एक ही कार को 12 बार चोरी कर ओएलएक्स पर बेचा, गिरफ्तार


नोएडा। अपने दोस्त की कार को ओएलएक्स पर ऐड पोस्ट कर 12 बार बेचने वाले एक जालसाज को नोएडा थाना सेक्टर-24 पुलिस ने बुधवार को सेक्टर-22 के पास से गिरफ्तार किया। आरोपी के कब्जे से कार समेत फर्जी आधार व पेन कार्ड के अलावा कैश बरामद हुआ है। पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपी को कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया। एसीपी सेकंड रजनीश वर्मा ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी की पहचान मनोत्तम त्यागी उर्फ मनू त्यागी निवासी तिगड़ी गांव के रूप में हुई। आरोपी मूलरूप से ग्राम अमरोहा का रहने वाला है। आरोपी के कब्जे से फर्जी नंबर प्लेट लगी वैगनआर कार, दो मोबाइल फोन, फर्जी पैन कार्ड व फर्जी आधार कार्ड और 10 हजार 720 रुपये कैश बरामद हुए हैं।
यूपी और उत्तराखंड में दर्ज हैं दर्जनों केस
एसीपी ने बताया कि बरामद कार उसके दोस्त अंकुर त्यागी निवासी मुरादाबाद की है। आरोपी अगस्त में उत्तराखंड की जेल से फ्रॉड के मामले में परोल पर छूटकर आया है। उस पर यूपी और उत्तराखंड में दर्जनों केस दर्ज हैं। आरोपी के खिलाफ नोएडा के थाना सेक्टर-39 में हत्या व डकैती का भी केस दर्ज है। पुलिस पूछताछ में सामने आया है कि वारदात शामिल इसका अन्य साथी उत्तराखंड जेल में बंद है। आरोपी किसी भी शख्स को सस्ते दामों में गाड़ी बेच देता है। गाड़ी बेचने से पहले डुप्लीकेट चाबी बनवा कर जीपीएस लगवाता है, जिसमें एक महीने तक डेटा रहे। गाड़ी बेचने के बाद जीपीएस के जरिये कार की लोकेशन चेक करता रहता है। जैसे ही मौका लगता है गाड़ी चोरी कर फरार हो जाता है। फिर उसी गाड़ी को किसी दूसरे शख्स को बेचते है। वह गाड़ी का रजिस्ट्रेशन दूसरे शख्स ने नाम ट्रांसफर नहीं करता है। वह अपने दोस्त की वैगनआर कार 12 बार चोरी कर बेच चुका है। पुलिस पूछताछ में पता चला है कि आरोपी टोकन मनी लेकर खरीददार को कभी कागजात के फोटो कॉपी तो कभी मिस्त्री से दिखाने का झांसा देकर फरार हो जाता था।
कार बाजार में बेची कार तो पकड़ में आया
सेक्टर-117 सोरखा गांव निवासी जीते यादव सेक्टर-12 में कार बाजार के नाम से पुरानी कारों की खरीद फरोख्त करता है। कुछ महीने पहले आरोपी ने उन्हें एक स्विफ्ट कार दो लाख 70 हजार रुपये में बेची दी। लेकिन कार उनके नाम ट्रांसफर नहीं की। वही कार उन्होंने ओएलएक्स पर बिक्री के लिए देखी दो ठगी की जानकारी हुई। लेकिन आरोपी से फोन पर संपर्क नहीं हो सका, जिसके बाद आरोपी के खिलाफ उन्होंने थाना सेक्टर-24 में केस दर्ज कराया।