सीतापुर में किशोरी के साथ पांच लोगों ने किया गैंगरेप, मीडिया के सामने आया मामला तो पुलिस की टूटी नींद!



  • सीतापुर में किशोरी के साथ गैंगरेप का मामला सामने आया है, पुलिस पर लापरवाही का आरोप

  • मीडिया के सामने आया मामला तो पुलिस कार्रवाई में जुटी, एसपी बोले- लापरवाही बरतने वालों पर होगी कार्रवाई

  • एसपी के निर्देश पर सीतापुर पुलिस ने दो नामजद समेत अन्य पर केस दर्ज कर लिया है


सीतापुर। कानून-व्यवस्था के पुख्ता होने के दावों के बीच उत्तर प्रदेश में होने वाली हर आपराधिक घटना पोल खोलकर रख देती है। सीतापुर जिले में एक किशोरी से गैंगरेप का मामला सामने आया है। आरोप है कि इलाके के ही पांच लोगों ने किशोरी के साथ सामूहिक दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया। पीड़िता का आरोप है कि आरोपियों ने वारदात का वीडियो भी बनाया। यही नहीं, मामले की जानकारी किसी को भी देने पर इस वीडियो को वायरल कर देने की धमकी दी। हैरान करने वाली बात तो यह है कि पीड़िता का कहना है कि वह जब पुलिस के पास न्याय मांगने पहुंची तो उसे टरका दिया गया। मामला मीडिया में आया तब जाकर पुलिस की नींद टूटी। केस दर्ज किया गया। अब पड़ताल की जा रही है। मामला मीडिया के संज्ञान में आने के बाद एसपी के निर्देश पर पुलिस ने दो नामजद समेत अन्य पर केस दर्ज कर लिया है। पुलिस का कहना है कि एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है और शेष अन्य की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की 7 टीमें लगाई गई हैं। एसपी ने मामले में लापरवाही बरतने वाले पुलिसकर्मियों पर जांच के बाद कार्रवाई की बात भी कही है।
'गैंगरेप कर बनाया वीडियो'
घटना सीतापुर के इमलिया सुल्तानपुर थाना क्षेत्र की है। यहां के एक गांव की रहने वाली 13 वर्षीय किशोरी के साथ दुष्कर्म की वारदात हुई। 7 सितंबर की शाम पीड़िता अपने छोटे भाई के साथ बाजार गई थी। पीड़िता का कहना है कि उसी दौरान वहां इलाके के 2 लोग आ गए और उसे दबोचकर गन्ने के खेत में खींच ले गए। यहां तीन अन्य लोग वहां पर पहले से मौजूद थे। पीड़िता के मुताबिक, इन सभी ने गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया और घटनाक्रम का वीडियो भी मोबाइल में बना लिया। आरोपियों ने किशोरी को धमकी दी कि यदि उसने यह बात किसी को भी बताई तो वे वीडियो क्लिप को सोशल मीडिया पर वायरल कर देंगे। इसके बाद आरोपी मौके से फरार हो गए। गैंगरेप की घटना के बाद पीड़िता की हालत बिगड़ गई और वह भाई के साथ अपने घर पहुंची। पीड़िता की हालत स्थिर होने के बाद वह इलाके की चौकी पर मामले की शिकायत लेकर गई। यहां पुलिस ने उसे टरकाकर वापस घर भेज दिया। परिवारवालों के मुताबिक, पीड़ित अपने छोटे भाई के साथ घर पर अकेली रहती थी। पीड़िता का पिता और उसका बड़ा भाई दहेज हत्या के आरोप में जेल में सजा काट रहा है। पीड़िता की मां की कुछ समय पहले ही मौत हो चुकी है। पुलिस की लापरवाही से आहत पीड़िता ने मीडिया का सहारा लिया। गैंगरेप की घटना जानकारी मीडिया के संज्ञान में आते ही पुलिस हरकत में आई और एसपी के निर्देश पर पुलिस ने मामले में तहरीर लेकर केस दर्ज किया।
तलाश के लिए 7 टीमों का गठन
एसपी आरपी सिंह का कहना है कि पीड़िता की तहरीर के आधार पर 2 नामजद समेत अन्य अज्ञात लोगों के खिलाफ गैंगरेप और एससी/एसटी ऐक्ट की संगीन धाराओं के तहत केस दर्ज कर एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस ने बताया कि शेष अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की 7 टीमें लगाई गई हैं और जल्द ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा।