लखनऊ के बंथरा में हुए जहरीली शराब कांड पर ऐक्‍शन, आधी रात को हटाए गए पुलिस कमिश्‍नर सुजीत पांडेय

  • उत्‍तर प्रदेश सरकार ने मंगलवार देर रात लखनऊ के पुलिस कमिश्‍नर सुजीत पांडेय को हटा दिया
  • उनकी जगह एटीएस के एडीजी डीके ठाकुर को लखनऊ का पुलिस कमिश्‍नर बनाया गया है
  • माना जा रहा है कि दिवाली से पहले ज‍हरीली शराब पीने से हुई 6 लोगों की मौत के बाद शासन ने यह फैसला लिया है

लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश सरकार ने मंगलवार देर रात लखनऊ के पुलिस कमिश्‍नर सुजीत पांडेय को हटा दिया। उनकी जगह एटीएस के एडीजी डीके ठाकुर को लखनऊ का पुलिस कमिश्‍नर बनाया गया है। इसके अलावा तीन और सीनियर आईपीएस अधिकारियों के तबादले किए गए हैं। माना जा रहा है कि दिवाली से पहले ज‍हरीली शराब पीने से हुई 6 लोगों की मौत के बाद शासन ने यह फैसला लिया है। लखनऊ के नए पुलिस कमिश्‍नर के रूप में डीके ठाकुर ने आधी रात को ही चार्ज भी ले लिया। बताया जा रहा है कि दिवाली से पहले लखनऊ के बंथरा में हुए जहरीली शराब कांड के चलते सुजीत पांडेय को हटाया गया है। इस शराब कांड में अब तक 6 लोगों की मौत हुई है और 7 लोग गंभीर रूप से बीमार हैं। लखनऊ के नए पुलिस कमिश्‍नर डीके ठाकुर 1994 बैच के आईपीएस अफसर हैं और लखनऊ के एसएसपी भी रह चुके हैं। उनके अलावा, केंद्रीय प्रतिनियुक्ति से लौटे जीके गोस्वामी को एटीएस का एडीजी बनाया गया है और राजकुमार को एडीजी कार्मिक बनाया गया है। सुजीत पांडेय को एडीजी (एटीसी) सीतापुर बनाया गया है।
13 नवंबर को पी थी शराब
13 नवंबर को बंथरा के रसूलपुर गांव निवासी सुंदरलाल (35), अच्छे और लतीफ नगर निवासी राजकुमार (32) ने गुरुवार देर शाम देशी शराब खरीदकर पी थी। इसके अलावा दो अन्य लोगों ने इसी शराब का सेवन किया था। देर रात इन पांचों की तबीयत खराब हो गई और इन्हें पास के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया। यहां इलाज के दौरान सुंदरलाल, अच्छे और राजकुमार की मौत हो गई। उन्होंने बताया कि दो अन्य में से एक को गंभीर हालत होने पर किंग जॉर्ज मेडिकल विश्वविद्यालय के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया। बाद में कुल मरने वालों की संख्‍या बढ़कर 6 हो गई।
मैजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए थे
इस मामले में डीएम अभिषेक प्रकाश ने मैजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए थे। मामले में एफआईआर दर्ज कर दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था। इसके अलावा उस दुकान को भी सील कर दिया गया है, जहां से शराब खरीदी गई थी।