सूरत के बिल्डर प्रकाश भलानी ने बेघरों को रहने के लिए दिए 42 फ्लैट्स



  • सूरत के ओलपाड उमरा में रुद्राक्ष लेक पैलेस में बिल्डर ने बनाए हैं फ्लैट्स

  • कोरोना वायरस के चलते नहीं बिके फ्लैट तो बेघर लोगों के रहने के लिए खोले दरवाजे

  • सिर्फ 1500 रुपये लेते हैं मेंटीनेंस, 42 परिवार रह रहे हैं

  • सूरत में रोजगार की तलाश में बाहर से आए लोगों को मिला आसरा


सूरत। पूरी दुनिया समेत भारत में भी कोरोना वायरस का संकट छाया है। कोरोना काल में कई लोगों की नौकरी चली गई तो कई बेघर हो गए। सैकड़ों मजदूर सड़क पर सोने को मजबूर हो गए। ऐसे में गुजरात के सूरत में एक बिल्डर ने ऐसी मुश्किल में तमाम बेघर और बेसहारा लोगों को अपने अपार्टमेंट में सहारा दिया। बिल्डर प्रकाश भलानी ने अपनी खाली पड़ी बिल्डिंग में 42 परिवारों को रहने की जगह दी। बिल्डर प्रकाश भलानी ने बताया कि फ्लैट में रहने वाले लोगों से सिर्फ मैंटीनेंस के 1500 रुपये लिए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि ओलपाड के उमरा में रुद्राक्ष लेक पैलेस नाम की बिल्डिंग उन्होंने बनाई थी। प्रॉजेक्ट तैयार हो गया लेकिन कोरोना काल के चलते फ्लैट्स के खरीदार नहीं आए। खाली पड़े फ्लैट्स उन्होंने बेघर लोगों को देने का फैसला लिया। 
बेरोजगार लोगों को मिला सहारा
प्रकाश ने बताया कि अपार्टमेंट में 92 फ्लैट हैं, इनमें से 42 फ्लैटों को लोगों के रहने के लिए खोल दिया गया है। यहां पर ज्यादातर वे लोग रह रहे हैं जो कोरोना काल में बेरोजगार हो गए। वे बाहरी इलाकों के हैं और सूरत में रोजगार की तलाश में आए थे। अब रोजगार जाने के बाद उनके पास रहने की जगह नहीं थी।