नामी कंपनियों के नाम से नकली घी बनाकर बेचने वाले दो गिरफ्तार


गाजियाबाद ब्यूरो। फूड सेफ्टी विभाग की टीम और कविनगर पुलिस ने संयुक्त रूप से कार्यवाही करते हुए एक सूचना पर छापेमारी कर नामी-गिरामी कंपनियों के नाम से नकली देसी घी बनाकर बेचने वाले दो लोगों को गिरफ्तार किया है। जबकि उनका 1 साथी भागने में सफल हो गया है। कविनगर कोतवाल नागेंद्र चौबे ने बताया कि फूड सेफ्टी विभाग की टीम को जानकारी मिली कि शास्त्री नगर में नामी-गिरामी कंपनियों के नाम से नकली देसी घी बनाकर मार्केट में सस्ते दामों में सप्लाई कर मोटा मुनाफा कमाया जा रहा है। यह सूचना टीम द्वारा पुलिस को दी गई। जानकारी मिलने पर पुलिस ने विभाग की टीम के साथ बताये हुए स्थान पर छापेमारी कर दी। छापेमारी के दौरान 3 लोग नकली देसी घी बनाते हुए मिले। इसमें से एक मोहित निवासी सोनीपत हरियाणा मौके से भाग निकला। जबकि श्याम लाल निवासी सोनीपत हरियाणा और संजय निवासी शास्त्री नगर थाना कवि नगर को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने मौके से साडे 4 कुंटल नकली देसी घी के अलावा 53 वनस्पति नेचर फ्रेश और 63 सोयाबीन रिफाइंड के अलावा पारस कंपनी मधुसूदन पतंजलि आनंदा वह दिव्यांश के नकली रैपर प्लास्टिक के डिब्बे व उपकरण बरामद किए गए। पुलिस ने बताया कि नकली देसी घी में खुशबू के लिए एक केमिकल डाला जाता था। जिससे नकली घी में देसी घी जैसे खुशबू आती थी। उन्होंने बताया कि नकली घी को मार्केट में सस्ते दामों में बेचा जा रहा था। इस सम्बन्ध में फूड सेफ्टी विभाग की तरफ से पकड़े गए लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। पुलिस ने बताया कि फरार आरोपी की तलाश की जा रही है। त्यौहारों को लेकर नकली घी बनाने वाले लोगों ने पूरी तैयारी कर रखी थी। जिसके चलते बड़ी मात्रा में नकली देसी घी बनाकर मार्केट में सप्लाई किया जाना था।