हाथी पर योग कर कानूनी पचड़े में फंसे बाबा रामदेव, आगरा के वकीलों ने भेजा नोटिस



  • हाथी पर योग करने के मामले में योगगुरु रामदेव मुश्किल में

  • आगरा के पांच वकीलों ने लीगल नोटिस भेजकर मांगा जवाब

  • नोटिस में कहा- हाथी पर योग पशु क्रूरता कानून का उल्लंघन

  • रामदेव मथुरा के आश्रम में हाथी पर योग करते हुए नीचे गिरे थे


आगरा ब्यूरो। योगगुरु बाबा रामदेव यूं तो देश-दुनिया में योग विद्या की अलख जगाने के लिए मशहूर हैं लेकिन उनका एक योग विवादों में आ गया है। मथुरा के रमणरेती आश्रम में हाथी के ऊपर बैठकर योगासन ने बाबा को मुश्किल में डाल दिया है। बाबा रामदेव इस दौरान हाथी से गिर गए थे। अब आगरा के पांच वकीलों ने बाबा को नोटिस जारी किया है। रामदेव के साथ ही हाथी रेस्क्यू सेंटर के निदेशक को भी कानूनी नोटिस भेजा गया है। इस नोटिस का जवाब न देने पर वकीलों ने उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने की बात कही है। सोशल मीडिया पर वायरल योगगुरु बाबा रामदेव का 22 सेकेंड का वीडियो उनके लिए परेशानी का सबब बन रहा है। आगरा के अधिवक्ता नरेंद्र शर्मा, गगन शर्मा, राजवीर सिंह, एसपी भारद्वाज और राखी चौहान ने संयुक्त रूप से बाबा रामदेव और मथुरा के चुरमुरा स्थित हाथी रेस्क्यू सेंटर के निदेशक को नोटिस जारी किया है। नोटिस में पूछा गया है कि बाबा रामदेव के योग आसनों का लाखों लोग अनुसरण करते हैं। ऐसे में उन्होंने हाथी पर योग का प्रदर्शन कर पशु क्रूरता कानून का उल्लंघन किया है। इस मामले पर ध्यान न देने के लिए चुरमुरा स्थित हाथी रेस्क्यू सेंटर के निदेशक पर भी वकीलों ने सवाल खड़े किए हैं। अधिवक्ताओं का कहना है कि वन्य जीव संरक्षण अधिनियम के तहत स्पेशल कैटिगरी के जानवरों से कोई व्यावसायिक कार्य नहीं कराया जा सकता है। न ही कहीं पर उनका प्रदर्शन किया जा सकता है।वकीलों का कहना है कि रामदेव ने हाथी पर योग का प्रदर्शन कर समाज में पशु क्रूरता को बढ़ावा देने का संदेश दिया है। अधिवक्ताओं के मुताबिक इस पर योग गुरु के खिलाफ मुकदमा दर्ज हो सकता है और उन्हें सजा भी हो सकती है। बता दें कि बीते दिनों मथुरा के रमन रेवती आश्रम में बाबा रामदेव ने हाथी पर बैठकर योगासन किए। इसी दौरान वह हाथी से फिसलकर गिर गए थे। हालांकि उन्हें चोट नहीं आई थी लेकिन उनका 22 सेकेंड का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो गया था।