आगरा में दो नाबालिगों से रेप की वारदात, पुलिस के सामने ​डेढ़ लाख लेकर समझौता करने का बनाया गया दबाव!



  • आगरा जिले के दो इलाकों में नाबालिग लड़कियों के साथ रेप की घटनाएं

  • आगरा के फतेहाबाद और एत्माद्दौला क्षेत्र में दर्ज हुए नाबालिग से रेप के मामले

  • एत्माद्दौला क्षेत्र में हुई घटना के बाद आरोपी के परिवार ने पीड़िता पर बनाया समझौते का दबाव


आगरा ब्यूरो। आगरा में अलग अलग थाना क्षेत्रों में नाबालिग लड़कियों के साथ रेप की दो घटनाओं से पुलिस महकमे में खलबली मच गई है। पहला मामला फतेहाबाद कस्बे में सामने आया, जहां 10 साल की नाबालिग के साथ पड़ोस के ही 16 वर्षीय युवक ने दुष्कर्म किया। पीड़िता के पिता की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी है। वहीं शहरी क्षेत्र के थाना एत्माद्दौला में 40 साल के एक अधेड़ पर 16 साल की नाबालिग के साथ रेप करने का मामला दर्ज किया गया है। इस मामले में आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। बताया जा रहा है कि इस इलाके में हुए रेप के मामले में आरोपी के परिवार ने पीड़िता पर पुलिस के सामने डेढ़ लाख रुपये में सुलह करने का दबाव बनाया था। मिली जानकारी के अनुसार, एत्माद्दौला क्षेत्र में 16 साल की किशोरी से रेप के इसी मामले में पुलिस अपनी जांच आगे बढ़ा रही है। बताया जाता है कि इस मामले में आरोपी पड़ोसी किशोरी को मंगलवार रात काम के बहाने अपने बाड़े में बुलाकर ले गया था। वहां पहले से एक युवक मौजूद था। किशोरी को बुलाकर ले गया व्यक्ति अंदर रह गया और दूसरा युवक बाहर गेट पर खड़ा हो गया। आरोप है कि इसके बाद आरोपी ने किशोरी के साथ दुष्कर्म किया। इस घटना के करीब एक घंटे बाद किशोरी बदहवास हालत में घर पहुंची। उसने अपने परिवार को पूरी घटना बताई।
रसूखदार लोगों ने बनाया दबाव
वारदात के बाद परिवार के लोगों ने आरोपी को पकड़कर पुलिस को सौंप दिया। वहीं पैसे के बल पर आरोपी के परिवार ने समझौते के लिए पीड़िता पर दबाव बनाना शुरू किया। पुलिस की मौजूदगी में डेढ़ लाख रुपये लेकर समझौते का दबाव बनाया गया। इसे लेकर मंगलवार रात 10 बजे तक थाने में पंचायत होती रही। बाद में थाना प्रभारी उदयवीर ने बताया कि यह सही है कि आरोपी को मंगलवार रात को ही पुलिस ने गिरफ्तार किया था। लेकिन आरोप के बावजूद पीड़िता के परिवार ने इस मामले में तहरीर नहीं दी थी।
थाना प्रभारी ने किया पंचायत से इनकार
बाद में जब थाना प्रभारी ने खुद पुलिस की ओर से मुकदमा लिखाने की बात कही तो बुधवार सुबह पीड़िता पक्ष की तहरीर पर मुकदमा लिखा गया। थाने में किसी तरह के समझौते या पंचायत होने का थाना प्रभारी ने खंडन किया है। उनका कहना है कि दोपहर में ही पीड़िता का मेडिकल भी करा लिया गया है और गिरफ्तार आरोपी को जेल भेज दिया गया है।