योगी सरकार के 'कुर्की फॉर्म्युले' के आगे फफक पड़े जिला पंचायत अध्यक्ष, बोले- यह अन्याय है


देवरिया। उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले में जिला पंचायत अध्यक्ष राम प्रवेश यादव की करोड़ों की संपत्ति जब्त कर ली गई है। संपत्ति कुर्क होते देख राम प्रवेश यादव रो पड़े। राम प्रवेश ने कहा कि मौजूदा सरकार प्रताड़ित कर रही है। राम प्रवेश ने अपनी पैतृक संपत्ति को वापस पाने के लिए न्यायालय की शरण लेने की बात कही है। अपहरण और गैंगस्टर ऐक्ट के आरोपी जिला पंचायत अध्यक्ष राम प्रवेश यादव की अमेठी गांव स्थित 16 करोड़ की संपत्ति को कुर्क कर लिया गया है। इसके बाद जिला पंचायत अध्यक्ष का पूरा परिवार खुले आसमान के नीचे रहने को मजबूर हो गया है। अपनी पैतृक संपत्ति को कुर्क होते देख जिला पंचायत अध्यक्ष ने कहा, 'प्रशासन को मेरी कमाई हुई संपत्ति कुर्क करनी चाहिए थी। मेरी पुश्तैनी संपत्ति को कुर्क करके हमे प्रताड़ित किया जा रहा है।'
साजिश के तहत की गई यह कार्रवाई'
राम प्रवेश ने अपना बचाव करते हुए कहा है कि उनका ईंट भट्ठा 1992 से एवं लेयर फॉर्म 2016 से चल रहा है। जिला पंचायत अध्यक्ष ने यह भी कहा, '2018 के बाद से मेरी बनाई हुई संपत्ति कुर्क करनी चाहिए थी।' जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्क की गई संपत्ति में शामिल फार्च्यूनर, ट्रैक्टर ट्रॉली, चार दो पहिया वाहनों में से कुछ 2018 के बाद ही खरीदे गए थे। हालांकि, जिला पंचायत अध्यक्ष ने कहा है कि यह कार्रवाई नियम विरुद्ध है और साजिश के तहत की गई है। उधर, एसपी डॉ. श्रीपति मिश्र ने बताया कि जिला मैजिस्ट्रेट कोर्ट के आदेश के बाद संपत्ति कुर्क की गई है।