देश की जनता सब देख रही है, कांग्रेस-शिवसेना को पत्रकारिता जगत पर किए गए कुठारघाट का जवाब देना ही होगा : आदेश गुप्ता


नई दिल्ली ब्यूरो। देश का चैथा स्तंभ कहे जाने वाले पत्रकारिता क्षेत्र से जुड़े प्रमुख पत्रकार पर अलोकतांत्रिक पार्टियों ने महाराष्ट्र की सरकार में रहते हुए हमला किया है। महाराष्ट्र में पत्रकार अर्णब गोस्वामी के साथ हुए व्यवहार की भत्र्सना करते हुए दिल्ली भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने प्रदेश कार्यालय में आयोजित प्रेस वार्ता को संबोधित किया। इस अवसर पर प्रदेश उपाध्यक्ष राजन तिवारी एवं प्रदेश मीडिया प्रमुख नवीन कुमार उपस्थित थे। दिल्ली भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि महाराष्ट्र की कांग्रेस शिवसेना की सरकार ने अपने तानाशाही रवैए से आपातकाल की याद दिला दी है। प्रमुख पत्रकार अर्णब गोस्वामी को चार साल पहले ही बंद हो चुके केस को जानबूझकर दोबारा से खोल कर गिरफ्तार किया गया है। ऐसा लग रहा है जैसे कांग्रेस अर्नब गोस्वामी से कोई बदला ले रही है इसलिए उनके साथ आतंकवादियों जैसा सलूक करना चाहती है। पुलिस वैन में ले जाते समय अर्णब गोस्वामी के साथ मारपीट और अमानवीय व्यवहार भी किया गया है। दिल्ली भाजपा कड़े शब्दों में इस कृत्य की निंदा करती है। सोनिया गांधी और राहुल गांधी के इशारे पर हुए इस कृत्य पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने मौन धारण क्यों किया हुआ है? आदेश गुप्ता ने कहा कि जिस तरीके से आज लोकतंत्र का गला घोंटा गया, पत्रकारों का अपमान किया गया, आपातकाल के समय में भी कुछ ऐसा ही हुआ था। जो कांग्रेस लोकतंत्र की दुहाई देती है, उसने स्वार्थवश असंवैधानिक तरीके से एक प्रमुख पत्रकार की मुखर आवाज को बंद करने की कोशिश की है। एक बार फिर से कांग्रेस का असली चरित्र लोगों के सामने है। कांग्रेस ने सिर्फ एक पत्रकार पर नहीं बल्कि पूरे पत्रकार समाज और पत्रकारिता पर कुठाराघात किया है और भारतीय जनता पार्टी इस कृत्य पर चुप नहीं बैठेगी। देश और समाज कांग्रेस-शिवसेना सरकार को कभी माफ नहीं करेगा।