ओएलएक्स को बना रखा था ठगी का प्लेटफॉर्म, जयपुर और भरतपुर के ऐसे गिरोह का हुआ भंडोफोड़



  • पुलिस ने ठग गिरोह का भंडाफोड़ कर गैंग के 15 बदमाशों को किया गिरफ्तार

  • सिम लेने वाले लोगों के कागजातों में काट- छांट कर जारी करते थे फर्जी सिम

  • इन मोबाइल सिम को ठग गिरोह को कराते थे उपलब्ध

  • ठग गिरोह फर्जी सिम के आधार पर 14 राज्यों में ओएलएक्स के जरिये करते थे ठगी


भरतपुर। प्रदेश में जहां इन दिनों लगातार साइबर क्राइम से जुड़ी खबरें सामने आ रही है। वहीं उसी बीच एक ऐसे गिरोह का पर्दाफाश हुआ है, जो फर्जी सिम और ओएलएक्स को प्लेटफॉर्म बनाकर लोगों को ठगी का शिकार बनाते थे। दरअसल भरतपुर के जिला पुलिस अधीक्षक डॉ अमनदीप सिंह कपूर के निर्देशन में चलाये जा रहे ठगों के खिलाफ अभियान के दौरान पुलिस ने ऐसी ही ठग गैंग का भंडाफोड़ किया है। गिरोह में भरतपुर और जयपुर से ऐसे 15 बदमाशों को गिरफ्तार किया है, जो सिम लेने वाले लोगों के कागजातों में कांटछांट कर उनसे फर्जी सिम के जरिए ठगी को अंजाम देते थे। जिला पुलिस अधीक्षक डॉ अमनदीप सिंह कपूर ने कहा कि गैंग के दो मुख्य सरगना रमेश स्वामी और विक्रम गुर्जर है जो जयपुर के निवासी हैं । यह लोग पहले वोडाफोन आइडिया और एयरटेल कंपनी में सिम रिटेलर रह चुके हैं । साथ ही ग्रामीण इलाकों में अलग-अलग जगह जाकर कैनोपी लगाकर सिम एक्टिवेट करने का काम करते थे। इसके बाद लोगों को सिम देकर उनसे प्राप्त कागजातों में जालसाजी करके उन कागजों के आधार पर फर्जी सिम जारी कर फ्रॉड गैंग को उपलब्ध कराते है। बताया जा रहा है कि गैंग के यह बदमाश गांव गांव जाकर कैनोपी लगाकर सिम जारी करते हैं । फिर सिम एक्टिवेट करवाने के नाम पर लिए गए कागजातों को काट छांट कर दूसरी फर्जी सिम जारी कर मेवात की ठग गैंग को बेच देते हैं।
ओएलएक्स के जरिए ग्राहकों को बनाते हैं शिकार
बताया जा रहा है कि ठग गैंग के बदमाश ओएलएक्स के जरिये ग्राहक को झांसे में डालकर विश्वास में लेते हैं। इसके बाद विज्ञापन के आधार पर किसी आर्मी कर्मचारी,अधिकारी की वर्दी के साथ फोटो व सैन्य ग्रुप के फोटो, हथियार सहित कैंटीन कार्ड,आर्मी के कर्मचारी का परिचय पत्र आदि डालकर चैट ऑप्शन के माध्यम से ग्राहकों को अपना वॉट्सएप नंबर देते हैं। इसी तरह आगे फिर वाहन सस्ते दामों में बेचने का झांसा देकर उनके साथ ठगी की वारदातों को अंजाम देते हैं । मिली जानकारी के अनुसार पुलिस ने गिरफ्तार बदमाशों के कब्जे से 111 फर्जी मोबाइल सिम, 27 मोबाइल, 11 पासबुक, 12 एटीएम कार्ड,2 चेक बुक, 5 मोटर साइकिल और 2 कार जब्त की हैं।