एचएसआरपी नंबर प्लेट बुकिंग का पोर्टल हैक, 5 घंटे रही परेशानी


  • कंपनी ने दिल्ली पुलिस की साइबर क्राइम सेल में की शिकायत
  • www.bookmyhsrp.com वेबसाइट सुबह 10:50 पर हैक
  • शाम 4:05 बजे तक नहीं हो सकी HSRP, कलर स्टिकर की बुकिंग
  • वेबसाइट चलाने वाली कंपनी ने कहा, साइबर हैकिंग के हुए शिकार
  • कंपनी का दावा, वेबसाइड के यूजर डेटा बेस तक नहीं पहुंच सके हैकर
नई दिल्ली ब्यूरो। गाड़ियों में हाई सिक्युरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट और कलर कोडेड स्टीकर के लिए अप्लाई करने वालों को बुधवार को बहुत परेशानी हुई। कई घंटों तक बुकिंग नहीं हो पाई। दरअसल वेबसाइट www.bookmyhsrp.com पर HSRP और स्टिकर के लिए अप्लाई किया जाता है। इसे बुधवार सुबह करीब 10:50 बजे हैक कर लिया गया। तकरीबन पांच घंटे तक इस पर कोई बुकिंग नहीं हो सकी। शाम 4:05 बजे के बाद ही वेबसाइट पर फिर से बुकिंग शुरू हो सकी। इस हाई सिक्युरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट के लिए वेबसाइट चलाने वाली कंपनी रोजमर्टा की ओर दिल्ली पुलिस के साइबर क्राइम सेल और स्पेशल सेल (द्वारका) को शिकायत दर्ज करवाई गई है। मामले में FIR दर्ज करने और मामले की गहराई से जांच की अपील की गई है। कंपनी ने कहा कि वेबसाइट को हैक कर अवैध तरीके से उसे एक्सेस किया गया है। वेबसाइट का डोमेन ब्लॉक किया गया, जिससे बुकिंग नहीं हो सकी। हालांकि कंपनी का दावा है कि हैकर वेबसाइट के डेटा बेस तक नहीं पहुंच सके और सारा डेटा सेफ है। कंपनी ने कहा कि 4 बजे के बाद वेबसाइट ने काम करना शुरू कर दिया और तेजी से बुकिंग हो रही है।
परिवहन विभाग के ऐक्शन के बाद हाई सिक्युरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट की बुकिंग तेज
दिल्ली के परिवहन विभाग ने कहा कि पहले HSRP और कलर कोडेड स्टिकर के लिए रोज ढाई हजार बुकिंग होती थीं। मंगलवार को 32 हजार बुकिंग हुईं। बुधवार को भी शाम तक 30 हजार से ज्यादा बुकिंग हो चुकी थीं। कंपनी के प्रवक्ता का कहना है कि ज्यादा बुकिंग से कोई परेशानी नहीं होगी। रोजाना दो लाख से ज्यादा बुकिंग हों तो भी कोई दिक्कत नहीं होगी। परिवहन विभाग ने HSRP और कलर कोडेड स्टिकर के बिना चलने वाली गाड़ियों के खिलाफ अभियान तेज कर दिया है। यह ऐक्शन मंगलवार से शुरू हुआ था। बिना HSRP और स्टिकर के 5500 रुपये का चालान किया जा रहा है। अगर कोई बुकिंग की रसीद दिखाता है तो फिर चालान नहीं होगा। इसके बाद से ही वेबसाइट पर नंबर प्लेट और स्टिकर के लिए बुकिंग करने वालों की संख्या तेजी से बढ़ रही है।
दूसरी स्टेट की गाड़ी का भी कट सकता है चालान
परिवहन विभाग के एक सीनियर अधिकारी का कहना है कि दिल्ली में दूसरे स्टेट की गाड़ी का भी चालान किया जा सकता है। उनका कहना है कि एचएसआरपी का आदेश सभी गाड़ियों के लिए है और दूसरे स्टेट की गाड़ी भी अगर बिना एचएसआरपी के चल रही है तो चालान किया जा सकता है। अभी परिवहन विभाग केवल चार पहिये वाली गाड़ियों का की चालान कर रहा है। रोजमर्टा कंपनी के प्रवक्ता का कहना है कि यूपी के लोग वेबसाइट पर अप्लाई करके दिल्ली में भी डीलर चुन सकते हैं। नोएडा, गाजियाबाद के लोग दिल्ली आकर नंबर प्लेट लगवा सकते हैं। यूपी के लोग दिल्ली आकर नंबर प्लेट लगवा सकते हैं। उनका कहना है कि अभी यूपी के लिए यह व्यवस्था की गई है और जल्द ही हिमाचल प्रदेश के लोगों के लिए भी यह व्यवस्था कर दी जाएगी। उसके बाद उत्तराखंड के लिए भी यह कोशिश की जा रही है। यानी दिल्ली व दूसरे राज्यों के लोग एक- दूसरे राज्यों में नंबर प्लेट लगवा सकेंगे।
किए जा रहे हैं 200 से 300 तक चालान
विभाग के एक सीनियर अधिकारी का कहना है कि एचएसआरपी और स्टीकर को लेकर एक तरह से यह जागरूकता अभियान चलाया गया है और अभी फुल स्केल पर अभियान शुरू नहीं किया गया है। उनका कहना है कि विभाग रोजाना 2000 तक चालान कर सकता है लेकिन अभी बहुत कम चालान किए जा रहे हैं। दरअसल विभाग चाहता है कि लोग एचएसआरपी और स्टीकर को लेकर सुप्रीम कोर्ट के आदेश का पालन करें और नंबर प्लेट के लिए अप्लाई करें। अगर किसी ने अप्लाई किया है और वह रसीद दिखाता है तो चालान नहीं कटेगा। बीते मंगलवार को 239 चालान किए गए थे और बुधवार को 320 चालान किए गए हैं। दो दिन में 559 चालान किए गए हैं।