गरीबों के दस्‍तावेज पर सिम कार्ड ले खेलते थे ऑनलाइन सट्टा, गैंग के 10 सदस्‍य अरेस्‍ट


सहारनपुर। सहारनपुर पुलिस ने गरीब लोगों के आवश्यक दस्‍तावेज पर सिम कार्ड इशू कराने के बाद पेटीएम अकाउंटस बना ऑनलाइन सट्टा खेलने वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ किया है। पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए आरोपियों में दो नेपाली नागरिक, एक महिला सहित 10 लोग शामिल हैं। आरोपियों के पास से सैकड़ों सिम कार्ड, लाखों की नकदी और दस्तावेज बरामद हुए हैं। पुलिस ने आरोपियों के करीब 1400 पेटीएम अकाउंटस को ब्लॉक करा खातों में जमा करीब 53 लाख रुपये की राशि को फ्रीज करा दिया है। एसएसपी ने पुलिस टीम को 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया है। रविवार को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ चन्नप्पा ने बताया कि नुमाइश कैंप स्थित एक मकान में करीब 8 से 10 लोगों के फर्जीवाड़ा करने की सूचना मिली। मौके पर पहुंची पुलिस ने इन लोगों को अरेस्‍ट कर लिया। गैंग में शामिल महिला मुमताज उर्फ छम्मकछल्लो जरूरतमंद लोगों को विभिन्न प्रकार की सरकारी योजनाओं का झांसा देकर उनके आधार कार्ड, पैन कार्ड, फोटो आदि से सिम कार्ड जारी करा लेती थी। इस काम के लिए महिला को प्रति सिम 1000 रुपये मिलते थे। गैंग उस सिम पर पेटीएम का केवाईसी अपडेट कर सिम अपने पास रख लेता था। इसके बाद सिम कार्ड को दिल्ली में रहने वाले गैंग के साथियों के पास भेज दिया जाता था।
करीब 5 लाख की नकदी भी बरामद
एसएसपी ने बताया कि 1 सिम कार्ड के हिसाब से आरोपियों को 5800 रुपये मिलते थे। यह गैंग कंप्यूटर की सहायता से नाम और आधार नंबर बदलकर फर्जी आधार कार्ड भी तैयार करता है। सिम कार्ड के आधार पर जारी हुए पेटीएम का इस्तेमाल मैच पर सट्टा लगाने सहित तमाम गलत कामों में किया जाता है। पकड़े गए आरोपियों के पास से एक कंप्यूटर, थम्ब स्कैनर, एक प्रिंटर, 24 मोबाइल फोन, 664 सिम कार्ड, दो रजिस्टर, सिम कार्ड धारकों का डाटा, 4 लाख 50 हजार की नकदी, 19 आधार कार्ड, 16 आधार कार्ड की छाया प्रतियां, चार पेटीएम डिवाइस, 20 बार कोड, एक मोहर और तीन बैग बरामद हुए हैं।