पत्नी के साथ था अवैध संबंध का शक, दोस्त संग मिलकर सिर धड़ से किया अलग


गिरिडीह। 12 दिनों पहले गिरिडीह में मिली सिर कटी लाश की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। इस हत्याकांड को अवैध संबंध के शक और पैसे के लेन-देन में अंजाम दिया गया था। हत्या के आरोपियों ने मृतक को झांसा दिया और फिर गिरिडीह लेकर आए। गांजा-शराब के नशे में धुत्त कर बहुत ही बेरहमी से उसकी हत्या की थी। जानकारी के मुताबिक, उत्तर प्रदेश के भदोही में गोपीगंज थाना इलाके के रहने वाले सत्येंद्र नाथ मिश्रा उर्फ पंडित को चाकू से गर्दन को रेतकर मार डाला। यही नहीं मामले का खुलासा नहीं हो इसलिए सिर और धड़ को दूर-दूर फेंक दिया था। घटना का खुलासा पुलिस के गिरफ्त में आए हीरोडीह थाना इलाके के मो. इब्राहिम अंसारी से पूछताछ में किया है। इब्राहिम की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने हत्या की साजिश में इस्तेमाल मोबाइल, दो चाकू समेत कई सामान बरामद किया है। इस गिरफ्तारी की पुष्टि एसपी अमित रेणू ने की है। बताया गया कि लाश मिलने का बाद से ही एसपी ने खोरीमहुआ एसडीपीओ नवीन कुमार सिंह के नेतृत्व में एसआईटी गठित की। एक तरफ एसआईटी के अधिकारी लगातार खोजबीन में जुटे थे दूसरी और गिरिडीह पुलिस की टेक्निकल टीम भी जांच कर रही थी। 
पुलिस लगातार कर रही थी मामले की जांच
वारदात वाली जगह और उसके आसपास के इलाके में एक्टिव मोबाइल का कॉल डाटा को टेक्निकल टीम खंगाल रही थी। इसी छानबीन में यह साफ हुआ कि मृतक यूपी का है रहने वाला है। इसके बाद परिजनों से सम्पर्क किया गया। सूचना पर मृतक के बड़े भाई हरेंद्रनाथ मिश्र मौके पर पहुंचे और उन्होंने मृतक की पहचान की। इसके बाद इब्राहिम उर्फ गुर्जर को पचम्बा थाना इलाके से गिरफ्तार किया गया। शुक्रवार को पकड़ाए इब्राहिम ने इस सनसनीखेज वारदात का खुलासा किया।
गिरफ्तार आरोपी ने पुलिस को बताया क्यों रची गई मर्डर की साजिश
इब्राहिम ने बताया कि जमुआ थाना इलाके में उसका एक दोस्त रहता था। जिसकी दोस्ती सत्येंद्र नाथ उर्फ पंडित से भी थी। इस दौरान उसके दोस्त ने पंडित से दो लाख रुपये बतौर उधारी लिया। इसी रकम को मांगने के लिए पंडित अक्सर उसके दोस्त के घर आता। इब्राहिम के मुताबिक, इसी बीच उसके दोस्त को शक हुआ कि पंडित से उसकी पत्नी के अवैध संबंध हैं। इसी से नाराज होकर उसने हत्या की साजिश रची। फिलहाल पुलिस मामले का खुलासा होने के बाद आगे की कार्रवाई में जुटी हुई है।