फिरोजाबाद में बीजेपी नेता की मौत पर हंगामा,नौकरी-मुआवजे की मांग, शव के साथ धरना



  • यूपी के फिरोजाबाज में बीजेपी नेता की हत्या पर हंगामा, परिजनों का धरना

  • बाइक सवार बदमाशों ने गोली मारकर की हत्या, अब तक 3 लोग गिरफ्तार

  • परिजनों ने नौकरी और मुआवजे की मांग को लेकर सड़क पर दिया धरना

  • बीजेपी सांसद चंद्रसेन जादौन और एसपी परिजनों को समझाने-बुझाने में जुटे


फिरोजाबाद। यूपी के फिरोजाबाद में बीजेपी नेता की हत्या के बाद परिजन अंतिम संस्कार के लिए राजी नहीं हैं। थाना नारखी क्षेत्र के नगला बीच निवासी 42 वर्षीय बीजेपी मंडल उपाध्यक्ष दयाशंकर गुप्ता उर्फ डीके की हत्या कर दी गई थी। वारदात उस वक्त हुई जब वह दुकान बंद कर रहे थे। अचानक आए बाइक सवार हमलावरों ने गोली मारकर उनकी जान ले ली थी। खून से लथपथ बीजेपी नेता को आनन-फानन में आगरा निजी अस्पताल में ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया था। बीजेपी नेता की मौत पर व्यापारियों ने इकट्ठा होकर जाम लगा दिया था। पुलिस अधिकारियों ने समझा-बुझाकर जाम खुलवाया था। शनिवार सुबह पोस्टमॉर्टम के बाद शव गांव पहुंच गया। जहां परिजनों ने शव सड़क पर रख लिया और आरोपियों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग करने लगे। परिजन एटा-टूंडला मार्ग पर जम गए। जिससे रोड ब्लॉक हो गई। पुलिस ने समझा-बुझाकर उन्हें सड़क से किनारे कर दिया। परिजन अभी भी शव रखकर बैठे हुए हैं। सांसद डॉक्टर चन्द्रसेन जादौन समेत एसपी सिटी अभी भी मौके पर जमे हुए हैं। बीजेपी नेता की हत्या प्रधानी के चुनाव की रंजिश में हुई है। इसकी जानकारी देते हुए मृतक के भाई अतुल गुप्ता ने बताया कि पिछले चुनाव में उनके भाई हार गए थे और इस बार वह प्रधानी के चुनाव की तैयारी कर रहे थे। वर्तमान प्रधान के परिजन उन्हें धमकी दे रहे थे। परिजनों ने स्कूल संचालक बीरेश तोमर समेत तीन लोगों के खिलाफ तहरीर दी थी। इस मामले को लेकर एसएसपी सचिन्द्र पटेल ने बताया कि परिजनों की तहरीर के आधार पर पुलिस ने स्कूल संचालक बीरेश तोमर समेत तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। मृतक की बहन का कहना है कि जिन लोगों ने मेरे भाई की हत्या की है, वे सभी आरोपी जेल की सलाखों के पीछे होने चाहिए। उनके बच्चों को न्याय मिले इसके लिए सरकारी नौकरी और मुआवजा मिलना चाहिए। जब तक उनकी मांग पूरी नहीं होगी, तब तक वह शव का अंतिम संस्कार नहीं होने देंगे।