निकिता हत्याकांड के दो आरोपियों को अदालत ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा


फरीदाबाद। निकिता हत्याकांड के मुख्य आरोपी तौशीफ की दो दिन की रिमांड पूरी होने पर एसआईटी ने उसे अदालत में पेश किय। अदालत ने उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। वहीं बुधवार रात नूंह से गिरफ्तार किए गए आरोपी अजरुद्दीन को भी अदालत में पेश किया गया। उसे भी जेल भेजा गया है। अजरुद्दीन पर तौशीफ को देशी पिस्तौल उपलब्ध कराने का आरोप है। तौशीफ के साथी रेहान की रिमांड कल पूरी होगी। ऐसे में उसे कल अदालत में पेश किया जाएगा। करणी सेना के अध्यक्ष सूरज पाल अम्मू ने न्याय जल्द न मिलने पर दिल्ली-एनसीआर बंद की चेतावनी दी कर्णी सेना के अध्यक्ष सूरजपाल अम्मू का निकिता हत्याकांड में एक बयान सामने आया है। उन्होंने कहा है कि न्याय नहीं मिला तो खून के बदले खून से फैसला करेंगे। उन्होंने प्रेस वार्ता के दौरान तीन मांगें रखीं। उन्होंने कहा कि एक महीने में आरोपियों को सजा नहीं मिली तो दिल्ली-एनसीआर बंद कर देंगे।


निकिता हत्याकांड का तीसरा आरोपी गिरफ्तार
निकिता की हत्या में शामिल तीसरे आरोपी अजरू को भी पुलिस ने गिरफ्तार करने में कामयाबी पाई है। अजरू ने ही हत्या में प्रयुक्त देशी कट्टे को तौसीफ को मुहैया कराया था। अजरू को पकड़ने के लिए पुलिस ने दर्जनों जगह दबिश दी, जिसके बाद उसे नूंह जिले से गिरफ्तार किया गया। यह गिरफ्तारी फरीदाबाद क्राइम ब्रांच ने की है।


थम नहीं रहा आक्रोश, एसआईटी जांच शुरू
बल्लभगढ़ में अग्रवाल कॉलेज के बाहर निकिता की हत्या के तीसरे दिन भी लोगों में जबरदस्त आक्रोश दिखा। लोगों ने बुधवार को सोहना रोड पर जमाकर आरोपियों को जल्द फांसी देने की मांग की। उधर, इस संगीन हत्याकांड में प्रशासन ने स्पेशल इंवेस्टीगेशन टीम (एसआईटी) का गठन किया है। टीम अपना घर सोसाइटी जाकर निकिता के परिजनों से मिली। गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि सरकार ‘लव जिहाद’, जबरन धर्म परिवर्तन और अन्य दृष्टिकोण से जांच कराएगी। विज ने इस संबंध में अतिरिक्त मुख्य सचिव को बुधवार को निर्देश दिए।


एसआईटी जल्द ही जांच कर रिपोर्ट सौंपेगी : पुलिस आयुक्त
पुलिस आयुक्त ओपी सिंह ने बताया कि पीड़ित पक्ष के मुताबिक, आरोपी की मां ने निकिता पर धर्म परिवर्तन का दबाव बनाया था। इस हत्याकांड की बारीकी से जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया है। इस टीम में एसीपी क्राइम अनिल कुमार, डीएलएफ क्राइम ब्रांच प्रभारी अनिल कुमार, एएसआई कप्तान और हेड कांस्टेबल दिनेश, संजय कॉलोनी चौकी प्रभारी रामवीर सिंह को शामिल किया गया है। टीम जल्द ही जांच कर रिपोर्ट सौंपेगी।