लोगों को किया गिरफ्तार



  • प्रयागराज पुलिस ने पांच सुपारी किलर्स को वारदात से पहले किया अरेस्ट

  • पुलिस के मुताबिक किन्नर की हत्या के लिए 4 लाख की दी गई थी सुपारी

  • किन्नर ने पहले पति को शादी के बाद दिलाया था 50 लाख का मकान

  • किन्नर से अलग हुई दूसरी किन्नर का भी साजिश में सामने आ रहा नाम


प्रयागराज। प्रयागराज में एक किन्नर की हत्या की साजिश रचने के आरोप में पुलिस ने पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। करेली पुलिस और एसओजी की टीम ने मिलकर किन्नर की हत्या की योजना बनाने वाले सुपारी किलर गैंग के पांच युवकों को दबोचा है। आरोप है कि युवकों ने सदियापुर क्षेत्र में छोटी नाम की एक किन्नर की हत्या की साजिश रची थी। पुलिस को पता चला है कि वारदात के बाद किन्नर अखाड़े की महामंडलेश्वर पर हत्या की तोहमत डालने की तैयारी थी। करेली पुलिस और एसओजी टीम ने हत्या की योजना बनाने वाले पांच आरोपियों को मछली मंडी के पास गिरफ्तार किया है। पुलिस ने पकड़े गए सुपारी किलर्स के पास से दो देसी तमंचा, दो जिन्दा कारतूस, 11 देसी बम और छह मोबाइल फोन बरामद किए हैं। बता दें कि चार लाख रुपए में हत्या की सुपारी लेकर युवक वारदात की योजना बना रहे थे। इसी दौरान पुलिस और एसओजी टीम ने इमरान, जीशान, आकिब, जैनुल और मोनू को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के बाद जेल भेज दिया है। साजिश रचने वाले आरोपियों से पूछताछ में पता चला है कि इस मामले में पहले पति और देवर के साथ एक किन्नर की भूमिका संदिग्ध है। पहले पति और देवर के अलावा छोटी किन्नर से अलग हुई शिवानी किन्नर ने रास्ते से हटाने के लिए साजिश रची थी। इन तीनों ने मिलकर सुपारी किलर गैंग को छोटी किन्नर की हत्या के लिए चार लाख रुपये दिए। छोटी किन्नर ने दरियाबाद के रहने वाले अहमद से पहली शादी की थी। छोटी किन्नर ने अहमद से शादी के बाद एक मकान दिलवाया, जिसकी कीमत 50 लाख रुपये से ज्यादा है। शादी के कुछ दिन बाद ही छोटी किन्नर और अहमद के बीच अलगाव हो गया। इसके बाद छोटी किन्नर अहमद से अपने मकान का हिस्सा मांगने लगी, जो अहमद को नागवार गुजर रहा था। इसी बीच अहमद और उसके भाई इमरान की मुलाकात छोटी किन्नर से अलग होने वाली शिवानी किन्नर से हुई। शिवानी को छोटी किन्नर के मरने के बाद गद्दी मिल जाती। इसलिए तीनों ने मिलकर उसकी हत्या की साजिश रची। हालांकि वे कामयाब नहीं हो पाए। प्रयागराज के एसएसपी अभिषेक दीक्षित ने बताया, 'इस मामले में सुपारी किलर गैंग के पांच सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया गया है। उनसे चार लाख रुपये में छोटी किन्नर की हत्या का सौदा किया गया था। प्लानिंग यह थी कि छोटी किन्नर की हत्या का आरोप किन्नर अखाड़े की महामंडलेश्वर टीना पर लगा दिया जाएगा।'