दिल्ली पुलिस के हाथ आया 'परांठा', 11 गाड़ियां बरामद


नई दिल्ली डेस्क। उत्तरी जिले के स्पेशल स्टाफ को करीब तीन महीने के बाद 'परांठा' हाथ लगा है। साथ ही लगे हाथ 11 बाइक भी बरामद की हैं। परांठा नाम है शातिर बदमाश का। जिसे तीन महीने पहले अक्टूबर महीने में जेल से रिलीज किया गया था। लेकिन पांच मिनट के अंदर कैसी भी बाइक को चोरी करने का हुनर रखने वाले परांठा ने तीन महीने में 40 से अधिक स्कूटर-बाइक दिल्ली से पार कर दिए। आरोपी चोरी की बाइक महज पांच हजार रुपये में मेरठ के स्क्रैप डीलर को बेच देता था। यह स्क्रैप डीलर यूपी पुलिस के लिए वांटेड है। डीसीपी नार्थ डिस्ट्रिक एंटो अल्फोंस के मुताबिक, वैसे तो आरोपी का नाम रिजवान उर्फ परांठा है। लेकिन उसे परांठा के तौर पर ही गैंग में पहचान है। दरअसल, सात दिसम्बर को जवाहर नगर कमला नगर में बाइक चोरी की एक घटना हुई। इस मामले में अनिल कुमार नाम के एक शख्स ने रुप नगर थाने में ऑनलाइन शिकायत दर्ज कराई। केस की जांच कर रही स्पेशल स्टाफ को इस वारदात में रिजवान का हाथ होने का पता चला था, जिसके बाद बाडा हिंदू राव अस्पताल के नजदीक से पकड़ा गया। उसकी बाइक पर फर्जी नंबर प्लेट लगी हुई थी। इसके बाद उसकी निशानदेही पर दस अन्य गाड़ियां और जब्त कर लीं। आरोपी ने बताया उसे ड्रग्स लेने की लत है। बीते दो साल से वह चोरी की वारदात कर रहा है। चोरी के वाहन वह मेरठ के स्क्रैप डीलर मानू को पांच हजार में दे देता था।