कर विभाग की वेबसाइट को हैक करके करोड़ों रुपए हजम करने वाला शातिर गिरफ्तार



  • अजमेर में हैक कर विभाग चूना लगाया

  • कर विभाग की वेबसाइट को हैक करके करोड़ों रुपए का चूना लगाने का मामला

  • वेबसाइट के हैक कर करोड़ों हजम करने वाला शातिर गिरफ्तार

  • अजमेर की सिविल लाइन थाना पुलिस का मामला आया सामने


अजमेर। जहां सीएम अशोक गहलोत ने बुधवार को कानून व्यवस्था की समीक्षा बैठक साइबर सेल को मजबूत बनाने का ऐलान किया। वहीं ऐलान के तुरंत बाद अजमेर पुलिस ने एक बड़े साइबर ठग को पकड़ने में सफलता हासिल की है। दरअसल यहां अजमेर की सिविल लाइन थाना पुलिस ने कर विभाग की वेबसाइट को हैक करके करोड़ों रुपए का रिफंड लेकर सरकार को चूना लगाने वाले शातिर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। अब आरोपी से फिलहाल पूछताछ की जा रही है। सिविल लाइन थाना अधिकारी अरविंद चारण ने बताया कि फरवरी 2018 में कर विभाग की सहायक आयुक्त शिल्पी शर्मा ने एक मुकदमा दर्ज करवाया था। इस दौरान रिपोर्ट में उन्होंने बताया कि हरमाड़ा रोड स्थित फर्म के जरिए नीरज सोनी ने विभाग की वेबसाइट को हैक करके गलत तरीके से रिफंड लेकर लगभग 10 लाख रुपए का गबन किया है। इस संबंध में पुलिस मामले की जांच कर रही थी। शातिर आरोपी 2 साल से फरार चल रहा था। पुलिस की टीम को जैसे ही मुखबिर से सूचना मिली तो जयपुर के मुरलीपुरा निवासी आरोपी नीरज सोनी को धर दबोचा गया। पुलिस शातिर से अब साइबर ठगी से जुड़ी सभी अहम जानकारियां जुटाने में लगी है। 
आईटी का इंजीनियर है शातिर ठग
थानाधिकारी चारण ने बताया कि आरोपी नीरज सोनी आईटी का इंजीनियर है। इसके चलते वह विभाग की साइट को हैक कर लेता था। इसके बाद किसी फर्म में रिफंड करवा कर उसका भुगतान उठा लेता व सरकार को चूना लगा देता। आरोपी नीरज सोनी के खिलाफ भरतपुर, अलवर, धौलपुर सहित राजस्थान के कई जिलों में मामले दर्ज है। अब तक सोनी करोड़ों रुपए हजम कर चुका है। आरोपी को न्यायालय में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा । साथ ही अजमेर कर विभाग के 10 लाख रुपए की धोखाधड़ी के संबंध में सख्ती से पूछताछ की जाएगी व रिकवरी का प्रयास किया जाएगा। गौरतलब है कि पूर्व में एक आरोपी को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है।