सॉल्वर गैंग के 12 सदस्य गिरफ्तार, दिल्ली पुलिस कॉन्स्टेबल की परीक्षा में धांधली का आरोप


गोरखपुर। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एसटीएफ ने अंतरराज्यीय सॉल्वर गैंग का भंडाफोड़ किया है। एसटीएफ गोरखपुर की टीम ने प्रतियोगी परीक्षाओं में बड़े स्तर पर धांधली करने वाले अंतरराज्यीय सॉल्वर गैंग के मुख्य सरगना समेत 12 सदस्य को पैडलेगंज से गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपियों के पास से डायरी, फोन, प्रवेश पत्र आदि बरामद किया गया है। इन सभी पर कर्मचारी चयन आयोग मध्य क्षेत्र की ओर से आयोजित दिल्ली पुलिस में कॉन्सटेबल की परीक्षा में धांधली करने का आरोप है। गिरफ्तारी की टीम ने इन सबके खिलाफ कैंट थाने में मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस के मुताबिक एसटीएफ जे महानिदेशक अमिताभ यश को सूचना मिली थी की उत्तर प्रदेश में एक बड़े पैमाने पर प्रतियोगी परीक्षाओं का सॉल्वर गैंग सक्रिय हैं, जो परीक्षा सेंटर पर धांधली का काम करता है। इस मामले में आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए अधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी गई थी। इसके बाद एसटीएफ के अधिकारियों ने सॉल्वर गैंग की गिरफ्तारी के लिए जाल बिछाना शुरू कर दिया था।
सरगना समेत 12 सदस्यों को दबोचा
इसी बीच एसटीएफ के सीओ धर्मेश कुमार शाही और उनकी टीम को सूचना मिली की कर्मचारी चयन आयोग मध्य क्षेत्र की ओर से आयोजित दिल्ली पुलिस में कॉन्सटेबल की परीक्षा में धांधली करने वाले गिरोह का मुख्य सरगना महेंद्र सिंह गोरखपुर के पैडलेगंज पहुंचा है। सूचना के बाद पुलिस ने मुख्य सरगना महेंद्र सिंह समेत गिरोह के 12 सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया है।
आरोपियों के पास मिले धांधली में प्रयुक्त सामग्री
गिरफ्तार आरोपियों के पास से परीक्षा सेंटर पर धांधली में प्रयुक्त फोन, डायरी, कई परीक्षार्थियों के प्रवेश पत्र, आधार कार्ड आदि बरामद किए गए हैं। उधर, गिरफ्तार की एसटीएफ की टीम ने सॉल्वर के सरगना समेत 12 के खिलाफ कैंट थाने में केस दर्ज कराया है।
गिरफ्तार हुए आरोपी
एसटीएफ ने जिन सॉल्वरों को पकड़ा है, उसमें महेंद्र सिंह, विकास सिंह, अभिषेक कुमार यादव, अमित सिंह, धनन्जय कुमार, अरविन्द सिंह, अशोक कुमार मौर्या, बिजेंद्र यादव, जय प्रकाश यादव, महेंद्र यादव, पिंटू यादव, रामाशीष मिश्रा, महेंद्र प्रताप यादव शामिल हैं।