मेरठ में नगर निगम टीम की पिटाई के बाद जांच करने गए दारोगा को दबंगों ने पीटा, फाड़ी वर्दी

मेरठ। यूपी के मेरठ से दबंगई दिखाने का एक नया मामला आया है। दबंगों ने जहां कुछ दिन पहले नगर निगम की टीम की पिटाई कर दी थी, वहीं, बुधवार को इस मामले में जांच करने पहुंचे दारोगा को दौड़ाते हुए उनके साथ भी हाथापाई कर दी। इसी के साथ आरोपियों ने दारोगा की वर्दी भी फाड़ डाली। जानकारी के बाद थाने के पुलिसकर्मियों में हड़कंप मच गया। आनन-फानन मौके पर पहुंची पुलिस ने तीन महिलाओं सहित पांच आरोपियों को गिरफ्तार करते हुए उनके खिलाफ संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। शास्त्रीनगर एल ब्लॉक निवासी लाल मलिक पर नगर निगम के हाउस टैक्स का एक लाख 66 हजार की रकम बकाया थी। बताया जाता है कि 11 नवंबर को नगर निगम के टैक्स इंस्पेक्टर योगेश चौहान, लिपिक सुरेश तोमर, मुंशी रणधीर सिंह और कर्मचारी परमात्मा शरण को साथ लेकर नोटिस रिसीव कराने के लिए लाल मलिक के घर पर पहुंचे थे। आरोप है कि इसी दौरान लाल मलिक और उसके परिवार के लोगों ने नगर निगम की टीम पर हमला बोल दिया। आरोपियों ने अधिकारियों और कर्मचारियों को सड़क पर दौड़ा-दौड़ा कर जमकर पीटा। जान बचाकर नौचंदी थाने पहुंचे नगर निगम के अधिकारियों ने इस मामले में आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। इसके बाद सभी आरोपी अपने घरों से फरार थे।
घटनास्थल पर जांच करने पहुंचे थे दारोगा
बुधवार की शाम शास्त्रीनगर एल ब्लॉक पुलिस चौकी के प्रभारी महेंद्र शर्मा इस मामले की जांच करने और घटनास्थल का नक्शा बनाने के लिए आरोपी लाल मलिक के घर के पास पहुंचे थे। जैसे ही दारोगा महेंद्र शर्मा ने आसपास के रहने वाले लोगों से घटना के विषय में पूछताछ शुरू की तो अपने घर में छिपे बैठे लाल मलिक और उसके परिवार के लोगों ने उन पर हमला बोल दिया। आरोपियों ने दारोगा के साथ हाथापाई करते हुए उनकी वर्दी फाड़ डाली। घटनास्थल पर अकेले पहुंचे दारोगा जान बचाकर भागे और मामले की जानकारी थाने पर दी।
जो हाथ लगा, उसी की जमकर ली खबर
दारोगा पर हमले की घटना से नाराज पुलिस ने आरोपी लाल मलिक के घर पर पहुंचकर जमकर गुस्सा निकाला। इस दौरान पुलिस ने लाल मलिक सहित कई को गिरफ्तार कर लिया। बताया जाता है कि पुलिस के सामने आरोपी के परिवार का जो भी सदस्य पड़ा, पुलिसकर्मियों ने उसकी जमकर खबर ली। वहीं, एसएसपी अजय साहनी ने बताया कि पुलिस ने इस मामले में आरोपी लाल मलिक और उसके परिवार के एक पुरुष और तीन महिलाओं सहित पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है। सभी आरोपियों के खिलाफ संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज करके उन्हें जेल भेजा जा रहा है।