स्टंटमैन यू-ट्यूबर बना हत्यारा, प्यार में अड़ंगा डालने पर प्रेमिका के भाई को मारी थी गोली



  • कमल नाम के एक युवक की गोली मारकर की गई थी हत्या

  • हत्या के बाद उसके घरवालों ने शव रखकर लगाया था जाम

  • केंद्रीय मंत्री और सांसद के पहुंचने पर शांत हुआ था मामला

  • यूपी पुलिस ने केस को सॉल्व करने के लिए बनाई थीं चार टीमें

  • स्टंटमैन यूट्यूबर हुआ गिरफ्तार, प्रेम में अड़ंगा डालने पर की थी हत्या


नोएडा। उत्तर प्रदेश के नोएडा में सेक्टर-32 के पास बीते बुधवार की देर रात कमल शर्मा नाम के युवक की हत्या हुई थी। सेक्टर-24 थाना पुलिस ने इस सिलसिले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। अपर पुलिस आयुक्त लव कुमार ने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों में एक चर्चित यू-ट्यूबर तथा बाइक स्टंट करने वाला भी शामिल है। उन्होंने कहा कि यह हत्या प्रेम-प्रसंग में बाधा बनने की वजह से हुई थी। कुमार ने बताया कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में यह बात सामने आई कि निठारी गांव के रहने वाले कमल की गोली मारकर हत्या की गई थी। इस मामले में मृतक के चाचा की शिकायत पर थाना सेक्टर-24 में अज्ञात बदमाशों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज हुआ था। उन्होंने बताया कि सोमवार दोपहर को पुलिस ने इस घटना में शामिल निजामुल खान, सुमित शर्मा तथा अमित गुप्ता को गिरफ्तार किया है। उन्होंने बताया कि इनके पास से पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त हथियार भी बरामद कर लिया है।
कमल की बहन से था प्रेम संबंध
अपर आयुक्त ने बताया कि पूछताछ के दौरान पुलिस को पता चला है कि निजामुल एक चर्चित यू-ट्यूबर है। उन्होंने बताया कि पकड़े गए आरोपियों में से एक का कमल की बहन से प्रेम संबंध था। कमल इस बात का विरोध कर रहा था। जिसकी वजह से उसकी हत्या की गई थी। इस्कॉन मंदिर के पास बुधवार देर रात अज्ञात बदमाशों ने निठारी गांव के रहने वाले एक युवक की गोली मार कर हत्या कर दी। राहगीर उन्हें नोएडा के जिला अस्पताल ले गए,जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में यह बात सामने आई कि कमल शर्मा की मौत गोली लगने से हुई थी। डीसीपी ने बताया कि उनके फोन कॉल के आधार पर पुलिस ने कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की। हत्या से आक्रोशित निठारी गांव के लोगों ने शव को चौराहे पर रखकर सड़क जाम कर दिया था। परिजनों के विरोध की सूचना पाकर पूर्व केंद्रीय मंत्री तथा क्षेत्रीय सांसद डॉ महेश शर्मा, और अपर आयुक्त कानून व्यवस्था लव कुमार मौके पर पहुंचे थे। दोनों के समझाने- बुझाने के बाद मृतक के परिजनों ने अपना प्रदर्शन समाप्त किया था। पुलिस ने इस घटना के खुलासे के लिए चार टीमें बनाई थीं।