दिल्ली में हेराइन बेचने वाली एक महिला समेत दो गिरफ्तार, 30 लाख से ज्यादा की हेरोइन बरामद


नई दिल्ली डेस्क। राजधानी में हेराइन बेचने वाली एक महिला समेत दो लोगों को क्राइम ब्रांच की नारकोटिक्स सेल ने पकड़ा है। इनसे 30 लाख से ज्यादा कीमत की 200 ग्राम हेरोइन और 2 लाख 20 हजार रुपये कैश बरामद किया है। इनकी शिनाख्त मोती नगर की रहने वाली परवीन (40) और पुरानी दिल्ली के तुर्कमान गेट के रहने वाले गुलबाबू उर्फ पप्पू (33) के तौर पर हुई है। गुलबाबू परवीन को हेरोइन सप्लाई करता था, जो मोती नगर और उसके आसपास के एरिया में बेचती थी। डीसीपी (क्राइम) राकेश पावेरिया ने बताया कि नारकोटिक्स सेल में तैनात एसआई अरविंद को पुरानी दिल्ली इलाके में रहने पप्पू के मोती नगर के रामा रोड इलाके में हेरोइन सप्लाई करने की जानकारी मिली। एसीपी संजीव कुमार की देखरेख में इंस्पेक्टर राम मनोहर, एसआई अरविंदर, एएसआई सुधीर, इस्माइल, एचसी रवींद्र मलिक, रवींद्र खोखर और सिपाही राजेश और जनिता की टीम बनाई गई। पप्पू जब मोती नगर के राम रोड पर परवीन से पैसे लेकर उसे हेरोइन दे रहा था तो पुलिस टीम ने दोनों को पकड़ लिया। परवीन से 150 ग्राम हेरोइन, जबकि पप्पू से 50 ग्राम हेरोइन और 2 लाख 20 हजार रुपये बरामद किए गए। पुलिस का दावा है कि पकड़ी गई हेरोइन की कीमत इंटरनैशनल मार्केट में 30 लाख रुपये से ज्यादा है। दोनों आरोपियों को एनडीपीएस का मुकदमा दर्ज कर अरेस्ट लिया गया। परवीन ने पुलिस पूछताछ में बताया कि वह गरीब परिवार से ताल्लुक रखती है। मूलरूप से कोलकाता की रहने वाली है, लेकिन बचपन से ही दिल्ली में रह रही है। वह शादीशुदा है और उसके सात बच्चे हैं। पति शराबी है और परिवार का गुजारा चलाने के लिए वह पहले अवैध शराब बेचने का धंधा करती थी। लेकिन पुरानी दिल्ली के अस्पताल में एक साल पहले वह पप्पू के संपर्क में आई तो ज्यादा मुनाफा होने से हेरोइन बेचने का काम करने लगी। गुलबाबू मूल रूप से बिहार का रहने वाला है और एक साल पहले रोजी-रोटी के लिए दिल्ली आया था। शुरुआत में मजदूरी करता था, लेकिन एक शख्स ने उसे हेरोइन सप्लाई में काफी कमाई होने का लालच दिया तो वह इस धंधे से जुड़ गया। वह पत्नी और चार बच्चों के साथ तुर्कमान गेट इलाके में किराए पर रह रहा था। दोनों ही आरोपी अनपढ़ हैं।