दिल्ली कांग्रेस ने इंदिरा जी के शहीदी दिवस को किसान अधिकार दिवस के रुप में मनाया


नई दिल्ली ब्यूरो। दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार ने पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न श्रीमती इंदिरा गांधी की पुण्यतिथि पर आज शक्ति स्थल, राजघाट और प्रदेश कार्यालय, राजीव भवन में इंदिरा की तस्वीर पर पुष्पाजंलि अर्पित की। चौ0 अनिल कुमार ने महर्षि वाल्मीकि के प्रकटोत्सव और सरदार वल्लभभाई पटेल के जन्म जंयती पर उनकी तस्वीर पर भी पुष्पाजंलि दी। इस अवसर पर बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता और नेता मौजूद थे, जिन्होंने कोविड-19 के दिशा निदेर्शों का पालन करते हुए महर्षि वाल्मीकि जी, इंदिरा जी और सरदार वल्लभ भाई पटेल को राजीव भवन में पुष्पांजलि अर्पित की। आज सभी जिला कांग्रेस कमेटियों को किसान विरोधी बिलों के खिलाफ किसान अधिकार दिवस के रुप सत्याग्रह कार्यक्रम भी आयोजित किए गए। चौ0 अनिल कुमार ने कापसहेड़ा और नजफगढ़ जिला कांग्रेस कमेटी में इंदिरा जी की पुण्यतिथि पर किसान अधिकार दिवस के रुप में आयोजित बैठक को सम्बोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी जी और श्री राहुल गांधी जी के आव्हान पर केन्द्र की मोदी सरकार द्वारा संसद में पास तीनों किसान विरोधी बिलों का विरोध करते है जिसका दिल्ली की अरविन्द सरकार समर्थन कर रही है।


चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि मोदी और अरविंद दोनो सरकारे जो कोविड-19 महामारी के प्रसार को रोकने सहित सभी मोर्चों पर विफल रही हैं। संसद में किसान विरोधी तीनों बिलों को पास करके कृषि निजी हाथों में सौपने किसानों के अधिकारों को कुचलने का काम किया है, जिससे न्यूनतम समर्थन मूल्य के अभाव में असहाय किसानों का शोषण होगा, और किसानां उनकी फसल का उचित दाम नही मिलेगा। मोदी सरकार के किसान विरोधी कानूनों के द्वारा किसान असहाय हो गए है।चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि मोदी और अरविंद दोनों सरकारों ने लोगों के जीवन को इतना नष्ट कर दिया है कि अब कार्यकर्ता, किसान, महिलाएं और युवा कांग्रेस पार्टी की ओर देख रहे हैं क्योंकि यह दोनो सरकार सभी मोर्चों पर विफल रही है। उन्होंने कहा कि लोगों की जिंदगी को दयनीय स्थिति से उबारने के लिए जमीनी स्तर पर काम करना होगा ताकि उन्हें मोदी सरकार द्वारा सृजित की गई कठिनाईयों से बाहर निकाला जा सके। चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि अरविंद सरकार, जिसने चुनाव के दौरान लोगों से कई खोखले वादे किए हैं, आज दिल्ली को लोक मामलों इंडीएक्स-2020 द्वारा देश के सबसे खराब शासित राज्यों में से एक के रूप में चुना गया है, जिसको पब्लिक अफेयर सेन्टर ने इसरो के पूर्व अध्यक्ष के कस्तूरीरंगन द्वारा जारी किया गया। सबसे खराब शासित राज्यों में भाजपा शासित उत्तर प्रदेश सरकार भी शामिल है, जो यह साबित करती है कि केवल कांग्रेस ही केंद्र और राज्यों में सक्षम और स्थिर सरकारें प्रदान कर सकती है।


 चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि मोदी और अरविंद दोनों सरकारों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करके कांग्रेस पार्टी उनकी विफलताओं और निष्क्रियता जैसे नोटबंदी, आर्थिक व्यवस्था का चरमराना और कोविड-19 महामारी लॉकडाउन के कुप्रबधंन के कारण प्रवासी भारतीयों की दुर्दशा हो, या दिल्ली में गंभीर प्रदूषण का उच्च स्तर हो उन्हे हर मोर्चे पर आईना दिखा रही है।  चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि मोदी और अरविन्द दोनों सरकारों की निष्क्रियता के कारण कुशासन, अन्याय, किसानों की दुर्दशा और लोगों की आजीविका नष्ट हो गई है, कांग्रेस पार्टी दोनों सरकारों के खिलाफ खिलाफ अपनी लड़ाई को और मजबूत करेगी।