ऑनलाइन ऑर्डर किया डोसा, अकाउंट से निकल गए 1.15 लाख



  • दिल्ली में ऑनलाइन डोसा ऑर्डर करना एक शख्स को पड़ा महंगा

  • पीड़ित के खाते से निकाल लिए गए 1.15 लाख रुपये

  • दिल्ली के रोहिणी इलाके का है मामला


नई दिल्ली ब्यूरो। अगर फेसबुक या अन्य सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स पर मशहूर रेस्त्रां के नाम से खाने- पीने का आकर्षक ऑफर देखें, तो सावधान हो जाएं। साइबर चीटर्स ने साइबर फ्रॉड का नया ट्रेंड शुरू किया है। ये लोग जाने-माने रेस्ट्रॉन्ट्स के नाम, लोगो, डिजाइन को हू-ब-हू बनाकर सोशल मीडिया पर एक थाली के साथ दो थाली का ऑफर देते हैं। उसी में एक मोबाइल नंबर होता है, जिस पर तुरंत कॉल करके ऑर्डर करने को कहा जाता है। जैसे ही आप कॉल करेंगे, ऑर्डर की डिटेल भरने के लिए लिंक आएगा। उसके बाद क्लिक करते ही आपका अकाउंट खाली। दरअसल, इन दिनों तेजी से दिल्ली- एनसीआर में लोगों को ठगी का शिकार बनाया जा रहा है। ताजा मामला नॉर्थ रोहिणी का है। यहां एक कारोबारी को डोसा के लिए मशहूर साउथ इंडियन रेस्त्रां की दो थाली एक लाख 15 हजार की पड़ी। फिर भी थाली उन तक नहीं पहुंची। इस बारे में उन्होंने पुलिस में केस दर्ज कराया है। जानकारी के मुताबिक, राम किशोर जैन परिवार के साथ सेक्टर- 5 में रहते हैं। रोहिणी सेक्टर- 7 में उनकी शॉप है। डोसा के लिए 5 सितंबर को फेसबुक पर बुक नाउ का ऑप्शन मिला था। उसमें एक थाली के साथ दो थाली फ्री थीं। क्लिक करने पर कॉल का ऑप्शन आया। उसके बाद एक लिंक आया। मोबाइल पर एक्सेप्ट कर लिया। उसके पास एक अकाउंट की डिटेल भरने के लिए ऑप्शन आया। कुछ ही देर में 50 हजार कट गए। जैसे ही कारोबारी ने उस नंबर पर कॉल किया, उसने रेस्त्रां का सेल्स एग्जीक्यूटिव बनकर भरोसा दिया कि पैसे वापस आपके अकाउंट में आ जाएंगे, लेकिन बजाय आने के अकाउंट से पैसे निकलते रहे। कुल 1.15 लाख रुपये निकल गए। इस बाबत उन्होंने रेस्त्रां जाकर कंप्लेंट की। उन्होंने यह कहकर पल्ला झाड़ लिया कि उनकी फेसबुक आईडी हैक है, इस बारे में उन्होंने पुलिस को कंप्लेंट की हुई है। वहीं ठगी का शिकार बने कारोबारी ने रोहिणी पुलिस थाने में केस दर्ज कराया है।