बकरा चोरी के आरोप में युवक को जेल, पिता के सामने पुलिस ने रख दी शर्त- बेटा ले जाओ या बकरा



  • बकरा चोरी होने पर शख्स ने पुलिस में दर्ज कराई थी शिकायत

  • पुलिस ने शिकायतकर्ता को चोरी के आरोप में जेल में डाल दिया

  • बेटे को छुड़ाने पहुंचे शिकायतकर्ता के सामने पुलिस ने रखी शर्त

  • पुलिस ने कहा, अगर बेटा ले जाना है तो बकरा छोड़ना पड़ेगा


ग्रेटर नोएडा। उत्तर प्रदेश के नोएडा जिले के दनकौर में पुलिस पर बकरा रिश्वत के रूप में लेने का मामला सामने आया है। लोगों ने मामले की शिकायत एसीपी से की है। जानकारी के मुताबिक, एसीपी से की गई शिकायत में बिलासपुर के कुछ लोगों ने आरोप लगाया है पिता से नाराज एक युवक ने 20 अक्टूबर को साथी के साथ मिलकर अपने पिता का बकरा चुरा लिया था। पिता ने बकरा चोरी की शिकायत पुलिस से की थी। पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए बकरे को बेचने से पहले ही दोनो युवकों को दबोच लिया। पीड़ित ने पुलिस से अपने बेटे को रिहा करने की गुहार लगाई। आरोप है कि इस दौरान वहां उपस्थित पुलिसकर्मियों ने शर्त रखी कि बकरा ले गए तो बेटे को जेल जाना पड़ेगा और यदि बेटा ले जाना है तो बकरे को पुलिस के ही पास छोड़ना पड़ेगा।
कुछ लोग ने कई दिन पहले पुलिस पर बकरा बेचने के संबंध में मौखिक शिकायत की है। मामले की जांच की जा रही है। यदि जांच में दोषी पाया जाता है तो हुआ तो मामले में कार्रवाई की जाएगी।
अब्दुल कादिर , एसीपी ग्रेटर नोएडा
पुलिस ने नकारे आरोप
जिसके बाद पिता बकरे को पुलिस चौकी में छोड़कर अपने बेटे को घर ले गया। इस संबंध में बिलासपुर चौकी इंचार्ज संजीव राठी का कहना है कि पुलिस को देखकर चोर बकरा छोड़कर फरार हो गए थे। पुलिस पर लगाए गए आरोप गलत हैं।