2.19 करोड़ की विदेशी करंसी के साथ पकड़ा गया कोरियाई यात्री


नई दिल्ली डेस्क। साउथ कोरिया की राजधानी सियोल जा रहे एक विदेशी नागरिक को आईजीआई एयरपोर्ट के टी-3 पर दो करोड़ रुपये से अधिक की विदेशी करंसी के साथ पकड़ा गया है। शुरुआत में उसके पास करीब 33 लाख रुपये की विदेशी करंसी बरामद हुई थी। बाद में जांच में 1.86 करोड़ की और विदेशी करंसी ढूंढ निकाली गई। सीआईएसएफ और कस्टम की संयुक्त कार्रवाई में उसके पास कुल 2.19 करोड़ की विदेशी करंसी जब्त की गई।सीआईएसएफ अधिकारियों ने बताया कि पकड़ा गया विदेशी यात्री साउथ कोरिया का नागरिक है। ली वो नाम का आरोपी यात्री करीब 60 साल का है। वह एक एमएनसी में काम करता है। कस्टम अधिकारियों का कहना है कि यह करंसी टेलिफोन डायरेक्टरी और बैग में छिपाई गई थी। एक ही आदमी के पास इतनी बड़ी मात्रा में अमेरिकी डॉलर मिलने से कस्टम अधिकारी हैरान हैं। आमतौर पर विदेशी करंसी ले जाने वाले मामले दुबई, हॉन्गकॉन्ग और बैंकॉक जैसे रूट पर ही सामने आते रहे हैं। कस्टम अधिकारियों का कहना है कि मामले में जल्द और भी कुछ लोगों की गिरफ्तारियां हो सकती हैं। यह एक बड़ा सिंडिकेट लग रहा है। आरोपी विदेशी नागरिक न तो हिंदी जानते थे और न ही इंग्लिश। उनसे पूछताछ करने के लिए कस्टम अधिकारियों को एक दुभाषिए का इंतजाम करना पड़ा। पैसा हवाला का था या कुछ और इन तमाम बातों की जांच की जा रही है। इसी तरह से एक अन्य मामले में टी-3 से शारजाह जा रहे एक भारतीय यात्री को 19.49 लाख रुपये के अमेरिकी डॉलर के साथ पकड़ा गया है। इससे पहले भी आरोपी यात्री करीब 7 लाख रुपये की कीमत की विदेशी करंसी ले जा चुका था। इसकी भी जांच की जा रही है।