टैटू आर्टिस्ट ने दी जान, दुकान के मालिक पर परेशान करने का आरोप


नई दिल्ली। साउथ एक्स पार्ट-1 में टैटू आर्टिस्ट ने स्यूसाइड कर लिया। वह कोटला मुबारकपुर में अपने परिवार के साथ रहते थे। पुलिस को उनके लैपटॉप में स्यूसाइड नोट मिला है। उसमें दो लोगों को उन्होंने अपनी मौत का जिम्मेदार ठहराया है। कोटला मुबारकपुर थाना पुलिस ने आत्महत्या के लिए उकसाने के तहत मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। खबर लिखे जाने तक किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया था। साउथ दिल्ली के डीसीपी अतुल ठाकुर ने बताया पुलिस को बुधवार तड़के एम्स ट्रॉमा सेंटर से सूचना मिली थी कि नरेश (35) नाम के एक शख्स का केस आया है। उनकी इलाज के दौरान मौत हो गई। उन्हें उनके तीन छोटे भाई गोपाल कृष्ण, कर्ण और मोहित लेकर आए थे। तीनों भाइयों ने बयान दिया है कि नरेश साउथ एक्स-1 में किराए की दुकान लेकर टैटू शॉप चलाते थे। दुकान का मालिक अनिल बैंसला है। उन्होंने अपने भाई की मौत का जिम्मेदार अनिल बैंसला को बताया है। पुलिस ने बताया कि नरेश के लैपटॉप में एक स्यूसाइड नोट मिला है। उसमें उन्होंने अनिल बैंसला को अपनी मौत का जिम्मेदार ठहराया है। डीसीपी ने बताया कि मामला दुकान के किराए को लेकर पैसों के लेन-देन से जुड़ा हुआ है। तमाम पहलुओं की जांच की जा रही है। मृतक के परिजनों ने बताया कि नरेश के परिवार में उनकी दादी, मां, पत्नी, एक साल की बेटी, साढ़े चार साल का बेटा और तीन छोटे भाई हैं। आरोप है कि पिछले कुछ समय से उनका दुकान मालिक उन्हें पैसों को लेकर परेशान कर रहा था। परिजनों ने बताया कि नरेश मंगलवार सुबह करीब 10:30 बजे कोटला मुबारकपुर स्थित अपने घर से दुकान गए थे। वहां काम करते-करते रात अधिक हो गई तो मां ने रात करीब 10:30 बजे फोन किया। नरेश ने कहा थ था कि काम थोड़ा अधिक है। देर लग जाएगी। इसके बाद मंगलवार देर रात 1:20 बजे अपार्टमेंट के केयर टेकर का फोन आया कि नरेश ने पंखे से लटककर आत्महत्या कर ली है। परिजन दुकान पहुंचे और नरेश को एम्स ले जाया गया, जहां उनकी मौत हो गई। परिजनों का आरोप है कि नरेश की मौत का जिम्मेदार अनिल बैंसला और एक अन्य शख्स है। वे लोग नरेश को तरह-तरह से परेशान कर रहे थे। परिजनों ने थाने के बाहर पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन भी किया। बाद में पुलिस अधिकारियों के समझाने पर वे चले गए।