किशोर ने चलती ट्रेन के आगे मासूम को फेंका, इंजन में फंसे बालक की लोको पायलट ने बचाई जान


आगरा ब्यूरो। उत्तर मध्य रेलवे आगरा मंडल के असिस्टेंट लोको पायलट अतुल आनन्द की इस समय हर ओर प्रशंसा हो रही है। उनकी सूझबूझ से एक दो साल के मासूम बच्चे की जान बच गई है। ट्रेन के इंजन में फंसे दो साल के बच्चे का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। सीनियर डीसीएम एस. के. श्रीवास्तव के अनुसार अतुल आनन्द ने रेलवे का मान बढ़ाया है। अतुल आनन्द अच्छे कार्य के लिए पहले भी पुरस्कार प्राप्त कर चुके हैं। फरीदाबाद के वल्लभगढ़ रेलवे स्टेशन से चली मालगाड़ी के आगे 21 सितंबर दोपहर दो बजकर 21 मिनट पर एक 14 से 15 साल के किशोर ने एक दो साल के मासूम को उछाल कर ट्रैक पर फेंक दिया। उस समय ट्रेन पर आगरा मंडल के लोको पायलट दीवान सिंह और असिस्टेंट लोको पायलट अतुल आंनद मौजूद थे। असिस्टेंट लोको पायलट अतुल आनन्द द्वारा किशोर को दो साल के मासूम को रेल ट्रैक पर फेंकता देख उन्होंने तत्काल ब्रेक लगाए और बच्चे को बचा लिया। रेस्क्यू के दौरान का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। लोको पायलट ने आला अधिकारियों को पूरे घटनाक्रम की जानकारी दी है। लोको पायलट दीवान सिंह असिस्टेंट लोको पायलट अतुल आनन्द के साथ हरियाणा के फरीदाबाद जिले के बल्लभगढ़ स्टेशन से मालगाड़ी संख्या E/box लोको संख्या 23668+23314/et को लेकर 21 तारीख की दोपहर ढाई बजे निकले थे। बल्लभगढ़ एडवांस स्टेटर के पास 1499/13 किमी पर अचानक एक 14 से 15 साल के किशोर ने एक डेढ़ से दो साल के बच्चे को उछाल कर ट्रैक पर फेंक दिया। लोको पायलट ने तत्काल ब्रेक का इस्तेमाल किया और जब असिस्टेंट लोको पायलट गाड़ी से उतरा तो बच्चा ट्रेन के इंजन के पहियों के बीच फंसा हुआ था। हालांकि बच्चा सकुशल था पर बहुत डर गया था। पायलट ने उसे इंजन से निकाल कर उसकी मां के सपुर्द कर दिया। इस पूरी घटना की जानकारी उसने आगरा छावनी स्टेशन पर वरिष्ठ मंडल विद्युत अभियंता उत्तर मध्य रेलवे को वीडियो समेत लिखित जानकारी दी है। पूरा मामला सोशल मीडिया पर आने के बाद जब हमने आगरा रेलवे के सीनियर डीसीएम और पीआरओ संजीव श्रीवास्तव से जानकारी का प्रयास किया तो उन्होंने बताया कि इस मामले की कोई लिखित जानकारी उनके पास नहीं है पर पायलट ने रेलवे का मान सम्मान बढ़ाया है। वो बधाई के पात्र हैं और हम उनके इस काम की जितनी तारीफ करें वो कम है। उत्तर मध्य रेलवे कर्मचारी संघ आगरा मंडल ने इस सराहनीय कार्य के लिए अतुल आनंद को बधाई दी है। पदाधिकारियों का कहना है कि आगरा मंडल के असिस्टेंट लोको पायलट अतुल आनंद ने एक छोटे बच्चे की जान बचा कर उसकी मां को सौंप कर उसकी मां को उपहार दिया है।इससे पहले उत्कृष्ट कार्य के लिए महाप्रबंधक द्वारा अतुल आनंद को अच्छे काम के लिए पुरस्कृत किया जा चुका है।